×

लुटेरे दूल्‍हे को पुलिस ने किया अरेस्ट, फर्जी शादियां कर ठगे करोड़ों

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 17 Aug 2018 12:45 PM GMT

लुटेरे दूल्‍हे को पुलिस ने किया अरेस्ट, फर्जी शादियां कर ठगे करोड़ों
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: यूपी, पंजाब और मध्य प्रदेश राज्यों के लिए सिरदर्द बन चुके लुटेरे दूल्हे को नोएडा पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया। नोएडा सेक्टर-24 थाने की पुलिस ने शुक्रवार को लुटेरे दूल्हे तरुण शर्मा और इसकी कथित बहन दुर्गांशु शर्मा को सेक्टर-71 से गिरफ्तार किया। इनके पास से 15 से ज्यादा अलग-अलग नाम से आधार कार्ड, कार की कई फर्जी नंबर प्लेट, न्यूज-24 का स्टीकर लगी हुई चोरी की कार समेत फर्जीवाड़े में प्रयोग आने वाले कई डॉक्युमेंट्स बरामद किए हैं। इन दोनों आरोपियों पर नोएडा पुलिस ने 25-25 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर रखा था।

गर्लफ्रेंड निकली मास्‍टरमाइंड

एसएसपी डॉ. अजयपाल ने बताया कि तरुण की कथित बहन ही मेट्रिमोनियल वेबसाइट से नौकरीपेशा करने वाली लड़की को चुनती थी और फिर लुटेरे दूल्हे के जरिए फोन पर बात कराती थी। शादी करने के लिए चुनी लड़की को वह खुद को न्यूज चैनल का डायरेक्टर बताकर प्रति महीने 20 लाख सैलरी का लालच देता था। यही नहीं, भरोसा जीतने के लिए 10 रुपए के स्टांप पेपर पर बिना दहेज लिए शादी करने का लालच भी देता था। इसके बाद लुटेरे दूल्हे की गर्लफ्रेंड व कथित बहन खुद को ब्रेन ट्यूमर का मरीज बताकर लड़की को अपने भाई का जल्दी घर बसाने का झांसा दे देती थी। फिर क्या, इतनी बातों में लड़की इस कदर फंस जाती थी कि महज 1-2 महीने के भीतर ही शादी कर लेती थी।

ये बने शिकार

नोएडा पुलिस की गिरफ्त में आया लुटेरा दूल्हा तरुण शर्मा और इसकी कथित बहन (गर्लफ्रेंड) दुर्गांशु शर्मा दोनों 2010 से ही लोगों को ठग रहे हैं। हालांकि, पहले लोगों का भरोसा जीतकर उन्हें सामान खरीदवाने के नाम पर ठग लेते थे। इससे पहले, 2008 में तरुण शर्मा गाजियाबाद से ठगी के मामले में जेल जा चुका है। यहां से छूटने के बाद से ही वह ठगी के बाद दूर भागकर नया काम शुरू कर देता था। इसलिए 2010 से कथित बहन दुर्गांशु के साथ पहले 2011 में मेरठ में एक परिवार के घर से पहले भरोसा जीता और फिर उनकी बेटी की शादी में सामान खरीदवाने के नाम पर 16 लाख रुपए कैश और 10 लाख रुपए से ज्यादा का सामान लेकर दोनों भाग निकले। मेरठ से भागने के बाद दोनों चंडीगढ़ पहुंचे। यहां कुछ साल तक छोटा-मोटा बिजनेस करते रहे और फिर ऑनलाइन न्यूज पोर्टल और ऑनलाइन शॉपिंग सेंटर खोला। इसके लिए कई लोगों से पार्टनरशिप कर 70-80 लाख रुपये ठग लिए और रातोंरात फरार हो गए। इन रुपयों को लेकर दोनों नोएडा पहुंचे। यहां माई इंडिया न्यूज पोर्टल शुरू किया और फिर मेट्रिमोनियल साइट के जरिए लड़कियों को फंसाने में जुट गए। इसी दौरान दिल्ली में रहने वाली एक नर्स इनके झांसे में आ गई। इस लड़की से बिना दहेज लिए शादी करने का वादा किया और 10 रुपए के स्टांप पेपर पर लिखकर भी दे दिया। इसके बाद दोनों की अप्रैल 2017 में शादी हो गई। शादी के बाद ही प्रॉपर्टी दिलाने के नाम पर नर्स की मां से अलग-अलग किस्तों में 30 लाख और पत्नी के अकाउंट से 10 लाख रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए। इसके बाद सितंबर में दोनों रातोंरात फरार हो गए।

भोपाल में भी लूटे लाखों

नोएडा से 40 लाख रुपए हड़पने के बाद दोनों भोपाल पहुंच गए। यहां लूटे हुए रुपयों से एमपी-24 न्यूज पोर्टल ऑनलाइन पोर्टल शुरू कर दिया। इस पोर्टल का खुद को मालिक बताकर मेट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिए एक बैंक मैनेजर को जाल में फंसाया। जनवरी 2018 में इससे शादी कर ली। इसके बाद इससे भी लगातार पैसे ठगते रहे। मई में मीडिया में नोएडा में लुटेरे दूल्हे की खबर आने के बाद दोनों भोपाल से भाग निकले और फिर लखनऊ पहुंचे। यहां से कई बार केरल, नागपुर, मुंबई और अलग-अलग शहरों के भी चक्कर लगाए। इसके बाद तरुण शर्मा और दुर्गांशु दोनों वाराणसी में पहुंचे। यहां दोनों भोपाल ऑफिस में काम कर चुकी एक लड़की के संपर्क में आए। इस लड़की को भी तरुण शर्मा अपने जाल में फंसा लिया और फिर इलाहाबाद आ गया। यहां उसने वाराणसी की लड़की से तीसरी बार शादी कर ली। इसके बाद ट्रांसपोर्ट कंपनी खोलने के लिए 11 स्कॉर्पियो का ऑर्डर दे दिया। इसके लिए उसने 1.10 करोड़ रुपये का चेक भी दे दिया हालांकि वह बाउंस हो गया था। इसके बाद वह भागकर नोएडा सेक्टर-71 पहुंचा जहां पुलिस को सूचना मिल गई जिसके बाद पकड़ लिया गया।

बैंक मैनेजर के परिवार से भी ठगी

पीड़ित बैंक मैनेजर के परिवार के लोगों ने बताया कि पिछले 5 महीने में ही तरुण शर्मा ने अलग-अलग बहाने बनाकर 9 लाख रुपए से ज्यादा ले चुका है। मगर समय रहते हुए इस बारे में पता चल गया जिससे परिवार एक बड़ी ठगी का शिकार होने से बच गया है। इसलिए उसके खिलाफ तुरंत रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्रवाई कराने की तैयारी में है।

आरोपी देता था दहेज रहित शादी का एफि‍डेविट

नोएडा में रहते हुए जिस तरह से नर्स को 2017 शादी डॉट कॉम से प्रोफाइल की डिटेल लेकर तरुण शर्मा ने अपने जाल में फंसाया था ठीक उसी तरह से उसने भोपाल में भी अंजाम दिया। नर्स को भी इसने शादी से पहले 10 रुपए के स्टांप पेपर पर लिखकर दिया कि वह दहेज नहीं लेगा। बस शगुन के तौर पर 1 रुपए और एक जोड़ी कपड़े लेगा। इस तरह परिवार के लोग झांसे में आ गए और फिर जनवरी 2018 में शादी भी हो गई। इस दौरान तरुण की कथित बहन दुर्गांशु भी उसके साथ में ही रही। हालांकि, भोपाल में इसने अपना नाम दुर्गा उर्फ गुड़िया बताया हुआ था। अब जाकर ये पुलिस के हत्‍थे चढ़े हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story