जानिए, क्या है मोदी की उज्ज्वला योजना, कैसे करें APPLY ?

लखनऊ: पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को मजदूर दिवस पर गरीब परिवार के लोगों के लिए उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन देने की शुरुआत की है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ग्रामीण इलाकों में रहने वाली गरीब तबके की 5 करोड़ महिलाओं को आने वाले 3 सालों के दौरान मुफ्त में गैस सिलेंडर मुहैया कराने जा रही है।

धुएं से मिलेगी आजादी
-ऐसे करोड़ों परिवार हैं, जो आज भी पारंपरिक चूल्हे में उपले और लकड़ी का उपयोग कर खाना बनाने को मजबूर हैं।
-भारत में खाना पकाने के दौरान धुएं की वजह से साल में 9 लाख से भी ज्यादा महिलाएं कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाती हैं।
-एलपीजी गैस के इस्तेमाल से इस तरह होने वाली मौतों को रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें …
5 करोड़ मां को मिलेगी धुएं से आजादी, PM ने लॉन्च की उज्ज्वला योजना

Give It Up से बचे पैसों से शुरू की गई है योजना
-पीएम मोदी ने पूरे देश से अपील के तौर पर Give It Up योजना की शुरूआत की थी।
-उन्होंने सक्षम लोगों से रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी छोड़ने की अपील की थी।
-पीएम को मीडिल क्लास का साथ मिला।
-इससे जो पैसे बचे, उससे गरीबी रेखा के नीचे जिंदगी बिताने वाले परिवारों को ये एलपीजी गैस कनेक्शन दिए जा रहे हैं।
-बता दें कि Give It Up योजना के तहत 1.13 करोड़ लोगों ने स्वेच्छा से गैस सब्सिडी छोड़ी है।

यह भी पढ़ें … PM के आने से पहले फिर याद आया स्‍वच्‍छता अभियान, नेताओं ने थामी झाडू़

उज्ज्वला योजना से जुड़े कुछ तथ्य
– 10 मार्च, 2016 को आर्थिक मामलों पर मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने बीपीएल परिवारों की महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन दिए जाने वाली ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ (PMUY) को मंजूरी दी।
– इस योजना के तहत बीपीएल परिवारों को 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन देने के लिए 8,000 करोड़ रुपए का फंड एलोकेट किया गया है।
– हर बीपीएल परिवार को एलपीजी कनेक्शन के लिए 1600 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
– योजना को वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19 में लागू किया जाएगा।

-देश के इतिहास में पहली बार पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय निर्धनतम परिवारों की करोड़ों महिलाओं को फायदा पहुंचाने वाली योजना को लागू करेगा।
-जीवाश्म ईंधन पर आधारित खाना बनाने से स्वास्थ्य से जुड़ी गंभीर समस्याएं देखी गई हैं।
-विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक स्टडी के अनुसार भारत में 5 लाख लोगों की मृत्यु अस्वच्छ जीवाश्म ईंधन के कारण होती है।
-एक्सपर्ट्स के मुताबिक़, रसोई में खुली आग जलाना प्रति घंटे 400 सिगरेट जलाने के बराबर है।

-बीती 29 फरवरी को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में बीपीएल परिवारों की 1.5 करोड़ महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने के लिए 2000 करोड़ रुपए का बजट एलोकेट किया था।
-इसके साथ ही बजट में 5 करोड़ परिवारों तक योजना का लाभ पहुंचाने के लिए योजना को 2 और साल तक लागू किए जाने की घोषणा भी की गई थी।
-बीपीएल परिवारों का चुनाव राज्य और संघ शासित प्रदेशों की सरकारों की सलाह पर किया जाएगा।

यह भी पढ़ें … मोदी करेंगे ई-रिक्शा की सवारी, DRM को सौंपेंगे 16 रिक्शों की चाबी

कैसे करें अप्लाई उज्ज्वला स्कीम का फायदा उठाने के लिए
-उज्जवला स्कीम का फायदा उठाने के लिए बीपीएल परिवार के सभी सदस्यों के नाम आधार कार्ड पर होना जरूरी है।
-योजना का फायदा लेने के लिए ग्राहकों को 30 अप्रैल तक अप्लाई करना होगा।

-इसके लिए एप्लिकेंट को बीपीएल राशन कार्ड, आधार कार्ड, बैंक पासबुक के साथ 3 फोटो के साथ अप्लाई करना होगा।
-अलग अलग गैस एजेंसी इस योजना के तहत गैस कनेक्शन के साथ रेगुलेटर, रबर टयूब, गैस स्टोव मुफ्त देंगी।

-इंडेन में पहले आओ पहले पाओ के आधार पर ये फ्री गैस कनेक्शन दिया जाएगा।
-वहीं एचपीसीएल इस स्कीम के तहत कस्टमर्स को एक सिलेंडर, एक रेगुलेटर की सिक्योरिटी राशि, कार्ड और सिक्यूरिटी फ्री दी जाएगी।

-इसके साथ 775 और 555 रुपए का गैस स्टोव और गैस सिलेंडर के रीफिल की कीमत को भी लोन पर लेने की छूट मिलेगी।
-लेकिन ये पैसा अगले रीफिल पर ब्याज सहित चुकाना होगा।