छह वर्षों में 3.7 करोड़ लोग किसानी के काम से अलग हो गए है: अखिलेश

अस्पतालों में न दवा है, न इलाज की व्यवस्था है। भाजपा सरकार ने पूरी चिकित्सा व्यवस्था को ही बीमार कर दिया है। सरकार संवेदनहीन है।

अखिलेश यादव की फ़ाइल फोटो

अखिलेश यादव की फ़ाइल फोटो

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि पहले उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की राह पर था अब भाजपा राज ने ‘हत्या प्रदेश‘ बना दिया है।

राज्य में बेटियों के साथ बलात्कार और हत्या की घटनाएं हो रही हैं। कानून व्यवस्था पूरी तरह बर्बाद है। अब अर्थव्यवस्था पर भी मंदी के काले बादल मंडरा रहे हैं। हर मोर्चे पर भाजपा सरकार विफल है। भाजपा सरकार से जनता बुरी तरह ऊब गई है।

ये भी पढ़ें…इमरान का रिपोर्ट कार्ड : जीरो हो गए पाक पीएम एक साल में ना कर पाए ये काम

वाहन उद्योग में गिरावट

सपा मुखिया ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि वाहन उद्योग में गिरावट है। इस क्षेत्र में 3.5 लाख से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी हो गई है।

भाजपा सरकार कौन सी नीति पर काम कर रही है कि नौकरियां जा रही है और बेकारी बेतहाशा बढ़ रही है। नौजवान परेशान हैं।

अस्पतालों में न दवा है, न इलाज की व्यवस्था है। भाजपा सरकार ने पूरी चिकित्सा व्यवस्था को ही बीमार कर दिया है। सरकार संवेदनहीन है।

अखिलेश ने कहा कि जाति आधारित जनगणना होने पर ही सबको आनुपातिक आधार पर भागीदारी मिल सकती है। सामाजिक न्याय की लड़ाई समाजवादी लम्बे समय से लड़ रहे है।

भाजपा केवल भटकाने और बांटने का काम करती है और अपने स्वार्थ साधन के लिए किसी सीमा तक जा सकती है। उसे विकास में दिलचस्पी नहीं है।

छह वर्षों में 3.7 करोड़ लोग किसानी के काम से अलग हो गए

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमब्यूरो सर्वे के मुताबिक बीते छह वर्षों में 3.7 करोड़ लोग किसानी के काम से अलग हो गए है। बीते पांच सालों में करीब 60 हजार किसानों ने आत्महत्या की है।

एक करोड़ से ज्यादा नौकरियां चली गई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता को बहुत दुःख पहुंचाया है। किसानों और नौजवानों के भविष्य को घोर अंधकार के भंवर में फंसा दिया है।

ये भी पढ़ें…जानिए शाह ने क्यों कहा समाज सुधारकों में लिखा जाएगा पीएम मोदी का नाम?