डॉक्टर बोले- CM ऑफिस से रोज आता है कॉल, जानें क्‍यों अखिलेश के फैन ने खुद को लगाई थी आग

डॉक्टर बोले- CM ऑफिस से रोज आता है कॉल, जानें क्‍यों अखिलेश के फैन ने खुद को लगाई थी आग
SUDHANSHU SAXENA

लखनऊ: मैं सीएम अखिलेश यादव का जबर्दस्त फैन हूं…उनके लिए कुछ भी कर सकता हूं…देखिए​ ​मेरे दाहिने हाथ पर मैंने अखिलेश यादव के नाम का टैटू भी बनवाया है…

ये शब्‍द हैं समाजवादी पार्टी के छात्रसभा के पूर्व प्रदेश उपाध्‍यक्ष राहुल सिंह के, जो इस समय राजधानी के सिविल हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं।

प्रदेश की राजधानी में बीते दिनों सीएम अखिलेश यादव के परि’वार’ में गजब का दंगल देखने को मिला। इस दौरान जब सीएम को सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने पार्टी से 6 साल के लिए निकालने का फैसला सार्वजनिक किया तो आहत होकर राहुल ने खुद को आग के हवाले कर दिया। इसमें वे गंभीर रूप से झुलस गए। आनन-फानन में उन्‍हें सिविल हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया।

सिविल हॉस्पिटल के डॉक्‍टरों ने बताया कि सीएम ऑफिस से रोज उनका हाल-चाल लेने के लिए कॉल आती है। इतना ही नहीं कई नेता भी उन्‍हें देखने हॉस्पिटल तक चलकर आ रहे हैं।

newstrack.com ने राहुल और उनके परिजनों से खास बातचीत की।  

आगे कि स्लाइड में पढ़ें राहुल से पूरी बातचीत …

खुद को जलाया ताकि युवाओं में आए उबाल
-राहुल सिंह ने बताया कि उन्‍होंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से 2006 में बीपीएड किया है।
-इसी दौरान छात्रसभा में सक्रिय हुए।
-इसके बाद सीएम अखिलेश यादव के साथ 2010 में सक्रिय रूप से पार्टी से जुड गए।
-सीएम से काफी मधुर संबंध हैं।
-जब उन्‍हें पार्टी से निकालने का फैसला सार्वजनिक हुआ तो गहरा धक्‍का लगा।
-वे हमारा भविष्‍य हैं, ऐसे में उनके लिए मैंने खुद को आग के हवाले किया।
-ताकि युवाओं में उबाल आए और अखिलेश यादव के साथ संघर्ष करने में कभी भी पीछे न हटें।

साथ चलने वाले युवाओं का नहीं होता शोषण
-राहुल सिंह ने बताया कि उन्‍होंने जितनी भी राजनीति की है।
-उसमें उन्‍होंने सीएम अखिलेश जैसा नेता नहीं देखा।
-कई पार्टियों में नेता युवाओं का मिसयूज करते हैं।
-सिर्फ समाजवादी पार्टी में युवाओं का भविष्‍य सुरक्षित है।
-इसलिए सपा ज्‍वाइन की और धीरे धीरे सीएम से व्‍यक्तिगत संबंध बन गए।
-वर्ष 2012 में सीएम के साथ क्रांति रथ यात्रा में रहा और विधानसभा चुनावों में जमकर प्रचार किया।
-इतना ही नहीं बल्कि दिल्‍ली से लखनऊ तक साइकिल यात्रा भी की।

आगे कि स्लाइड में पढ़ें इस पूरे मामले पर क्या कहना है राहुल के पिता का …

पिता बोले- नहीं कोई अफसोस, सीएम के लिए दीवाना है बेटा
-राहुल सिंह के पिता अवधेश सिंह पेशे से वकील हैं।
-जब उनसे उनके बेटे की इस हालत‍ के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने कहा, ‘मेरा बेटा सीएम का दीवाना है।’
-हमें उसकी इस हालत पर उसकी चिंता जरूर होती है।
-लेकिन उसकी दीवानगी देखकर हमें अफसोस नहीं होता।

-सीएम राहुल का बहुत ध्‍यान रख रहे हैं।
-हॉस्पिटल में डॉक्‍टर्स का पैनल उसकी जांच में लगा हुआ है।
-डॉक्‍टर्स को विशेष इंस्‍ट्रकश्‍ंस हैं और हमें कोई दिक्‍कत नहीं है।
-भगवान बस हमारे बेटे को जल्‍दी से ठीक कर दे।

आगे कि स्लाइड में पढ़ें क्या कहना है राहुल का 

डॉक्‍टर्स बोले- 72 घंटे हैं काफी अहम
-सिविल हॉस्पिटल के डॉक्‍टर अनिल सिंह ने बताया कि राहुल को यहां 30 दिसंबर को लाया गया था।
-उस समय ये करीब 60 प्रतिशत तक झुलसे हुए थे।
-हालत गंभीर थी और राहुल के शरीर में जलन के साथ भीषण दर्द हो रहा था।
-हमने अभी इमरजेंसी वार्ड में उन्‍हें 72 घंटे के आब्‍जर्वेशन पर रखा हुआ है।
-इसके बाद उनके आगे के इलाज की रणनीति बनाई जाएगी।
-डॉक्‍टर्स का पैनल दिन में तीन बार प्रापर आब्‍जर्वेशन कर रहा है। ​

आगे कि स्लाइड में देखें राहुल कि अन्य तस्वीरें …

डॉक्टर बोले- CM ऑफिस से रोज आता है कॉल, जानें क्‍यों अखिलेश के फैन ने खुद को लगाई थी आग
डॉक्टर बोले- CM ऑफिस से रोज आता है कॉल, जानें क्‍यों अखिलेश के फैन ने खुद को लगाई थी आग