×

Meerut: आवारा गायों का सवाल पूछना भाजपाइयों को गुजरा नागवार, किसान को धक्केमारकर निकाला बाहर

Meerut: मेरठ के एक किसान द्वारा जंगल में घूम रही आवारा गायों का सवाल उठाना मौजूद भाजपाइयों को इस कदर नागंवार गुजरा कि सवाल पूछने वाले किसान को भाजपाइयों के कथित इशारे सुरक्षा गार्ड ने कार्यक्रम स्थल से बाहर कर ‌दिया

Sushil Kumar
Updated on: 22 May 2022 2:18 PM GMT
Meerut News In Hindi
X

 मेरठ में दुग्ध उत्पादन कंपनी के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Meerut: उत्तर प्रदेश के मेरठ के एक कार्यक्रम में एक किसान द्वारा जंगल में घूम रही आवारा गायों का सवाल उठाना मौजूद भाजपाइयों को इस कदर नागंवार गुजरा कि सवाल पूछने वाले किसान को भाजपाइयों के कथित इशारे सुरक्षा गार्ड ने कार्यक्रम स्थल से बाहर कर ‌दिया। किसान ने मासूमियत से यह सवाल पूछा था जंगल में जो गाय घूम रहीं हैं उनका क्या होगा। इससे किसान परेशान हैं।

सुरक्षा गार्ड ने सवाल पूछने वाले किसान को हाल से किया बाहर

दरअसल, आज परतापुर बाईपास मंगलम आडिटोरियम सुभारती में एक नई बनी हरीत प्रदेश दुग्ध उत्पादन कंपनी के द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम को यूं तो केंद्रीय मत्स्य पालन पशुपालन और डेयरी राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान के अलावा सांसद राजेंद्र अग्रवाल,राज्यसभा सदस्य विजय पाल सिंह तोमर, बुलंदशहर के सांसद भोला सिंह, राज्यसभा की सदस्य कांता कर्दम, कैराना लोकसभा के सदस्य प्रदीप कुमार और मदर डेयरी और एंड डीवीडी के अध्यक्ष ने भी संबोधित किया। घटना तब हुई जब कार्यक्रम बुलंदशहर के सांसद भोला सिंह संबोधित करते हुए पशुओं के लिए शुरु एम्बुलेंस सेवा पर अपने विचार रख रहे थे। आडिटोरियम में बैठा एक किसान खड़ा होकर पूछने लगा कि जंगल में जो गाय घूम रहीं हैं उनका क्या होगा। इससे किसान परेशान हैं। किसान के इस सवाल पर सासंद भोला सिंह समेत मौके पर मौजूद तमाम भाजपाई एक बार को भौचक रह गए। कुछ ही देर बाद सुरक्षा गार्ड ने सवाल पूछने वाले किसान को हाल से बाहर कर दिया।

प्रदेश में सबसे अधिक दूध उत्पादन: डॉ संजीव बालियान

कार्यक्रम में केंद्रीय मत्स्य पालन पशुपालन और डेयरी राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान (Union Minister of State for Fisheries, Animal Husbandry and Dairying Dr. Sanjeev Balyan) ने नई बनी कंपनी का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में सबसे अधिक दूध उत्पादन हो रहा है। उन्होंने पराग का नाम लेते हुए कहा कि हमारे प्रदेश में पराग की शुरुआत की गई थी लेकिन अब वह ठीक से काम नहीं कर पा रहा है। ऐसे में किसानों को एक नई कोआपरेटिव की जरूरत हैउन्होंने कहा कि इन संस्थाओं का सदस्य पशुपालक यानी किसान भी होगा। उससे होने वाली आय का सीधा लाभ किसान को पहुंचेगा। उन्होंने बताया कि हरित प्रदेश संस्था फिलहाल पश्चिम उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, शामली, मेरठ, बिजनौर, हापुड़ और सहारनपुर में काम कर रही है। इन 7 जिलों से लगभग 15 से गांव के किसानों से 1.35 लाख लीटर दूध का संग्रह किया जा रहा है।

प्रदेश और देश में 4500 वेटेनरी एंबुलेंस शुरू किए: बालियान

इस मौके पर केन्द्रीय राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सरकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि अब किसान पशुपालकों को अपने बीमार पशुओं को लेकर अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा, क्योंकि भारत सरकार ने किसानों के द्वार पहुंचकर पशुओं का इलाज करने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था कर दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश और देश में 4500 वेटेनरी एंबुलेंस शुरू किए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में 450 एंबुलेंस काम करेंगे। जून से एंबुलेंस टोल फ्री नंबर पर उपलब्ध होगी। इस पर फोन करने पर एम्बुलेंस किसानों के पास आधे घन्टे में पहुँचेगी। उनके पशुओं का इलाज करेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान हित में यह बड़ा कदम उठाया है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story