केंद्रीय मंत्री का गुस्सा! तुरंत पहुंची थाने, इंस्पेक्टर को दे डाला अल्टीमेटम

गुरूवार देर रात एक नवविवाहिता की पैरवी करने पहुंचे भाजपा नेता को ही पुलिस ने हवालात में डाल दिया। जब इसकी भनक केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को हुई तो वो से गुस्से भड़क गई। केंद्रीय मंत्री देर रात काफिले के साथ घाटमपुर कोतवाली पहुंच गई। पुलिस की इस कार्यवाई के खिलाफ इंस्पेक्टर को जमकर फटकार लगाई और दिमाग सही रखने का अल्टीमेंटम दिया।

कानपुर: गुरूवार देर रात एक नवविवाहिता की पैरवी करने पहुंचे भाजपा नेता को ही पुलिस ने हवालात में डाल दिया। जब इसकी भनक केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को हुई तो वो से गुस्से भड़क गई। केंद्रीय मंत्री देर रात काफिले के साथ घाटमपुर कोतवाली पहुंच गई। पुलिस की इस कार्यवाई के खिलाफ इंस्पेक्टर को जमकर फटकार लगाई और दिमाग सही रखने का अल्टीमेंटम दिया।

ये भी देखें:5 दिन करोड़ों की वसूली! सिर्फ ट्रैफिक तोड़ने पर हुआ इतना ज्यादा फायदा

वाकया मूसानगर का है

जनपद कानपुर देहात के मूसानगर में रहने वाले भाजपा नेता कल्लू चौरसिया साध्वी निरंजन ज्योति करीबी नेता माने जाते है। दरसल कल्लू चौरसिया के पड़ोस में रहने वाले आमान ने बेटी खुशनुमा की शादी दो साल पहले घाटमपुर के इमरान से की थी। इमरान ने बीते गुरूवार सुबह खुशनुमा के साथ मारपीट की। इसके बाद खुशनुमा को बच्चे के साथ घर से बाहर निकाल दिया था।

खुशनुमा किसी तरह से जब मायके पहुंची और परिजनो को पूरा घटनाक्रम बताया। पीड़िता के पिता ने पड़ोस में रहने वाले भाजपा नेता कल्लू चौरसिया से मदद की गुहार लगाई। कल्लू चौरसिया ने घाटमपुर में रहने वाले अपने मित्र भाजपा नेता रामजी शुक्ला से संपर्क किया। कल्लू चौरसिया, रामजी शुक्ला पीड़िता को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस को पूरा घटनाक्रम बताया और पीड़िता खुशनुमा के ससुराल पक्ष के खिलाफ कार्यवाई की मांग करने लगे।

भाजपा नेता का दबाव बढ़ता देख घाटमपुर इंस्पेक्टर भाजपा नेता कल्लू चौरसिया पर भड़क गए। नेतागिरी करने का आरोप लगाते हुए उन्हे हवालात में डलवा दिया। कल्लू के साथी रामजी शुक्ला ने पुलिस की इस हरकत की जानकारी भाजपा नेताओ और कार्यकताओ को दी। कुछ ही देर में भाजपा के कार्यकर्ता थाने पर इकट्ठा होने लगे।

ये भी देखें:अलका के इस्तीफे पर मचा हड़कंप, अब इस पार्टी में होंगी ये शामिल

भाजपा नेता को हवालात पर डालने की सूचना पर केंद्रीय मंत्री घाटमपुर कोतवाली पहुंच गई। इसके बाद सभी पुलिसकर्मियों की जमकर क्लास ली। केद्रीय मंत्री को देखकर इंस्पेक्टर की बोलती बंद हो गई। पुलिस को तत्काल कल्लू चौरसिया को छोड़ना पड़ा। लेकिन सबसे हैरानी वाली बात ये रही कि पीड़िता की पैरवी के लिए केंद्रीय मंत्री ने दो शब्द भी नहीं बोले।

केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने इंस्पेक्टर की शिकायत एडीजी से फोन पर की। इसके साथ ही ऐसे लापरवाह इंस्पेक्टर को हटाने की मांग की।