×

Jhansi News: लेखराज सिंह यादव को छुड़ाने के आरोप में SP पूर्व MLA को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Jhansi News Today: कुख्यात अपराधी लेखराज सिंह यादव को छुड़ाने के आरोप में सपा के पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

B.K Kushwaha
Updated on: 26 Sep 2022 4:59 PM GMT
Jhansi News In Hindi
X

SP पूर्व MLA दीपनारायण सिंह यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Jhansi News: कुख्यात अपराधी लेखराज सिंह यादव को छुड़ाने के आरोप में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (SP Chief Akhilesh Yadav) के खासमखास गरौठा से सपा के पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लेखराज के मामले पर सक्रिय हुई पुलिस ने देररात उनके आवास पर छापा मारकर बेटा मून यादव को उठा लिया था। इसको लेकर परिजनों में भय व्याप्त हो गया था। सोमवार को दीपनारायण सिंह यादव खुद डीआईजी कार्यालय पहुंचकर गिरफ्तारी दे दी। इस गिरफ्तारी से नेताओं के खेमों में खलबली मच गई है। उधर, पुलिस ने पूर्व विधायक के पुत्र मून यादव को छोड़ दिया है।

मालूम हो कि 16 सितंबर को लेखराज सिंह यादव को कन्नौज से झाँसी अदालत में पेशी पर लाया गया था। वापस लाते समय लेखराज सिंह यादव को मोंठ और झाँसी के पास छुड़ाने का प्रयास किया था। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था।

अब तक 12 लोग हो चुके हैं गिरफ्तार

दीपनारायण के साले बृजेंद्र यादव, बृजेंद्र के साले अनिल यादव उर्फ मम्मा, सतपुरा के अमित कुमार, टिकरी के जवाहरलाल यादव, सियानीपुर निवासी सुरेंद्र, सरोल के रहीश यादव, कोलबा के ऋतुराज, मलखान शिवहरे, धीरेंद्र पाल, मुकेश कुमार समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

पूर्व विधायक को थाने के लॉकअप में डाला

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव को नवाबाद थाने ले गई। उनको थाने के लॉकअप में डाल दिया गया। वहां पर काफी संख्या में समर्थक भी पहुंच गए। इसके बाद भारी पुलिस बल मौके पर बुला लिया गया।

पुलिस के सामने लगे सपाइयों ने जिंदाबाद के नारे

जैसे ही सपा के पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव की गिरफ्तारी की जानकारी हुई तो सपा के कार्यकर्ता इकट्ठा हो गए। दीपनारायण को जैसे ही थाना नवाबाद से अदालत की ओर ले जाया जा रहा था, तभी सपाइयों ने पुलिस के सामने ही जिंदाबाद के नारे लगाए, लेकिन वहां मौजूद पुलिस के अफसर मूकदर्शक बने देखते रहे।

मांगलिक कार्यक्रम में नहीं हो सकेंगे शामिल

पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव सोमवार को जेल भेज गए। इनके करीबी के यहां 3 अक्तूबर को मांगलिक कार्यक्रम होने जा रहा है। यह कार्यक्रम भी महत्वपूर्ण हैं, लेकिन वह एेसे कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकेंगे।

इसलिए पूर्व विधायक को किया है गिरफ्तार: डीआईजी

डीआईजी जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि पेशी पर आए हिस्ट्रीशीटर लेखराज को पुलिस अभिरक्षा से छुड़ाने की साजिश में गरौठा के पूर्व विधायक का भी हाथ है। दीपनारायण पर 40 से अधिक मुकदमे दर्ज है। इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद उन्हें जेल भेजा गया।

डीआईजी जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि पिछले दिनों झाँसी न्यायालय में कन्नौज जेल से पुलिस अभिरक्षा में एक शातिर अपराधी लेखराज सिंह यादव को पेशी पर लाया गया था। इस पर विभिन्न थानों में 47 मुकदमे दर्ज हैं। यह कचहरी परिसर में आया, जहां 60-70 लोग ने पुलिस को घेर लिया और वहां पर उसे छुड़ाने की कोशिश की। इसके बाद पेशी से जब वापस जा रहा था तो रास्ते में एक गाड़ी यूपी 93 बीआर 1100 नम्बर सफेद रंग की स्कार्पियो कार में बैठे लोगों ने पुलिस की गाड़ी को रोकने का प्रयास किया। कई बार इस गाड़ी को आगे-पीछे किया, साथ ही लेखराज को छुड़ाने का प्रयास किया। इस सम्बंध में अब तक झाँसी पुलिस अब तक 11 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

दीपनारायण सिंह यादव को किया आज गिरफ्तार

इस प्रकरण की साजिश में शामिल दीपनारायण सिंह यादव को आज गिरफ्तार किया गया है। इनका भी लम्बा अपराधिक इतिहास है। इस घटना में प्रयोग की गई गाड़ीयूपी 93 बीआर 1100 अनिल यादव की है। यह भी गिरफ्तार हो चुका है। अनिल यादव दीपनारायण के साले का साला है। इसने पुलिस की गाड़ी का पीछा किया और मौके पर रहकर इस घटना को कारित किया। इसमें जितने भी अभियुक्त हैं सभी को जेल भेजा जायेगा और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। विभिन्न थानों में सालों से 40 से ऊपर मुकदमे दर्ज हैं। इसमें पुलिस को आई बिटनिस मिले हैं। इसके अलावा अन्य कई साक्ष्य हैं।

मेरा लेखराज से कोई लेना-देना नहींः दीपनारायण यादव

गिरफ्तार हुए समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक गरौठा दीपनारायण सिंह यादव ने पत्रकारों को बताया कि उन्हें षड़यंत्र के तहत फंसाया जा रहा है। उनका लेखराज से कोई लेना देना नहीं हैं। यह सब गरौठा विधायक जवाहर सिंह के शह पर हो रहा है।

उन्होंने कहा मैं तो आप से कहता हूं कि कम से कम आप तो न्याय कर लो। मैने जवाहर से पहले भी कहा है कि ऐसा अन्याय मत कराओ। मेरा कोई भी लेना-देना नहीं लेखराज की घटना से। षड़यंत्र करके उन्हें फंसाया गया है। जवाहर बिना कारण इस घटना को बढ़ा-चढ़ाकर उनसे जोड़े हुए हैं। मेरे 10 सालों से उस आदमी से कोई भी रिश्ता नहीं है। वह आदमी चुनाव में मेरी पत्नी के खिलाफ था। कई बार वह तारीख पर आ चुका है कभी किसी ने उन्हें उससे मिलते या बात करते हुए देखा क्या। सीसीटीवी कैमरे, वीडियो कॉलिंग की भी जांच करवाई जाए। झूठी घटना बनाकर उन्हें फंसाया जा रहा है। आज उन्हें परिवार के किसी भी सदस्य मिलने नहीं दिया गया। उन्हें केवल घुमाते रहे।

2008 में दीपनारायण को गिरफ्तार कर भेजा गया था जेल

मालूम हो कि 2007 में बसपा की सरकार बनी थी। उसी सरकार में दीपनारायण यादव पहले बार गरौठा से विधायक बने थे। जनवरी 2008 में बसपा सरकार के खिलाफ कलेक्ट्रेट परिसर में जेल भरो आंदोलन को लेकर धरना दिया था। तभी पुलिस ने लाठी चार्ज किया था और दीप नारायण आदि को पकड़ लिया था। इसके बाद उनको जेल भेजा गया था। इस मामले में जमानत होने के बाद अब तक जेल नहीं भेजे गए थे। 14 साल बीत जाने के बाद वह फिर से जेल भेजे गए।

राजनीति दबाव बनाने के मकसद से की गई है कार्रवाई

पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव की पत्नी मीरा यादव ने आरोप लगाया है कि नगर पंचायत के चुनाव से पहले राजनीति दबाव बनाने के मकसद से यह कार्रवाई की गई है। उनका कहना है कि बीती रात पुलिस फोर्स उनके घर पहुंची और बिना कोई वारंट आदि दिखाए घर में घुस गई। तलाशी ली, पहले दीपक बारे में पूछा, लेकिन दीपक के न मिलने पर उसके बेटे को जबरन अपने साथ ले गई। पुलिस ने कॉलोनी में मौजूद सिक्योरिटी गार्ड की लाइसेंसी बंदूक और मोबाइल फोन भी छीन लिया। मीरा ने मौजूदा गरौठा विधायक जवाहर सिंह राजपूत पर सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। कहा कि पुलिस की मदद से उनके परिवार के खिलाफ उत्पीड़नात्मक कार्रवाई की जा रही है। वह उत्पीड़न की कार्रवाई से डरने वाली नहीं है। इस अन्याय के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story