कैदियों के इस काम पर नोडल अधिकारी बोले वाह, बदल गई जिला जेल

उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव टी वेंकटेश को जब से उत्तर प्रदेश सरकार ने मेरठ का नोडल अधिकारी बनाया है तभी से लगातार उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव जनपद मेरठ में जगह-जगह जाकर निरीक्षण कर रहे हैं, साथ ही लगातार मेरठ जनपद के अधिकारियों से भी बैठक कर कोरोना महामारी से बचाव के बारे में महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं।

मेरठः नोडल अधिकारी व उत्तरप्रदेश के प्रमुख सचिव सिंचाई टी वेंकटेश ने आज जिला कारागार का निरीक्षण कर वहां कैदियों द्वारा बनाये जा रहे मॉस्क को देखा तथा उसकी सराहना की। उन्होने वहां कैदियों द्वारा बनाये जा रहे अन्य सामान जैसे फुटबॉल, स्पोर्टस आईटम, ट्रेक सूट आदि के कार्यों को भी देखा।

मेरठ जिला कारागार के वरिष्ठ जेल अधीक्षक बी डी पाण्डेय  ने बताया कि जिला कारागार में करीब 30 कैदियों द्वारा 200 से 250 मास्क प्रतिदिन बनाये जाते है। उन्होने बताया कि जिला कारागार में मार्च माह से मॉस्क बनाने का कार्य किया जा रहा है। अब तक करीब 01 लाख 28 हजार मास्क बनाये जा चुके है।

उन्होने बताया कि जिला कारागार की बंदी कल्याण एवं पुनर्वास सहकारी समिति जिसमें कैदी व जिला कारागार के अधीक्षक सदस्य है जिनके द्वारा स्थानीय कम्पनियों से प्राप्त जॉब वर्क ऑर्डर के आधार पर कारागार में फुटबाल, स्पोर्ट्स आईटम, टै्रक सूटस आदि बनाने का कार्य भी किया जाता है।

जागरुकता का सतत अभियान

उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव टी वेंकटेश को जब से उत्तर प्रदेश सरकार ने मेरठ का नोडल अधिकारी बनाया है तभी से लगातार उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव जनपद मेरठ में जगह-जगह जाकर निरीक्षण कर रहे हैं, साथ ही लगातार मेरठ जनपद के अधिकारियों से भी बैठक कर कोरोना महामारी से बचाव के बारे में महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं।

सिंचाई सचिव पूरी मेहनत के साथ जनपद मेरठ में डटे हुए हैं वो अधिकारियों से भी और जनता से भी बार-बार सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करने की बात कर रहे है साथ ही हॉस्पिटलों में सैनिटाइजेशन का लगातार प्रयोग के भी वो निर्देश दे रहे हैं।

मेरठ के नोडल अधिकारी लगातार निरीक्षण के बाद अधिकारियों व डॉक्टरों तथा अन्य जिनसे भी वार्ता कर रहे हैं उनके द्वारा किये गए अच्छे कामो की भी सिंचाई सचिव लगातार सराहना भी करते हुए दिखाई दे रहे हैं। नोडल अधिकारी के जिला कारागार के दौरे के दौरान मेरठ डीएम अनिल ढींगरा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी, मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन, एस पी सिटी अखिलेष नारायण सिंह आदि मौजूद रहे।

मेरठ से सादिक़ खान की रिपोर्ट