कार्य बहिष्कार ने करें PGI के कर्मचारी: प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा

प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा ने कहा है कि संजय गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के अनुसार एवं एम्स के बराबर भत्ते तथा अन्य सुविधाओं को जारी रखने हेतु मुद्दों के समाधान के लिए शासन गम्भीर है। उल्लेखनीय है कि संस्थान के कर्मचारियों को लगभग 12 ऐसे भत्ते प्रदान किये जाते हैं जो एम्स नई दिल्ली में प्रचलित और प्रदेश कर्मचारियों से भिन्न हैं।

लखनऊ: 1100 शैय्यायुक्त प्रदेश का प्रतिष्ठित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल है, जहां उपचार के लिए गम्भीर रोगी भर्ती होते हैं। रोगियों के हितों को ध्यान में रखते हुए प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा एवं निदेशक, एस0जी0पी0जी0आई0 ने संस्थान के कर्मचारी महासंघ से कार्य बहिष्कार न किये जाने की अपील की है।

ये भी पढ़ें— 3 राज्यों में मिली जीत के बाद राहुल के UP आगमन पर होगा भव्य स्वागत

प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे तथा निदेशक, संजय गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज डाॅ0 राकेश कपूर ने कर्मचारियों से 04 जनवरी, 2019 से प्रस्तावित कार्य बहिष्कार को न किये जाने की अपील की है।

प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा ने कहा है कि संजय गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के अनुसार एवं एम्स के बराबर भत्ते तथा अन्य सुविधाओं को जारी रखने हेतु मुद्दों के समाधान के लिए शासन गम्भीर है। उल्लेखनीय है कि संस्थान के कर्मचारियों को लगभग 12 ऐसे भत्ते प्रदान किये जाते हैं जो एम्स नई दिल्ली में प्रचलित और प्रदेश कर्मचारियों से भिन्न हैं।

ये भी पढ़ें— 2019 चुनाव : इन तीन कार्यक्रमों से यूपी के वोटरों को साधेगी भाजपा

प्रमुख सचिव ने अवगत कराया है कि चिकित्सा शिक्षा विभाग के अनुरोध पर मुख्य सचिव के निर्देशानुसार एक समिति का गठन किया गया है। इस समिति में वित्त, नियोजन, कार्मिक तथा चिकित्सा शिक्षा विभागों एवं एस0जी0पी0जी0आई0 को सम्मिलित किया गया है। समिति की आख्या
18 जनवरी, 2019 तक आ जाएगी। इसके उपरान्त 31 जनवरी, 2019 तक उच्चस्तरीय निर्णय कराते हुए शासनादेश निर्गत होेने की सम्भावना है।

ये भी पढ़ें— अधिवक्ता संरक्षण बिल पर विचार के लिए प्रदेश के सभी अधिवक्ता संघों की बैठक 5 जनवरी को

इस सम्बन्ध में निदेशक, अपर निदेशक एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, एस0जी0पी0जी0आई0 की आज प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा से वार्ता हुई। इसमें माह जनवरी, 2019 में प्रक्रिया को पूरा करने की समय-सारिणी पर विचार किया गया। सम्बन्धित अभिलेख वित्त विभाग को उपलब्ध करा दिये गये हैं। विहित प्रक्रिया के अनुसार महीने के अन्त तक संस्थान के कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के अनुसार एवं एम्स, नई दिल्ली के समान भत्ते दिये जाने की सम्भावना है।