सेना में भर्ती के नाम पर ठगी करने वाला फर्जी जवान गिरफ्तार

सेना में भर्ती के पूर्व सेना की खुफिया इकाई (मिलिट्री इंटेलिजेंस) इन दिनों दलालों की निगरानी में जुटी हुई है। इसी दौरान खुुफिया इकाई को सूचना मिली कि एक फर्जी सैन्य जवान युवाओं को सेना में भर्ती कराने के नाम पर ठगी कर रहा है।

लखनऊ: स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की वाराणसी इकाई ने शुक्रवार को सेना में भर्ती कराने के नाम पर युवाओं को ठगने वाले फर्जी सैन्य जवान को गिरफ्तार किया है। सेना की वर्दी में गिरफ्तार ठग की निशानदेही पर मोबाइल फोन, तीन रबर स्टैम्प, सेना की वर्दी और बैज भी बरामद हुआ हैं।

सेना में भर्ती के पूर्व सेना की खुफिया इकाई (मिलिट्री इंटेलिजेंस) इन दिनों दलालों की निगरानी में जुटी हुई है। इसी दौरान खुुफिया इकाई को सूचना मिली कि एक फर्जी सैन्य जवान युवाओं को सेना में भर्ती कराने के नाम पर ठगी कर रहा है।

ये भी पढ़ें…सेना का जवाब नहीं! पाकिस्तान को मिला करारा झटका

छानबीन में मामला सही पाये जाने पर अफसरों ने ठग की निगरानी शुरू कर दी। आज उसका सटीक लोकेशन मिलने पर अफसरों ने एसटीएफ को ठग के बारे में सटीक इनपुट दिया। एसटीएफ ने त्वरित कार्यवाही कर ठग रवि यादव उर्फ रवि कुमार उर्फ ओम यादव को राजघाट क्षेत्र में छापेमारी कर दबोच लिया।

ठग का पिता राजघाट स्थित बसंत इंटरमीडिएट कॉलेज में माली पद पर कार्यरत है। ठग अपने पिता के साथ कॉलेज परिसर में बने आवास में रहता था। छानबीन में पता चला कि रवि ने करीब पचास युवाओं से पांच हजार से लेकर साठ हजार रुपये तक ठगी की है। आरोपित के खिलाफ कैंट थाने में पहले से ही मुकदमा दर्ज है।

दो साल पूर्व ऐसे ही मामले में आरोपित असम की जेल में छह माह बंद था। वहां की जेल से छूटने के बाद फिर से सेना में भर्ती कराने के नाम पर बेरोजगारों से ठगी शुरू कर दिया था।

ये भी पढ़ें…देखें आतंकियों पर चली सेना की दनादन गोलियां, फिर हुआ ये