भक्तों से गुलज़ार हुआ माँ का द्वार,बच्चों ने भी मंदिरों में बजाई घंटियाँ

त्योहारों के देश भारत में नवरात्र एक अहम् त्यौहार माना जाता है,जिसके रंग में बड़े तो बड़े ,मासूम बच्चे भी रंग जाते है। बाकी दिनों भले ही इनका दिमाग खुराफातियों में लगा रहे ,मगर नवरात्री में बच्चे भी जमकर माँ की आराधना करते है।

Published by priyankajoshi Published: October 1, 2016 | 3:08 pm
Modified: October 1, 2016 | 3:11 pm

untitled-7

लखनऊ : नवरात्र-शक्ति की प्रतीक माँ दुर्गा की आराधना के नौ दिन।नवरात्र हिन्दू संस्कृति का ऐसा पर्व है जो पूरब से लेकर पश्चिम और उत्तर से लेकर दक्षिण तक पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ मनाया जाता है।यूं तो नवरात्रि साल में चार बार आती है: पौष ,चैत्र ,आषाढ़ और आश्विन।लेकिन इनमे से चैत्र और आश्विन वाली नवरात्र को अहम् महत्व दिया जाता है।

ये भी पढ़े … तप, त्याग, संयम का रूप हैं मां ब्रह्मचारिणी, इनकी उपासना से मिलती है समृद्धि

navratri-baby

बच्चों से लेकर बुज़ुर्गों तक सबमे छाया माँ के प्यार का खुमार
त्योहारों के देश भारत में नवरात्र एक अहम् त्यौहार माना जाता है,जिसके रंग में बड़े तो बड़े ,मासूम बच्चे भी रंग जाते है। बाकी दिनों भले ही इनका दिमाग खुराफातियों में लगा रहे ,मगर नवरात्री में बच्चे भी जमकर माँ की आराधना करते है।

आगे की स्लाइड्स में देखिये मंदिरों में पूजा करते भक्तों कि फोटोज …


navratr

nav

untitled-4

 

ये भी पढ़े … मां के भक्त क्यों नवरात्रि में 9 दिन करते हैं कन्या पूजन, क्या आप जानते हैं इसका सच ?