RLB केस: कैडी की पत्नी ने कहा- खून की एक बूंद से डर जाता है मेरा पति

Published by Admin Published: February 23, 2016 | 4:53 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:26 am

लखनऊ:  RLB स्टूडेंट मर्डर केस में पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए दोनों कैडीज नसीर और माइकल उर्फ टीपू जीजा साले हैं। पुलिस और आस-पड़ोस के लोग इनके बारे में चाहे जो भी कहें, लेकिन उनकी मां और बीबी को दोनों पर भरोसा है।

मार्टिनपुरवा के रहने वाले दोनों कैडीज नसीर और टीपू को पुलिस ने रिक्शा चालकों की निशानदेही पर हिरासत में लिया है।  उनसे पूछताछ हो रही है। पुलिस का शक है कि इस पूरी वारदात के बारे में दोनों कैडीज को जानकारी थी।

नसीर की पत्‍नी से खास बात
नसीर की पत्नी फिरदौश(काल्पनिक नाम) ने कहा कि उसे अपने शौहर पर पूरा यकीन है। वे कभी भी ऐसा घिनौना काम नही कर सकते हैं। वे मेरे पति हैं। मेरा उनके साथ का रात दिन का उठना-बैठना था।  फिरदौश ने बताया कि मेरे पति बहुत कच्चे दिल के हैं अगर एक बूंद खून भी देख ले तो डर जाते हैं। और वे लाश के साथ…ये कहकर वह रोने लगती है।

बेटी के दिल में है छेद
अपने आंसू पोंछते हुए उसने आगे बताया कि दो साल हो गए निकाह को लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ की उन्होंने गुस्सा किया हो। मेरी एक बेटी है वह हमेशा उसी को लेकर परेशान रहते हैं। उसकी उम्र तो 13 महीने की हैं लेकिन उसके दिल में छेद है। डॉक्टर्स ने बताया है कि उसका अभी 13 साल और इलाज चलेगा तब वह ठीक हो पाएगी।

पैसे कमाने के लिए ज्‍वाइन किया था क्‍लब
घर के खर्चे के साथ-साथ उसके इलाज का खर्चा सर पर आ गया तो मेरे पति दर्जी के अलावा क्लब(गोल्फ क्लब)जाने लगे। इससे भ्‍ाी कुछ खर्चे निकल आते थे। लेकिन क्लब जाना उनके लिए काल हो गया। रिक्‍शाचालक ने नसीर का नाम बता दिया। फिरदौश ने कहा कि दुनिया चाहे कुछ भी कहे मुझे मेरे अल्लाताला पर भरोसा है। मुझे अपने शौहर और कानून पर भरोसा है वह उनके साथ नाइंसाफी नहीं करेगा।

टीपू की अम्‍मी ने क्‍या कहा
वहीं टीपू उर्फ माइकल के बारे में बताती हुई फिरदौश ने कहा कि वह तो बहुत बीमार रहता है, जब से पुलिस के साथ गया है दस बार उसे मिर्गी के दौरे आ चुके हैं। आज ही अम्मी उसे अस्पताल में दवा पहुंचाकर आई हैं। टीपू की अम्मी ने बताया कि पुलिस आई और पूछताछ के नाम पर लेकर चली गई। मैं अपने दामाद और बेटे को अच्छी तरह जानती हूं। वो ऐसा कुछ नहीं कर सकते हैं।

नसीर की बेटी अभी भी करती है चोकलेट का इंतजार
नसीर 6 दिन से अपने घर नहीं पहुंचा है उसकी मासूम बेटी को आज भी अपने पापा का इंतजार रहता है। भले ही वह कानून और अब्बा जैसे शब्दों से उतना वाकिफ नही है, लेकिन इतना जरूर समझती हैं कि, कोई गोदी में टहलाने वाला शाम को चोकलेट लाने वाला और उसे प्यार करने वाला अब कई दिनों से उसके पास नही आ रहा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App