×

लखनऊ में रिश्वतखोरी से परेशान सिपाही चढ़ गया पानी की टंकी पर

यूपी पुलिस की रिश्वतखोरी की कई खबरें जब-तब सुनने को मिलती रही हैं। लेकिन आज इससे परेशान होकर पुलिस का सिपाही अजय पंडित परिवार समेत जियामऊ पानी की टंकी पर चढ़ गया और सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने की बात करने लगा। स्थानीय लोगों ने गौतमपल्ली पुलिस को सूचना दी।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Feb 2019 10:19 AM GMT

लखनऊ में रिश्वतखोरी से परेशान सिपाही चढ़ गया पानी की टंकी पर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : यूपी पुलिस की रिश्वतखोरी की कई खबरें जब-तब सुनने को मिलती रही हैं। लेकिन आज इससे परेशान होकर पुलिस का सिपाही अजय पंडित परिवार समेत जियामऊ पानी की टंकी पर चढ़ गया और सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने की बात करने लगा। स्थानीय लोगों ने गौतमपल्ली पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे मनाने की कोशिश की लेकिन उसने कहा जबतक कोई मंत्री या विधायक यहां पर नहीं आता है तब वो टंकी से नीचे नहीं उतरेगा।

ये भी देखें : एनआईए ने शुरू की जांच: आतंकी फंडिंग से बनीं मस्जिदों व मदरसों पर गिर सकती है गाज!

अजय पंडित एडीजी सुरक्षा में तैनात है। सिपाही का कहना है कि उसने सीएम से मिलने के लिए कई बार प्रयास किये लेकिन सफल नहीं हो सका। मुख्यमंत्री के सचिव प्रफुल त्रिपाठी सिपाही और उसके परिजनों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। सीएम से मिलाने का आश्वासन भी दे रहे हैं।

ये भी देखें : पीएम मोदी का नायडू पर हमला, कहा आप ससुर की पीठ में छुरा भोंकने में सीनियर

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story