विधानसभा उपचुनाव को लेकर बसपा मुखिया मायावती गंभीर

बसपा मुखिया मायावती आज पहले दिन बरेली, चित्रकूट, कानपुर, झांसी, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, आगरा और अलीगढ़ मंडल की समीक्षा करेंगी। बैठक में भाईचारा कमेटियों के गठन से जुड़े काम की समीक्षा होगी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में 12 सीट पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव को लेकर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती बेहद गंभीर है। लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ हुआ गठबंधन अब टूट चुका है। विधानसभा उप चुनाव में अब बहुजन समाज पार्टी 12 सीट पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। मायावती आज लखनऊ में अपनी पार्टी के नेताओं की मंडलवार समीक्षा करेंगी।

यह भी पढ़ें: CM कमलनाथ के खिलाफ मुकदमा दर्ज, साजिश रचने का आरोप, जांच में जुटे अधिकारी

बसपा मुखिया मायावती आज पहले दिन बरेली, चित्रकूट, कानपुर, झांसी, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, आगरा और अलीगढ़ मंडल की समीक्षा करेंगी। बैठक में भाईचारा कमेटियों के गठन से जुड़े काम की समीक्षा होगी। इसके साथ ही उपचुनाव की तैयारियों के संबंध में जरूरी दिशानिर्देश दिए जाएंगे। उपचुनावों के साथ-साथ विधानसभा आम चुनाव के मद्देनजर विधानसभा व सेक्टर स्तर पर भाईचारा कमेटियों के गठन की समीक्षा करेंगी।

यह भी पढ़ें: मुंबई: जोरदार बारिश की वजह से डूब गया पुलिस स्टेशन

लखनऊ मंडल की समीक्षा छह जुलाई को होगी। इसी तरह अन्य सेक्टर व मंडल से जुड़े जिम्मेदार पदाधिकारियों को मीटिंग के बारे में अलग-अलग सूचित किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: बैट चले तो केवल बॉल पर… तो क्या गुस्से में मोदी ने कुछ ऐसा कहा

उत्तर प्रदेश की 12 सीटों पर विधानसभा के उप चुनाव होंगे। जिन सीटों पर विधनसभा उपचुनाव होने है, बसपा वहां के प्रत्याशियों के नाम को लेकर भी चर्चा करेगी। सहारनपुर की गंगोह, अलीगढ़ की इगलास, कानपुर की गोविंदनगर, फिरोजाबाद की टूंडला, (फिरोजाबाद), लखनऊ की कैंट, बाराबंकी की जैदपुर, चित्रकूट की मानिकपुर, बहराइच की बलहा के साथ अम्बेडकरनगर की जलालपुर और प्रतापगढ़, हमीरपुर व रामपुर में विधानसभा का उपचुनाव होगा।

इस बैठक में यूपी सरकार की तरफ से 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के बाद सियासी नफा-नुकसान पर मंथन होगा। मायावती ने भाजपा पर 17 जातियों को धोखा देने के आरोप लगाए थे। उन्होंने दो टूक कहा था कि यूपी उपचुनाव में लाभ लेने के लिए फैसला लिया गया है।