लोरी सुनाते हुए खुद सो गई दादी, गोद से बच्ची उठा ले गया तेंदुआ

बहराइच: दादी की गोद में लोरी सुनते-सुनते सो रही मासूम को घर में घुसकर तेंदुआ उठा ले गया। जब दादी उठकर बाहर आईं  तो उनहोंने  देखा कि मासूम अपनी जान बचाने के लिए तेंदुए से घर के बाहर खेत में जिंदगी की जंग लड़ रही थी। आखिरकार मासूम बच्ची ने हिम्मत हारकर तेंदुए के मुंह में दम तोड़ दिया।

क्या है मामला ?
-यह घटना श्रावस्ती जनपद के सिरसिया थाना क्षेत्र के बालू गांव की है।
-रामसुंदर की ढाई साल की बेटी कुमारी सुदामा अपनी दादी के साथ सो रही थी।
-दादी उसे अपने गोद में लेकर लोरी सुना रही थीं।
-लोरी सुनते-सुनते बच्ची सो गई।
-बच्ची को सोए हुए मात्र 10 मिनट ही हुए थे कि अचानक घर में तेंदुआ आ गया।
-तेंदुआ दादी के हाथों से बच्ची को उठा ले गया।

15 मिनट तक लड़ी तेंदुए से जंग
-बच्ची की दादी बताती हैं  कि वह जल्दी से उठकर घर के बाहर आईं।
-उन्होंने देखा कि बच्ची अपनी जिंदगी की जंग तेंदुए से लड़ रही थी।
-तेंदुए के खौफ को देखते हुए दादी कुछ भी बोल न सकीं।
-दादी कहती हैं कि लगभग 15 मिनट बच्ची तेंदुए से लड़ती रही।
-जब तेंदुए ने बच्ची का मुंह अपने मुंह में दबा लिया, तब जाकर वह हिम्मत हार गई।
-आखिरकार बच्ची ने दम तोड़ दिया।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा
-अपने सामने अपनी पोती को छटपटाते हुए मरते देख दादी बेहोश हो गईं।
-बच्ची के मौत के बाद घर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
-घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।