Top

पैर छूकर केशव ने किया सीनियर्स को इंप्रेस, सोशल मीडिया पर हैं एक्टिव

Admin

AdminBy Admin

Published on 11 April 2016 7:03 AM GMT

पैर छूकर केशव ने किया सीनियर्स को इंप्रेस, सोशल मीडिया पर हैं एक्टिव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कुर्सी मिलने के बाद ही पार्टी के सीनियर लीडर्स के साथ संतुलन बनाने की कोशिश शुरू कर दी है। अध्यक्ष बनने के बाद से ही उन पर पार्टी में पकड़ को लेकर सवाल उठने लगे थे। पार्टी के बुजुर्गों को तवज्जो देने के अलावा केशव सोशल मीडिया पर भी एक्टिव हैं। ये बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के लिए अच्छी खबर है।

ये भी पढ़ें: ये हैं नए UP BJP अध्यक्ष, मोदी की तरह बचपन में बेची चाय-बांटे अखबार

keshav-with-rajnath

केशव मौर्या बीजेपी के उन सीनियर लीडर्स से मिले, जिन्हें हाशिए पर रखे जाने को लेकर काफी चर्चा रही। 90 के दशक में उन्होंने पार्टी के जान फूंकने के अहम योगदान दिया। केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद से ही बीजेपी के नई पीढ़ी के नेताओं पर सीनियर लीडर्स की उपेक्षा के आरोप लगते रहे हैं। कभी-कभी ये आरोप मुद्दा भी बन गए, लेकिन केशव मौर्या ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से आशीर्वाद लिया। साथ ही कलराज मिश्र, कल्याण सिंह और मुरली मनोहर जोशी से भी मिले और उनके पैर छुए। इसके अलावा संगठन महामंत्री रामलाल और मुख्तार अब्बास नकवी से भी मुलाकात की।

ये भी पढ़ें: केशव कहानी: UP BJP के नए चीफ ने कभी की मजदूरी,आज है करोड़ों की संपत्ति

keshav-with-kalraj

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं केशव

हाल ही में अमित शाह ने यह साफ कर दिया था कि चुनाव ​में टिकट उन्हीं को दिया जाएगा जो सोशल मीडिया पर जनता से जुड़े होंगे। पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद केशव मौर्या ने उनके इसी संदेश को आगे बढ़ाया है।

-केशव फेसबुक पर लगातार सक्रिय हैं।

-पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद से ही वह अपनी हर गतिविधि उनके फेसबुक अकाउंट पर अपडेट हो रही है।

-फेसबुक पर उनसे 5 हजार लोग जुड़े हैं।

-करीब 31 हजार से ज्यादा लोग उन्हें फालो कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: केशव के हाथ कमल: चुनाव में राष्ट्रवाद, राम मंदिर को आगे कर सकती है BJP

Keshav-with-ram-naik

keshav-with-murali

keshav-maurya

Admin

Admin

Next Story