यूपी विधानसभा में प्रस्ताव: पेट्रोल-डीजल के दाम कम करे केंद्र

Published by Admin Published: February 26, 2016 | 6:35 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:26 am

लखनऊ: यूपी विधानसभा में शुक्रवार को केंद्र सरकार से राज्य में पेट्रोल, डीजल की कीमतें कम करने की सिफारिश की गई। संसदीय कार्य मंत्री आजम खां ने सदन में कीमतें कम करने का प्रस्‍ताव रखा। प्रस्ताव में कहा गया कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें काफी कम हो गई हैं। उस अनुपात में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी नहीं आई है। दो साल पहले अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल करीब 110 डालर प्रति बैरल था जो अब कम होकर लगभग 25 डालर के आस-पास रह गया है।

विधानसभा ने केंद्र से की सिफारिश
-विधानसभा ने केंद्र सरकार से सिफारिश कर दी कि जिस तरह दुनिया भर में कच्चे तेल के दाम कम हुए हैं ।
-उसी पैमाने पर देश में खासकर यूपी में तेल के दाम कम कर दिए जाएं।

क्या कहा आजम ने?
-संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने कहा कि तेल की कीमत में कभी इतनी गिरावट नहीं आई, जितनी अब आई है।
-अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर तेल के दामों में जितनी कमी आई है, यहां भी तेल के दामों में उतनी कमी की जाए।

क्या कहा स्वामी प्रसाद मौर्या ने?
-नेता विरोधी दल स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि कुछ समय पहले विदेशी बाजारों में कच्चे तेल की कीमत 150 डालर प्रति बैरल थी।
-अब यह 30 डालर प्रति बैरल से भी नीचे आ गया हैं।
-इस अनुपात में डीजल 20 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल 30 रुपए प्रति लीटर होना चाहिए।

बीजेपी ने क्या कहा?
-बीजेपी नेता सुरेश खन्ना ने कहा कि पहले प्रदेश सरकार 18 से 19 फीसदी अपना टैक्स कम करे।
-उन्होंने कहा कि हर बात के लिए केंद्र को ही जिम्मेदार ठहराया जाता है जो कि गलत है।