बुलंदशहर कांड पर राज्यपाल बोले – हम इस प्रकार के कांड का समर्थन नहीं करते

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक ने बुलंदशहर में हुई हिंसा पर कहा कि जिस प्रकार से घटना घटित हुई वो अति निंदनीय है। राज्यपाल ने कहा के गो माता उसकी हत्या ये ऐसे सवाल हैं उनकी चर्चा चलती रहती है लेकिन रास्ता निकालने की आवश्कता है। राज्यपाल ने कहा की सही है के गाय किसान के खेत में जाते उनका नुकसान होता है लेकिन इस प्रकार का कांड हुआ उसका हम समर्थन नहीं करते निंदा करते हैं। 

बुलंदशहर कांड पर राज्यपाल बोले - हम इस प्रकार के कांड का समर्थन नहीं करते

सुलतानपुर: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रामनाईक ने बुलंदशहर में हुई हिंसा पर कहा कि जिस प्रकार से घटना घटित हुई वो अति निंदनीय है। राज्यपाल ने कहा के गो माता उसकी हत्या ये ऐसे सवाल हैं उनकी चर्चा चलती रहती है लेकिन रास्ता निकालने की आवश्कता है। राज्यपाल ने कहा की सही है के गाय किसान के खेत में जाते उनका नुकसान होता है लेकिन इस प्रकार का कांड हुआ उसका हम समर्थन नहीं करते निंदा करते हैं।

 यह भी पढ़ें ……राजबब्‍बर के पत्र पर रामनाईक का चुटीला जवाब, कहा- राजभवन की वाणी पर नहीं लगा है विराम       

   राज्यपाल निर्धारित कार्यक्रम में मंगलवार को भदैयां ब्लॉक के हनुमानगंज स्थित रिवार्ड महाविद्यालय पहुंचे। यहां रिवार्ड स्नातकोत्तर महाविद्यालय हनुमान गंज में पेयजल परीक्षण प्रयोगशाला का शुभारंभ किया। इसके बाद  सभा को संबोधित करते हुए आगे कहा कि पुलिस नागरिको के लिये रक्षा का कार्य करती है। ऐसे में पुलिस अधिकारी की हत्या होना अपने आप मे गंभीर बात है। श्री नाईक ने कहा कि 2025 तक सारी दुनिया में सबसे ज्यादा युवक अकेले भारत में होगें। देश का युवक इस राष्ट्र की पूंजी है। युवाओं में निर्माण की ताकत है। आतंकवादी भी युवा होते हैं पर वो गलत रास्तो पर चलते हैं।

 यह भी पढ़ें …… राज्यपाल रामनाईक: राजभवन की शोभा बढ़ाते हैं रक्त दान और दधीचि सम्मान समारोह

बजरंग बली को दलित कहे जाने का मुद्दा है राजनितिक
राज्यपाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा  बुलंदशहर में हुई इंस्पेक्टर की हत्या की घटना की मैं निंदा करता हूं। पुलिस अधिकारी की हत्या होना अपने आप में बड़ा गम्भीर है। उन्होंने साफ कहा कि मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दे दिए हैं दो दिन में रिपोर्ट आएगी और सत्य निकल कर बाहर आयेगा। राज्यपाल ने कहा कि जो भी दोषी हैं उनके खिलाफ कठोर शासन किये जाने की आ‌वश्यकता है।

वहीं योगी आदित्यनाथ द्वारा राजस्थान चुनाव में बजरंग बली को दलित कहे जाने के सवाल पर राज्यपाल राम नाईक कन्नी काटते नजर आए। उन्होंने कहा कि ये विषय राजनितिक बन गया है ऐसे में राज्यपाल का राजनीतिक विषय पर प्रतक्रिया देना उचित नहीं। वहीं सूबे में कानून व्यवस्था पर उन्होंने कहा कि पहले की अपेक्षा आर्गनाइज क्राइम में कमी आई है, लेकिन अभी भी सुधार की आ‌वश्यकता है।

 यह भी पढ़ें ……नोटबंदी पर बोले राज्यपाल रामनाईक- ‘जहां कठिनाई होती है वहीं लाभ होता है