विकास का तगड़ा खुलासा: सारा सच आ गया सामने, यहां से शुरू हुई ये कहानी

प्रदेश के कानपुर में पुुलिस हत्याकांड के आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद से हर रोज एक नया किस्सा सामने आ रहा है। ऐसे में अब इस मामले में विकास दुबे के खिलाफ एफआईआर लिखवाने वाला शख्स जिसका नाम राहुल तिवारी वो आया है।

कानपुर। प्रदेश के कानपुर में पुुलिस हत्याकांड के आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद से हर रोज एक नया किस्सा सामने आ रहा है। ऐसे में अब इस मामले में विकास दुबे के खिलाफ एफआईआर लिखवाने वाला शख्स जिसका नाम राहुल तिवारी है वो कानपुर कांड के 12 दिन बाद अपने घर लौट कर आया है। इसके बाद उसने मीडिया से सारी बात बताई।

ये भी पढ़ें… विकास के गुर्गे शशिकांत की पत्नी का नया ऑडियो वायरल, हुए ये चौंकाने वाले खुलासे

एसओ के सामने विकास ने की पिटाई

आपको बता दें राहुल तिवारी की एफआईआर के बाद ही पुलिस विकास दुबे के घर बिकरु गांव में दबिश देने के लिए गई थी, जिसके बाद नृशंस हत्याकांड हुआ और कानपुर के 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए।

राहुल के मुताबिक, पूर्व एसओ चौबेपुर विनय तिवारी घटना से एक दिन पहले 1 जुलाई को उसे लेकर बिकरू गांव ले गया था। यहां बिकरू में एसओ के सामने विकास ने उसकी पिटाई की।

ये भी पढ़ें…लापता हुआ शख्स: विकास दुबे के खिलाफ कराई थी FIR, जांच में जुटी पुलिस

किसी तरह जान बचाई

राहुल को पीटने के बाद सीने पर राईफल तान दी थी। इस बीच एसओ विनय तिवारी को भी विकास ने धमकाया। विनय तिवारी ने जनेऊ का हवाला देकर उसकी किसी तरह जान बचाई थी।

राहुल तिवारी ने बताया कि उसके ससुराल की जमीन को लेकर विकास दुबे से नहीं बनती थी। 27 जून को मोटरसाइिकल पर घर वह घर लौट रहा था। तभी रास्ते में विकास के गुर्गों ने मोटरसाइकिल छीन ली और पैसे भी छीन लिए।

ये भी पढ़ें…विकास दुबे मामले में योगी सरकार ने गठित किया एकल सदस्यीय जांच आयोग

एसओ साहब ने अपना जनेऊ निकाला

जिसके बाद राहुल ने थाने की मदद लेने पहुंचा। 1 जुलाई को एसओ विनय तिवारी ने कहा कि चलो, मामले की तफ्तीश कर लें। इसके बाद वह उनके साथ घटनस्थल पर गया।

इसके बाद उनके साथ बिकरू पहुंचे। वहां विकास दुबे के गुर्गों ने बहुत मारा-पीटा और हमारे सीने पर रायफल लगा दी। एसओ साहब को भी बहुत हड़काया, गाली-गलौज भी की।

फिर जब एसओ साहब को लगा कि ये इसको मार देगा, तब एसओ साहब ने अपना जनेऊ निकाला और कहा कि भइया पंडितों की इज्जत रखो। फिर विकास दुबे ने गंगा जल निकाला और हमें भी दिया, एसओ साहब को भी दिया।

ये भी पढ़ें…विकास के वो 12 घण्टे : खुले कई बड़े राज, सुनकर अधिकारी भी रह गए सन्न

राहुल तिवारी को मारोगे नहीं

और इसके बाद उन्होंने कसम खिलाई। इसके बाद विकास दुबे को भी कसम खिलाई कि राहुल तिवारी को मारोगे नहीं। उसने कहा कि नहीं मारेंगे।

फिर इसके बाद वही हाते में हमसे विकास दुबे ने पूछताछ की और गाड़ी दे दी। इसके बाद हम दहशत में आ गए कि हमें ये कल मार देगा। इसके बाद हम कप्तान के यहां आए। यहां से थाने भेजा गया, थाने में एसओ साहब ने एक एप्लीकेशन लिखी और उसके बाद पुलिस कार्रवाई करने गई।

ये भी पढ़ें…अब विकास दुबे के खजांची पर कसा शिकंजा, STF की पूछताछ में किए अहम खुलासे

विकास दुबे की करीबी

राहुल ने बताया कि हमारी ससुराल की खेती का मैटर था। बुआ की नीयत खराब है। मेरे ससुर की बहन का लड़का सुनील कुमार की शादी बिकरू में बाल गोविंद के यहां हुई थी। बाल गोविंद और विकास दुबे की करीबी थी। उसी में ये मामला हुआ।

आगे राहुल ने बताया कि घटना के बाद वह डर गया था। उसने मोबाइल बंद कर दिया था और छिपा था। लेकिन एनकाउंटर के बाद वह कप्तान साहब के पास पहुंचा और बताया, तब कप्तान के कहने पर वह अब अपने गांव आया है।

ये भी पढ़ें…खुला विकास का राज: सामने आई 22 साल पुरानी गाथा, जिसने पलट दी कई जिंदगियां

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App