हार के बाद अखिलेश यादव को लगा बड़ा झटका, अब हुआ ये काम

लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद अखिलेश की सुरक्षा में कटौती हुई है। हार के बाद समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन भी टूट गया।

हार के बाद अखिलेश यादव को लगा बड़ा झटका, अब हुआ ये काम

हार के बाद अखिलेश यादव को लगा बड़ा झटका, अब हुआ ये काम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सरकार ने उनकी जेड प्लस सुरक्षा वापस लेने का मन बना लिया है। दरअसल, अब अखिलेश की सुरक्षा के लिए सरकार ब्लैक कैट कमांडो का दस्ता नहीं देगी। जानकारी के अनुसार, इस मामले को लेकर एक आदेश आया है, जिसपर दस्तखत भी हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने की कश्मीर पर भारत-पाक के बीच मध्यस्थता की पेशकश, भारत ने किया खारिज

मुलायम सिंह यादव और मायावती को जेड प्लस सुरक्षा

इस मामले में एनएसजी को सूचित करना बाकी है। फिलहाल, अभी अखिलेश यादव की जेड प्लस सुरक्षा वापस ली जा रही है। मगर एनएसजी मुलायम सिंह यादव और मायावती की सुरक्षा में तैनात रहेगी।

यह भी पढ़ें: सोनभद्र नरसंहार पर सपा-कांग्रेस सदस्यों ने किया सदन से बहिर्गमन

बता दें, लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद अखिलेश की सुरक्षा में कटौती हुई है। हार के बाद समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन भी टूट गया। इस गठबंधन को चुनाव में महज 15 सीटें ही मिलीं, जहां सपा को 5 तो बसपा ने 10 सीटें हासिल कीं।

यह भी पढ़ें: आकाशीय बिजली से मौत पर दस-दस लाख का मुआवजा दे योगी सरकार : रालोद

चंद्रबाबू नायडू की भी घटी सुरक्षा

वैसे अखिलेश यादव अकेले नहीं हैं, जिनकी सुरक्षा में कटौती हुई है। उनसे पहले आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में कमी देखने को मिली। नायडू को ‘जेड प्लस सुरक्षा’ तब मिली थी, जब साल 2003 में नक्सलियों ने उनपर हमला कर उन्हें जान से मारने की कोशिश की थी। देश में ‘जेड प्लस सुरक्षा’ वीआईपी व्यक्ति को मिलने वाली सर्वोच्च सुरक्षा है।