ये 10 बाबा थे ‘हवस के पुजारी’, अपनी वासना को बुझाने के लिए धर्म को बनाया हथियार

बाबा वीरेन्द्र देव का ये काला आश्रम चार मंजिल का था। जिसमें हर एक मंजिल पर अलग-अलग उम्र की लड़कियों रखा जाता था। यही नहीं वहां लड़कियों की उम्र के हिसाब से उनके लिए काम तय किए जाते थे। वहीँ बताया जाता है कि इस पापी बाबा वीरेंद्र देव ने अपना ठिकाना घर की तीसरी मंजिल पर बना रखा था।

लखनऊ: भारत में ऐसे धर्म गुरुओं की कोई कमी नहीं। कई ऐसे हैं जिन्होंने खुद ही को भगवान घोषित कर दिया है, तो कुछ ऐसे जिनकी कथनी और करनी में बड़ा फर्क देखने को मिलता है।

इन ढोंगी बाबाओं ने धर्म का चोला ओढ़कर अपने कुकर्म को अंजाम दिया और फिर खुद को कानून के शिकंजे में फंसता देख इन बाबाओं ने धर्म को ही अपने बचाव में हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया। तो आइये  एक नजर पाखंड में घिरे इन आरोपियों पर।

1 .वीरेंद्र देव दीक्षित
आश्रम की आड़ में अपनी अश्लीलता की दुकान चलाने वाले दिल्ली के इस इस बलात्कारी बाबा ने अपनी अश्लीलता और काली करतूत से राम रहीम और आसाराम का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया था।

राजधानी दिल्ली के बीचो बीच रहसी इलाके में इस बाबा ने आश्रम की आड़ में अपनी काली दुनिया बसा रखी थी और यहाँ भोली भाली लड़कियों का यौन शोषण करता था।

इसकी इस काली दुनिया में जो भी लड़की जाती थी वो वहां से कभी वापस नहीं आती थी। बता दें कि यही नहीं इस पापी बाबा की करतूत का ये बस नमूना भर है। इस बाबा को लेकर जो चौकाने वाले खुलासे हुए हैं उसे सुनकर आपने रोंगटे खड़े हो जायेंगे।

आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में राम रहीम की गिरफ्तारी के बाद अब कानून के शिकंजे में एक और पापी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित जल्द फसने वाला है। इस पापी बाबा ने राजधानी दिल्ली के रोहिणी स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम से आश्रम बना रखा है।

जहाँ हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई की टीम ने आध्यात्मिक आश्रम में छापेमारी की थी। जिसमे इस टीम ने कार्रवाई के दौरान करीब 40 से ज्यादा लड़कियों को इस बाबा की काली दुनिया से आजाद कराया था। छुड़ाई गई इन लड़कियों में आधे से ज्यादा नाबालिग हैं।

रोज 10 का करता था बलात्कार
आपको बता दें कि पापी बाबा वीरेन्द्र देव का ये काला आश्रम चार मंजिल का था। जिसमें हर एक मंजिल पर अलग-अलग उम्र की लड़कियों रखा जाता था। यही नहीं वहां लड़कियों की उम्र के हिसाब से उनके लिए काम तय किए जाते थे। वहीँ बताया जा रहा है कि इस पापी बाबा वीरेंद्र देव ने अपना ठिकाना घर की तीसरी मंजिल पर बना रखा था।

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस मंजिल पर 25 से लेकर 28 साल की लड़कियों को ही रखा जा रहा था। ये बलात्कारी बाबा वीरेंद्र दीक्षित इन भोली भाली लड़कियों को यहाँ अपनी हवस का शिकार बनाता था। वह यहाँ लड़कियों से मालिश करवाता था और हर दिन कम 10 लड़कियों के साथ दुष्कर्म करता था।

ये भी पढ़ें…कलयुगी बाबा ने महज 500 रुपये के खातिर की थी पोती की हत्या

शारीरिक संबंध बनाएंगी तो होंगी पवित्र
यहाँ से आजाद हुई कई लड़कियों ने इस बलात्कारी बाबा वीरेंद्र देव को लेकर हैरान करने वाले खुलासे किये हैं। लड़कियों के मुताबिक ये बलात्कारी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित खुद को कृष्ण और शिव बताता था।

बताया जाता है कि ये बाबा लड़कियों से खद को शिव बताता था। इस पापी बाबा का कहना था कि जो लड़की उनसे शारीरिक संबंध बनाएंगी वह पार्वती बन जाएंगी। वहीँ उसे मोक्ष की भी प्राप्ति होगी।

खुद को देवी बताने वाली राधे मां की मुश्किलें बढ़ गई है। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने पंजाब पुलिस को राधे माँ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

बता दें कि पंजाब के फगवाड़ा के रहने वाले सुरेंदर मित्तल ने राधे मां के खिलाफ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के खिलाफ याचिका दर्ज की थी। जिस पर हाईकोर्ट ने मामले में एफआईआर दर्ज न करने को लेकर पुलिस को फटकार लगाई।

2. परमानंद बाबा
आपको बता दें की यूपी के बाराबंकी जिले के ये रमाशंकर तिवारी उर्फ़ परमानंद बाबा किसी से कम नहीं हैं। पाखंड और ढोंग की विरासत खड़ा करने वाले इस बाबा को महिलाओं के साथ रंगरलियाँ मानते हुए पकड़ा गया था।

लाल कपडे बांध करता था गंदा काम
बता दें की यूपी के बाराबंकी जिले के ये रमाशंकर तिवारी उर्फ़ परमानंद बाबा किसी से कम नहीं हैं। पाखंड और ढोंग की विरासत खड़ा करने वाले इस बाबा को महिलाओं के साथ रंगललियाँ मानते हुए पकड़ा गया था।

खबरों के मुताबिक यह बाबा खुद पीला कपडा पहना रहा था। वहीँ संतान सुख के लिए ये बाबा महिलाओं को वस्त्रहीन करता था। यही नहीं वह महिलाओं के कमर में लाल कपड़ा बंधता था।

बता दें कि ये सब करने के बाद ये ढोंगी बाबा महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध बनाता था। वहां के लोगों के मुताबिक इस बाबा के टोटके के झांसे में आकर महिलाएं इससे शारीरिक संबंध बना लेती थी, लेकिन एक दिन इस बाबा की अश्लील हरकतों का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। जिसके बाद से ये ढोंगी बाबा छिप गया था, लेकिन बाद में ये पुलिस के हाथ लग ही गया था।

3. संत भीमानंद महराज
बता दें कि यूपी के चित्रकूट के रहने वाला ये ढोंगी बाबा संत भीमानंद महराज के नाम से अपनी ढोंग की दूकान चलाता है। जी हां ये कामभोगी बाबा प्रवचन की आड़ में सेक्स रैकेट चलाता था। इस ढोंगी बाबा ने अपने अश्लील धंधों से खूब पैसा कमाया है।

आपको बता दें कि दक्षिण भारत के नित्यानंद स्वामी भी कामभोगी बाबाओं की लिस्ट में आता है। जी हां ये बाबा साल 2010 में सेक्स सीडी वायरल होने से आरोपों में घिरा हुआ था।

बता दें कि इस सीडी में ये पाखंडी बाबा शारीरिक संबंध बनाता हुआ नजर आ रहा था, हालाँकि एक रिपोर्ट के जरिये दावा किया गया था कि सीडी नकली है। वहीँ यह भी दावा किया गया कि इस ढोंगी बाबा को बदनाम करने की साजिश हुई है।

4. फलाहारी बाबा 
अलवर के फलाहारी बाबा काले कारनामों में राम रहीम से जरा भी कम नहीं है। ये फलाहारी बाबा इसी साल रेप केस में पकड़ा गया है। किसी ने कभी सोचा नहीं होगा कि ये फलाहारी बाबा आस्था के नाम पर ऐसा काम भी कर सकता है।

बता दें कि अपने ही अनुयायी की बेटी को इस बाबा ने अपने हवस का शिकार बनाया। 21 साल की एक लॉ स्टूडेंट के साथ रेप करने के आरोप में इस बाबा को पकड़ा गया है। इस बाबा ने इसे अपना शिकार उस समय बनाया, जब ये स्टूडेंट लड़की अपनी पहली कमाई बाबा के आश्रम में देने गई थी।

ये भी पढ़ें…रे बाबा…. ये क्या! शादी रचाई जिस पंडित ने उसी संग भागी दूल्हन

5. स्वामी ओम
भारत के सबसे बड़े टीवी रियलिटी शो बिग बॉस से चर्चा में आने वाले स्वामी ओम ने लोगों के सामने धर्म और आस्था एक फेक चेहरा बना रखा था और 2017 में उनके जब एक के बाद एक अश्लील वीडियो सामने आने शुरू हुए, तो इनकी अश्लीलता की सच्चाई लोगों के सामने आने लगी थी और इनका नकाब इनके चेहरे से उतर गया था, लेकिन खुद को बाबा बताने वाले स्वामी ओम के साथ अभी भी कुछ लोग जुड़े हुए हैं।

स्वामी ओम को इसी के चलते किसी कार्यक्रम में मारा भी गया था। इस बाबा ने अपनी अश्लील हरकतों से धार्मिक भावनाओं को कई बार आहत किया था और इसी के चलते इस पर कई सारे केस भी चल रहे हैं।

आपको बता दें कि बिग बॉस के चलते इस बाबा का काला चेहरा लोगों के सामने आया था। इसने अपनी हरकतों से इस शो का नाम खराब करना शुरू कर दिया था। जिससे इसे शो से निकाल दिया गया था।

6. बाबा राम रहीम
आपको बता दें कि इस साल का सबसे बड़ा खुलासा बलात्कारी बाबा राम रहीम को लेकर हुआ था। राम रहीम की एक के बाद एक काली करतूत जब सामने आने लगी तो लोगों के होश उड़ गए थे। वहीँ चमत्कारी गुफा और पिता जी की माफी वाला मामला के साथ साथ पापा की परी हनिप्रीत की कहानी तो जगजाहिर है।

इस बलात्कारी बाबा की सच्चाई जब लड़कियों ने बताई, तो मनो जैसे उनका ये दर्द खुद को महसूस हो रहा हो। धर्म और आस्था की आड़ में इस बाबा ने ना जाने कितनी महिलाओं की बलि चढ़ा डाली। पीड़ित महिलाओं की जुवान से निकला उनका हर दर्द सच में कोई अपने लफ्जों में कभी बयां कर सकता है।

गुप्त सुरंग का खुलासा हुआ था
डेरा के सर्च ऑपरेशन में राम रहीम के गुफा में खुदाई के दौरान एक गुप्त सुरंग का खुलासा हुआ था। गुफा का यह गुप्त रास्ता सीधे गर्ल्सर हॉस्टाल और साध्वी के कमरे में खुलता था। पांच सदस्यों के दल राम रहीम के गुफा में रेस्क्यू किया था। जिसमे एक के बाद एक राम रहीम के खुलासे होते चले जा रहे थे।

आपको बता दें कि महंगे झूमर और महंगी कुर्सियों से घिरा बाबा का ये अश्लील ठिकाना इसकी अश्लील हरकतों का अड्डा बना हुआ था। वह इसी गुफा में बेवस और बेचारी साध्वियों को अपनी हवस का शिकार बनाया करता था।

वहीँ अंदर बेवस और जुर्म को सहते हुए कई साध्वी इंसाफ को तरस रही थी। सालों से ये गुफा लोगों के लिए एक रहस्य ही बनी हुई थी।, लेकिन आखिरकार इसका खेल खत्म ही हो गया। आज

इस बलात्कारी बाबा के जुर्म की दूकान पर ताला ही नहीं, बल्कि इसे भी सलाखों के पीछे डाल दिया गया है। आपको बता दें की बलात्कारी बाबा राम रहीम का कला सच सामने आने के बाद भी अभी कई लोग ऐसे हैं जो डेरा कारोबार से जुड़े हुए हैं और डेरा के सच्चे भक्त हैं। समझ नहीं आता न जाने कितनी ही लड़कियों के बयान आ चुके हैं फिर भी लोगों को राम रहीम और डेरा के बाकी लोगों पर भरोसा है।

7. बाबा धर्मपाल
उत्तर प्रदेश में बलिया जिले की एक अदालत ने बलात्कारी बाबा धर्मपाल को दस वर्ष की कैद और एक लाख रूपए के जुर्माने की सजा सुनायी।अभियोजन के अनुसार हल्दी थाना क्षेत्र के नागपुर मठिया में पुजारी बाबा धर्मदेव दास ने 21 मार्च 2015 को अंधी युवती को अपने मठ पर बुलाया था। युवती की मां को बाबा ने बगल से दूध लाने के लिए भेजकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

अंधी युवती के साथ किया था बलात्कार

युवती के विरोध करने पर बाबा ने उसे जान से मारने के लिये चिमटे से प्रहार किया था। इस मामले में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट (प्रथम) अमरपाल सिंह की अदालत ने कल शाम दुष्कर्म के मामले में अभियुक्त बाबा को दोषी ठहराते हुए दस साल की सजा और एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।

8: बाबा सियाराम दास

सीतापुर: यूपी पुलिस ने एक किशोरी के साथ बलात्कासर के मामले में कथित बाबा सियाराम दास को गिरफ्तार किया है। किशोरी का आरोप है कि बाबा ने उसको गैरकानूनी तरीके से आठ महीने तक बंधक बनाए रखा और कई बार बलात्कार किया। पीड़िता का यह भी कहना है कि बाबा के कई शिष्यों ने भी उसके साथ बलात्कार किया।

पुलिस के मुताबिक पीडि़ता के एक रिश्तेेदार ने 50 हजार रुपये में उसको बाबा की एक शिष्यात को बेच दिया। उसके बाद पीडि़ता को पहले लखनऊ ले जाया गया और उसके बाद बाबा के मिसरिख स्थित आश्रम लाया गया, जहां बाबा ने उसके साथ बलात्कासर किया।

बाबा सप्लाई करता था लड़कियां

पीड़िता  के मुताबिक बाबा ने उसका एक एमएमएस भी बनाया और धमकाया कि यदि वह किसी को भी इस बारे में बताएगी तो उसको खतरनाक अंजाम भुगतना होगा। उसके बाद उसको आगरा स्थित आश्रम ले जाया गया और जहां आठ महीने तक रोज रात में अन्य लोगों द्वारा उसका बलात्कारर किया जाता रहा।

उसके बाद जब उसको वापस मिसरिख लाया गया तो बाबा ने फिर बलात्कातर किया। किसी तरह से पीडि़ता के हाथों बाबा का मोबाइल फोन लग गया और उसने आश्रम से ही पुलिस को फोन कर दिया।

बाबा एक गर्ल्स स्कूल भी चलाता है। पीडि़ता ने यह आरोप भी लगाया है कि बाबा इसके माध्यम से सेक्स रैकेट भी चलाता है और राजनेताओं और नौकरशाहों को भी स्कूल गर्ल्स की सप्लाई की जाती है। हालांकि बाबा ने इन सभी आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि वह कभी पीडि़ता से नहीं मिला।

9: महंत सुंदर दास महाराज

अब एक और बाबा विवादों में हैं। जोधपुर के हाई प्रोफाइल बाबा महंत सुंदर दास महाराज पर उन्हीं की एक पूर्व साध्वी ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और बाबा की तलाश जारी है। 75 साल के महंत सुंदर दास महाराज कीमतों गहनों और महंगे लिबास के शौकीन हैं।

दिल्ली और जोधपुर में उनके बड़े आश्रम हैं। दिल्ली के सब्जी मंडी इलाके में बने आश्रम में रहने वाली बाबा की पूर्व साध्वी ने उन पर बलात्कार का मामला दर्ज कराया। पीड़ित महिला का कहना है कि वो अपने कमरे में किसी न किसी बहाने से बुलाते थे और मेरे साथ जो किया वो मैं मीडिया से शेयर तक नहीं कर सकती।

साध्वी ने दर्ज कराया रेप का केस

पीड़ित महिला के मुताबिक वो 2012 में बाबा के संपर्क में आई। बाबा के कहने पर उसने अपने पति को छोड़कर आश्रम में एक दूसरे शख्स से शादी कर ली। पीड़ित के मुताबिक जब बाबा ने अक्टूबर, 2014 में उसके साथ गलत काम किया तो ये बात उसने अपने दूसरे पति को बता दी। इसके बाद दोनों ने आश्रम छोड़ दिया।

पीड़ित का आरोप है कि इस बात से नाराज बाबा ने उसके पति पर उसकी पहली पत्नी की बेटी से रेप का केस दर्ज करा दिया। फिलहाल पीड़ित का पति जेल में है। पीड़ित महिला ने कहा कि बाबा लगातार धमकियां देता था कि अगर खिलाफ गई तो सबका मर्डर करवा देंगे।

कोर्ट के आदेश पर 2 अक्टूबर को बाबा के खिलाफ मामला दर्ज हुआ और तबसे बाबा फरार है। बाबा के आलीशान आश्रम में फिलहाल सन्नाटा पसरा हुआ है।

आश्रम में हर तरफ सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। आश्रम में कुछ महिलाएं मिलीं, जिन्होंने बाबा पर लगे आरोपों को गलत बताया पीड़ित के मुताबिक बाबा के 10 हजार से ज्यादा वीआईपी भक्त हैं। उसके पास कई सौ करोड़ की संपत्ति है और उसकी दुनिया एक अंडरवर्ल्ड की तरह है और जो उसमें फंसा उसका बाहर आना मुश्किल है।

10: द्वारिकादास बाबा

कोर्ट ने निम्बार्क आश्रम वृंदावन में रहने वाले तांत्रिक को झाड़ फूंक के बहाने विवाहिता से बलात्कार करने के मामले में 25 साल के कारावास की सजा सुनाई थी। तांत्रिक वारदात के बाद से ही जेल में बंद है।

हाथरस जनपद की रहने वाली एक विवाहिता भूत प्रेत का इलाज कराने अपने पतिके साथ 19 जुलाई 2017 को वृंदावन निम्बार्क आश्रम हनुमान मंदिर में माधवविलास के रहने वाले तांत्रिक द्वारिकादास के पास आई थी।

भक्तों के साथ जबरन बलात्कार
तांत्रिक ने रात दस बजे इलाज के बहाने पति- पत्नी को रोक लिया। दोनों को छत पर बने कमरे में ले गया। पति के हाथ में एक दीपक देकर कमरे से बाहर कर दिया और कहा जबतक दीपक बुझ न जाए वह भीतर न आए।

तांत्रिक ने इस दौरान महिला का मुंह कपड़े से बांध कर बलात्कार किया। पति केआने पर पत्नी ने सारी जानकारी पति को दी। इस संबंध में पीड़िता ने थाना कोतवाली वृंदावन में रिपोर्ट दर्ज कराई।

पुलिस ने तांत्रिक को जेल भेज दिया। आठ सितंबर 2017 से केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट के न्यायाधीश विवेकानंद शरण त्रिपाठी ने शुरू की।कोर्ट ने 4 अप्रैल को तांत्रिक को 25 साल के कारावास तथा 25 हजार के जुर्माने की सजा सुनाई है।

ये भी पढ़ें…जानिए कौन हैं कंप्यूटर बाबा, कमलनाथ सरकार ने दिया ये बड़ा तोहफा