योगी सरकार के ढाई साल: सीएम ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड, गिनाईं उपलब्धियां

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने आज ढाई साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है। इस मौके पर सीएम योगी आज सरकार की उपलब्धियों को बताने के लिए पत्रकारों से मुखातिब हुए। उन्होंने कहा कि गुजरे इन सालों में लोगों का नजरिया बदला है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने आज ढाई साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है। इस मौके पर सीएम योगी आज सरकार की उपलब्धियों को बताने के लिए पत्रकारों से मुखातिब हुए।

उन्होंने सरकार के कार्यकाल पर उपलब्धि पुस्तिका का विमोचन किया। पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि गुजरे इन सालों में लोगों का नजरिया बदला है।

कामकाज की बदौलत उनकी सरकार ने जनता का विश्वास हासिल किया है। अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि हमारी सरकार ने वर्क टीम के रूप में काम करते हुए। उत्तर प्रदेश के प्रति बने निगेटिव परसेप्शन को बदला।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने मोटर वाहन संशोधन कानून पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

सरकार बनने पर हर क्षेत्र में चुनौतियां थी: सीएम योगी

14 साल के वनवास के बाद 19 मार्च 2017 को प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी थी। तब हमारी सरकार के सामने हर क्षेत्र में चुनौतियां थी, लेकिन हमने मुश्किलों को मौकों में बदल कर यहां सुशासन लाने के कामयाबी पाई।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने ढाई साल के कार्यकाल ने यूपी से पहचान के संकट को खत्म किया। शासन की विश्वनीयता बढ़ी। सभी मंत्रियों ने बेहतर काम करने का प्रयास किया।

उन्होंने कहा कि  हमने ढाई साल में बहुत काम किया है। शहरों में 24 घंटे तो गांवों में 18 घंटे जली मिल रही है। हमारी सरकार बनने के बाद हमने हर क्षेत्र मे चुनौती का सामना किया। हमारी सरकार ने 1.9 करोड़ से ज्यादा बिजली कनेक्शन दिए।

193 नए इंटर कॉलेजों की शुरुआत की गई। स्कूल चलो अभियान के तहत 1.80 करोड़ बच्चों का दाखिला हुआ। 86 लाख किसानों का 1 लाख तक का कर्ज माफ हुआ। शौचालय निर्माण में यूपी नंबर एक पर  है। 25 लाख आवास प्रधानमंत्री आवास योजना में उपलब्ध कराए गए।

ये भी पढ़ें…सीएम योगी आदित्यनाथ की इस चिंता से आप नहीं होंगे वाकिफ

बंद चीनी मिलों को दोबारा शुरू करवाया: सीएम योगी

उन्होंने कहा कि हमने जो भी हासिल किया है वो एक टीमवर्क है। उत्तर प्रदेश की छवि को दुनिया के सामने रखा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बंद चीनी मिलों को दोबारा शुरू करवाया जाएगा।

इसके बाद सीएम योगी ने पुलिस व्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इसे सुधारने के लिए 24 हजार करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है। इसके साथ ही एंटी-रोमियो स्क्वायड और एंटी-भूमाफिया अभियान भी चलाया गया।

सीएम योगी ने इसके बाद कुंभ की सफलता पर बात करते हुए कहा कि कुंभ की इंटरनेशनल ब्रांडिंग हुई और इसके तहत 137 देशों को बुलाया गया। हमने भ्रष्टाचार के सवाल पर अपनों को भी नापा है। वहीं सामूहिक विवाह योजना के तहत 68 हजार लड़कियों की शादी कराने का काम किया गया है।

जापानी इंसेफ्लाइटिस पर रोक

योगी सरकार ने पूर्वी यूपी में जापानी इंसेफ्लाइटिस पर रोक लगाने की बात करते हुए कहा कि हमने काफी हद तक इस बीमारी पर रोक लगाई। 38 जिलों में दिमागी बुखार प्रभावी था जिसमें 65 फीसदी की कमी आई है।

12 मेडिकल कॉलेज से बढ़ाकर हम 1 मेडिकल यूनिवर्सिटी, 2 एम्स और 15 नए मेडिकल कॉलेज बना रहे हैं। 14 नए प्रस्ताव केंद्र के स्तर पर लंबित हैं। उन्होंने कहा कि दशकों से लंबित कई योजनाओं को हमने लागू किया। न्यूनतम दाम और समर्थन मूल्य यूपी सरकार ने लागू किया।

अपराध पर लगाम

राज्य में अपराध पर लगाम लगाए जाने की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी बेहतर कानून व्यवस्था के चलते गुजरे ढाई सालों में दुर्दांत अपराधी राज्य से बाहर चले गए हैं। डकैती की घटनाओं में 54 फीसदी की कमी आई है।

हत्या के मामलों में 15 फीसदी और लूट की घटनाओं में 43 फीसदी की कमी आई है। जबकि अपहरण के मामलों में 30 फीसदी और बलवा की घटनाओं में 38 फीसदी की कमी आई है।

ये भी पढ़ें…सोनभद्र: सीएम योगी आदित्यनाथ ने उम्भा गांव जाकर लोगों का दर्द बांटा