इस ‘शूटर दादी’ के सीएम योगी भी हैं कायल, दुख की घड़ी में बढ़ाया मदद का हाथ

दुनिया की सबसे उम्रदराज निशानेबाज महिला चंद्रो तोमर जो कि शूटर दादी कहलातीं हैं, वो इन दिनों काफी बीमार चल रहीं है। जिसके कारण उनको इलाज के लिए दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया।

फाइल फोटो

फाइल फोटो

लखनऊ: दुनिया की सबसे उम्रदराज निशानेबाज महिला चंद्रो तोमर जो कि शूटर दादी कहलातीं हैं, वो इन दिनों काफी बीमार चल रहीं है। जिसके कारण उनको इलाज के लिए दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया।

शूटर दादी को इस मुश्किल घड़ी में योगी सरकार का साथ मिला है। उनके चिकित्सा खर्च का वहन राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा।

ये भी पढ़ें…सीएम योगी की सभा में भगदड़ से युवक की मौत का सच आया सामने!

चंद्रो तोमर ने सीएम योगी को दिया धन्यवाद

योगी सरकार के एलान के बाद चंद्रो तोमर ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। वहीं बागपत की डीएम शकुंतला गौतल शूटर दादी से मिलने के लिए दिल्ली रवाना हो गई हैं, जहां उनका इलाज चल रहा है।कौन हैं दादी चंद्रो तोमर?

यूपी के बागपत जिले के जोहरी गांव की रहने वाली चंद्रो तोमर दुनिया की सबसे ज्यादा उम्र की शूटर हैं। इस उम्र में भी वह बिल्कुल सटीक निशाना लगाती हैं।

हली बार चंद्रों ने निशानेबाजी की प्रेक्टिस 65 साल की उम्र में शुरू की थी। इन्होंने ये साबित किया कि कुछ नया करने के लिए उम्र नहीं देखी जाती।

ये भी पढ़ें…योगी सरकार का तोहफा, आशा बहुओं को मिलेंगे इतने रूपये

ऐसी हुई निशानेबाजी की शुरुआत

इनके निशानेबाज बनने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। दरअसल, साल 2001 में चंद्रों अपनी पोती को गांव की ही शूटिंग रेंज में शूटिंग सिखाने जाती थी।

एक दिन पोती ने कहा कि दादी आप भी निशाना लगा कर देखो। चंद्रों ने 2-3 निशाने एक दम सही लगाए। जब राइफल क्लब के कोच ने दादी को यू शूटिंग करते देखा तो वह दंग रह गए। इसके बाद उन्होंने शूटर दादी को शूटर बनने की ट्रेनिंग दी।

इन्होंने शूटिंग में 25 नेशनल चैंपियनशिप जीतें हैं। उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के जोहरी गांव की रहने वाली इस दादी को ‘शूटर दादी’ और ‘रिवाल्वर दादी’ के नाम से भी जाना जाता है।

ये भी पढ़ें…चंद्रयान-2 पर बोले राजनाथ सिंह- कोशिश करने वालों की हार नहीं होती