कैराना पलायनः CBI जांच चाहती है BJP, मौर्य बोले- किसी पर भरोसा नहीं

Published by Published: June 17, 2016 | 5:00 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:30 am

प्रेस कांफ्रेंस में बोलते केशव प्रसाद मौर्या

लखनऊः कैराना से हिंदू परिवारों के पलायन के मुद्दे पर यूपी सरकार और अन्य विपक्षी दलों के तर्कों को न मानते हुए बीजेपी ने इस मुद्दे की जांच अब सीबीआई से कराने की मांग की है। गवर्नर राम नाईक को शुक्रवार को बीजेपी ने कैराना जांच की रिपोर्ट सौंपने के बाद ये मांग की। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने साफ कर दिया कि इस मामले में सीबीआई जांच ही होनी चाहिए, किसी और जांच एजेंसी पर पार्टी को भरोसा नहीं है।

केशव मौर्य ने और क्या कहा?
-राज्य सरकार की ओर से एक पक्ष विशेष के अपराधियों को पुलिस के जरिए संरक्षण दिया गया।
-मुकीम काला और फुरकान जैसे अपराधियों और उनके गैंग की वजह से लोग पलायन को मजबूर हुए।
-बीजेपी की मांग पलायन करने वालों को वापस लाने और उन्हें सुरक्षा की गारंटी देने की भी है।
-गवर्नर इस मामले में सीएम को चिट्ठी लिखेंगे, राष्ट्रपति को भी पूरा प्रकरण बताएंगे।

यह भी पढ़ें…संगीत सोम को कैराना जाने से रोका, SP नेता ने उड़ाई धारा 144 की धज्जियां

जांच दल अध्यक्ष ने क्या कहा?
-बीजेपी जांच दल अध्यक्ष सुरेश खन्ना ने बताया कि गुंडे लोगों को धमकाकर रंगदारी वसूल रहे हैं।
-रंगदारी न देने पर साल 2014 में तीन व्यापारियों की हत्या किए जाने का उन्होंने दावा किया।
-लोग इतने डरे हुए हैं कि बच्चों, खासकर लड़कियों को स्कूल नहीं भेज पा रहे हैं।
-माइक लगाकर कीर्तन-भजन और धार्मिक आयोजन भी लोग नहीं कर पा रहे हैं।
-अपराधियों के खौफ से औने-पौने दाम पर संपत्ति बेचकर या छोड़कर कैराना से जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें…संगीत सोम ने दिया अल्‍टीमेटम, कहा-15 दिन बाद फिर करेंगे यात्रा

सांसद हुकुम सिंह ने क्या कहा?
-हुकुम सिंह ने कहा कि कैराना के खराब माहौल का विडियो सीएम अखिलेश यादव को दिखाया था।
-मुख्यमंत्री भी कुछ नहीं कर सके, शायद उनकी मजबूरी रही होगी।
-सांप्रदायिक मामला नहीं, अपराधियों ने कैराना का माहौल खराब किया।
-शामली के डीएम दो महीने पहले आए हैं, मैं 40 साल से राजनीति कर रहा हूं।
-पलायन करने वालों की अपनी लिस्ट पर कायम रहने का भी हुकुम ने दावा किया।

यह भी पढ़ें…शिवपाल का PM पर निशाना,कहा-गुजरात दंगे के बाद पलायन हुए,कैराना से नहीं

बीजेपी ने उठाए ये अहम सवाल
-80 हजार की आबादी वाले कैराना कस्बे में एक भी पेट्रोल पंप क्यों नहीं है?
-बीते चार साल में कितने हिंदू संपत्ति बेचकर गए और इन संपत्तियों को किसने खरीदा?
-कैराना में कितने शस्त्र लाइसेंस किस वर्ग को जारी हुए?
-कितने लोगों के खिलाफ हिस्ट्रीशीट खोली गई और गुंडा एक्ट में कार्यवाही हुई?
-कितनों को गुंडा एक्ट में जिला बदर किया गया?