नमामि गंगे परियोजना में पूरे हो चुके प्रोजेक्ट की माॅनीटरिंग हो : डॉ. महेन्द्र सिंह

डॉ. महेन्द्र सिंह ने बुधवार को गोमती नगर स्थित स्थानीय निकाय कार्यालय के सभा कक्ष में नमामि गंगे परियोजना की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिए।

लखनऊ:  प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह ने नमामि गंगे के सारे प्रोजेक्ट निर्धारित समय सीमा में पूर्ण गुणवत्ता, निष्ठा एवं ईमानदारी से पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि नमामि गंगे परियोजना को पूर्ण करने की एक बड़ी जिम्मेदारी हम लोगों के ऊपर है। इस प्रोजेक्ट के सभी काम निर्धारित समय के पहले पूर्ण कर देश के सामने एक आर्दश माॅडल प्रस्तुत करना है।

ये भी पढ़ें…योगी सरकार ने उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री बढ़ाने के लिए बनाई ये खास योजना

डॉ. महेन्द्र सिंह ने बुधवार को गोमती नगर स्थित स्थानीय निकाय कार्यालय के सभा कक्ष में नमामि गंगे परियोजना की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट के अन्तर्गत कराये जा रहे सभी कामों के माॅनीटरिंग की व्यवस्था मुख्यालय में की जायें। सभी प्रोजेक्टों की साइटों पर कैमरा लगाया जायें ताकि मुख्यालय पर बैठकर लाइव देखा जा सकें।

जलशक्ति मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक दिन माॅनीटरिंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जायें ताकि काम की गुणवत्ता बनी रहे। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे के जो प्रोजेक्ट पूरे हो गये उनकी भी माॅनीटरिंग बीच-बीच में करते रहें।

ये भी पढ़ें…कैबिनेट फैसला: 75 नए मेडिकल कॉलेज खुलेंगे, गन्ना किसानों की सब्सिडी सीधे खाते में

डॉ. सिंह ने प्रमुख सचिव मनोज सिंह को निर्देश दिया कि सभी जिलाधिकारियों को एक कड़ा पत्र लिखकर उनकी जिम्मेदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर सबसे बड़ी जिम्मेदारी जिलाधिकारियों की ही होती है।

लापरवाही पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई

उन्होंने कहा कि नमामि गंगे परियोजना से जुड़े किसी भी अधिकारी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जो भी अधिकारी दोषी पाया जायेगा।

उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही हर-हाल में की जायेगी। उन्होंने कहा कि जितनी भी संस्थाएं नमामि गंगे परियोजना से जुड़ी हैं उनको पूरी तरह से नियंत्रण में रखें।

जल शक्ति मंत्री ने कहा कि गंगा हमारी मां है। इसे हमें हर हाल में स्वच्छ करना है। गंगा को नमन करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सपने को साकार करने के लिए सभी लोगों को निष्ठा, इमानदारी एवं हठयोग द्वारा साफ-स्वच्छ अविरल एवं निर्मल बनाने के लिए काम करना होगा।

ये भी पढ़ें…बैंको में बड़ा बदलाव: 1 सितंबर से बदलेंगे ये नियम, फटाफट जानें यहां