करोड़ों रुपए लेकर भागी चिट फंड कंपनी, थाने ने नहीं दर्ज की रिपोर्ट

Published by Published: May 25, 2016 | 7:51 pm
Modified: May 25, 2016 | 7:59 pm

गोरखपुर: फिर एक चिट फंड कंपनी निवेशकों का पैसा लेकर फरार हो गई। रियल इंडिया नेट मार्ट नेटवर्किंग कंपनी के नाम से संचालित इस कंपनी ने ग्रामीणों को झांसा देकर लाखों का घोटाला किया है।
कंपनी ने गोरखपुर जिले के दक्षिणांचल में महिलाओं का समूह बना कर उनसे पैसे ठग लिए। महिलाएं अब अधिकारियों के पास चक्कर काट रही हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

पहले बांटे पैसे
-कंपनी ने ग्रामीण महिलाओं के समूह बना कर पहले उन्हें से कारोबार के लिए पैसे दिए।
-लोगों को एक साल में 10,000 रुपए के 12,000 रुपए देने थे।
-पैसों के लालच में बहुत सी महिलाएं समूह से जुड़ गईं।
-ये कंपनी बड़हलगंज थाना क्षेत्र के श्रवण कुमार, डॉ. ए. एन चौबे और जमील ने बनाई थी।

chit fund-police refuse-invest crores
महिला समूहों के करोड़ों रुपए लेकर फरार हुई कंपनी

फिर कराया निवेश
-कंपनी ने रजिस्ट्रेशन के नाम पर हर महिला से 500 रुपए जमा करवा लिए।
-भरोसा हो जाने पर कंपनी ने लोगों से समूह बना कर निवेश करने को कहा।
-कंपनी ने जमा धन पर 2 प्रतिशत ब्याज देने को कहा।
-महिलाओं ने 10 से लेकर 50 लोगों तक के समूह बना लिए।

करोड़ों कराए जमा
-किसी ने 10 का समूह बनाया तो किसी ने 50 का समूह बनाया।
-करीब 2500 महिलाओं ने छोटे छोटे निवेश से करोड़ों रुपए जमा किए।
-कंपनी ने कुछ महिलाओं को मामूली कमीशन भी दिया।
-लेकिन पिछले 4-5 महीने में कंपनी ने किसी समूह या महिला से संपर्क नहीं किया।

police refuse-company escaped-chit fund
थाने ने नहीं लिखी रिपोर्ट तो डीएम के पास पहुंचीं महिलाएं

पुलिस ने नहीं ली रिपोर्ट
-शक होने पर महिलाओं ने कंपनी से संपर्क किया, तो उन्हें कमीशन और ब्याज के चेक दे दिेए गए।
-बैंक पहुंचने पर पता चला कि ये चेक फर्जी हैं और इस नाम से कोई अकाउंट नहीं है।
-60 महिलाओं का समूह चलाने वाली नसीम बानो ने बताया कि वो शिकायत के लिए बड़हलगंज थाने गई थीं, लेकिन भगा दिया गया।
-इसके बाद ठगी गई महिलाएं डीएम से मिलने पहुंची और लिखित शिकायत की।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App