यूपी : भीषण गर्मी से राहत नहीं, 45.2 डिग्री तापमान के साथ बुन्देलखण्ड रहा सबसे गर्म

प्रदेश में बीते दिनों आंधी-तूफान के बाद एक बार फिर गर्मी की तपिश जनजीवन पर भारी पड़ रही है। लू के थपेड़ों के कारण लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है।

Published by Aditya Mishra Published: June 8, 2019 | 8:46 pm
Modified: June 8, 2019 | 8:48 pm

लखनऊ: प्रदेश में बीते दिनों आंधी-तूफान के बाद एक बार फिर गर्मी की तपिश जनजीवन पर भारी पड़ रही है। लू के थपेड़ों के कारण लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है। शनिवार को भी पूरे दिन आसमान से आग बरसती रही। इस वजह से सड़कों पर निकलने वाले लोग बेहाल दिखे।

बुन्देलखण्ड में तो धरती तपने के कारण स्थिति और खराब है। शुक्रवार के बाद शनिवार को भी प्रदेश में झांसी सबसे गरम स्थान रहा। यहां तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जबकि शुक्रवार को यहां 45.2 डिग्री तापमान था। इसके अलावा शुक्रवार को जहां 23.2 डिग्री सेल्सियस के साथ प्रदेश में फतेहगढ़ में न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया, वहीं शनिवार को इसमें वृद्धि दर्ज की गई और 25 डिग्री के साथ बरेली और मुरादाबाद न्यूनतम तापमान वाले स्थान रहे।

मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को आगरा का न्यूनतम तापमान 29 डिग्री और अधिकतम तापमान 44 डिग्री, अलीगढ़ का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री, इलाहाबाद का न्यूनतम तापमान 29 डिग्री और अधिकतम तापमान 44 डिग्री, बहराइच का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री और अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ये भी पढ़ें…उत्तर प्रदेश में गर्मी का कहर,प्रयागराज में अधिकतम तापमान 45.3 रहा

इसके अलावा बांदा का न्यूनतम तापमान 30 डिग्री और अधिकतम तापमान 44 डिग्री, बरेली का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री, गोरखपुर का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 40 डिग्री, झांसी का न्यूनतम तापमान 31 डिग्री और अधिकतम तापमान 45 डिग्री, कानपुर का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री, लखनऊ का न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं मेरठ का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री, मुरादाबाद का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 40 डिग्री और वाराणसी का न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि फिलहाल गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। प्रदेश में शुष्क मौसम बना रहेगा। वायुमंडल को दक्षिण पूर्वी हवाओं से नमी मिल रही है।

ये भी पढ़ें…गर्मी में मटके का पानी बना अमृत है कई रोगों का निवारक

वहीं हीट वेव कंडीशन का भी असर बरकरार है। इससे बीते दिनों प्रदेश में आंधी की स्थिति बनी और जानमाल का नुकसान हुआ। अभी हवाओं का विंड पैटर्न दक्षिण-पूर्व बना रहेगा। अगले दो दिनों में प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर लू के थपेड़े लोगों को ज्यादा बेहाल कर सकते हैं।

इसके बाद मंगलवार को मौसम के फिर करवट लेने की सम्भावना है। 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चल सकती है।

इसके अलावा कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी भी हो सकती है। राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में अगले चौबीस घंटों में न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रहने की सभावना है।

ये भी पढ़ें…हो जाइये तैयार: गर्मी में आग लगाने जा रही है बिजली