उलेमा काउंसिल ने पूछा- मुसलमानों से कैसा राष्ट्रप्रेम चाहता है RSS ?

कानपुर: ऑल इंडिया सुन्नी उलेमा काउंसिल ने आरएसएस से पूछा है कि वह मुसलमानों से किस तरह का राष्ट्रप्रेम चाहती है। काउंसिल ने संघ प्रमुख प्रमुख मोहन भागवत को पत्र लिख कर मुसलमानों से संबंधित संघ की सोच जानने के लिए छह सवाल किे हैं।
इससे पहले काउंसिल ने भागवत से मिलने का समय मांगा था, लेकिन उन्होंने अपने प्रतिनिधि के तौर पर इंद्रेश कुमार को काउंसिल से मिलने भेजा था। तब इंद्रेश ने इन्ही सवालों के सीधे जवाब न देकर अपने विचार सार्वजनिक मंच पर प्रकट करने की बात कही थी.

ulema council-query rss-mohan bhagwat
संघ प्रमुख मोहन भागवत (फाइल फोटो)

मोहन भागवत से सवाल
-सुन्नी उलेमा काउंसिल ने पिछले वर्ष 9 जून को हलीम कालेज में आयोजित सार्वजनिक सभा में उन्हें निमंत्रित किया गया था, लेकिन उन्होंने उसका कोई जवाब नहीं दिया।
-फिर काउंसिल ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को पत्र लिख कर छह सवाल किए थे और उन पर चर्चा के लिए समय मांगा था, लेकिन न समय मिला, न प्रश्नों के जवाब।
-काउंसिल प्रवक्ता ने कहा कि काउंसिल फिर वही छह प्रश्न लेकर उनका जवाब मांग रही है, जिनका आरएसएस जवाब नहीं देती।
-काउंसिल ने पूछा है कि आरएसएस मुल्क में लगातार भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने का मुद्दा उठाती है, लेकिन आज तक न तो कॉमन सिविल कोड का कोई खाका सामने आया और न ही संघ ने हिन्दू राष्ट्र का कोई खाका पेश किया।
-काउंसिल ने यह ताजा पत्र संघ प्रमुख मोहन भागवत को ऐसे समय पर भेजा है जब वह छह दिनों के प्रवास पर कानपुर आये हैं।

ulema council-query rss-mohan bhagwat
उलेमा काउंसिल ने संघ प्रमुख को पत्र लिख कर पूछे 6 सवाल

छलावा है हिंदू राष्ट्र का नारा
-सुन्नी उलेमा काउंसिल ने कहा कि जब तक किसी प्रस्ताव का कोई प्रारूप सामने ना हो तब तक उस पर चर्चा नहीं हो सकती है।
-उलेमा काउंसिल चाहती है कि इस पर पूरे देश में चर्चा हो कि आखिर वो कौन से सिद्धांत और अधिकार होंगे जो मायनारिटी के लिए होंगे।
-जब तक इन प्रश्नों के जवाब नहीं दिये जाते, तब तक यह संघ का छलावा है, जो धर्म के नाम पर लोगों को बरगला रही है।
-काउंसिल ने कहा कि धर्म के नाम पर संघ सत्ता में बनी रहना चाहती है, और काउंसिल इस खेल को बेनकाब करना चाहती है।

काउंसिल के प्रश्न
-उलेमा काउंसिल ने संघ प्रमुख मोहन भागवत से छह सवाल किए हैं।
-पहला सवाल है कि क्या आरएसएस भारत को हिन्दू राष्ट्र मानता है।
-दूसरा सवाल कि क्या संघ ने हिन्दू राष्ट्र का खाका बनाया है।
-तीसरा सवाल कि क्या हिन्दू राष्ट्र भारत में हिन्दू धार्मिक ग्रंथों के अनुसार चलेगा।
-चौथा सवाल कि संघ मुसलमानों से आखिर किस प्रकार का राष्ट्र प्रेम चाहता है।
-पांचवां सवाल कि धर्मांतरण पर संघ की क्या नीति है।
-और छठा सवाल कि आप इस्लाम के संबंध में क्या जानते हैं और क्या मानते हैं।