उत्तर प्रदेश

इस माक ड्रिल के दौरान रेवाड़ी कानपुर पाइप लाइन में उपलब्ध सुरक्षा उपकरणों का भी बेहतर प्रदर्शन किया गया तथा उसकी जानकारी वहाँ उपस्थित लोगों को दी गयी। इस मौके पर आस पास के ग्रामीण जिसमें महिलाएं और बच्चे भी बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

तत्काल डीएम अखिलेश तिवारी भी उनसे खुश नहीं थे, कार्रवाई के लिये कई बार शासन को पत्र भेजा, कुछ नहीं हुआ। जिले की नोडल अधिकारी और जिले की प्रभारी मंत्री स्वाति सिंह ने भी कई बार नारजगी जाहिर की। सीएमओ तो नहीं हटे, डीएम का तबादला जरूर हो गया।

प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद पूरी परीक्षा प्रणाली की सतर्कता विभाग से जांच हुई तो इसमें ऐसी कोई बात सामने नहीं आई। इस बीच मामला कोर्ट भी पहुंच गया। कोर्ट के परीक्षा परिणाम जारी करने के आदेश के बाद इसे जारी किया गया हैं।

उत्तर प्रदेश के अंदर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस ने अजय राय के कंधे पर बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। पार्टी ने अजय राय को स्टार प्रचारकों की लिस्ट में जगह दी है। इस आदेश के बाद अजय राय समर्थकों में खुशी की लहर देखी जा रही है।

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में अब मुजफ्फरनगर जैसी घटनाएं बंद हो गई, हमारी सरकार में अभी तक प्रदेश में कहीं कोई दंगा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि फिरोजाबाद लोकसभा सीट जिताकर जनता ने परंपरागत गुंडागर्दी को समाप्त किया।

13 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलाने में सफलता प्राप्त की गयी है उनमे फतेहपुर के तीन अभियुक्तों मोनू, महेन्द्र व राजेन्द्र को आम तोड़ने के विवाद में ननिहाल आये बच्चे षिवराम को गोली मारकर उसकी हत्या करने के अभियोग में आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया।

बदलाव की कहानियों से अगर आमने- सामने का अनुभव हासिल करना चाहते हैं तो आपको झांसी के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों के अनुभवों से रूबरू होना पड़ेगा.

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने  बताया कि पीएम स्वनिधि योजना में पीएम 27 अक्टूबर को आनलाइन बैंक ऋण जारी करने के साथ वेंडरों से बात करेंगे।

फ्लैट रेट को लेकर बुनकरों के आंदोलन ने अब राजनीतिक रंग लेना शुरु कर दिया है। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने बुनकरों का साथ देने का ऐलान कर दिया है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि यह संवाद भोजपुरी, अवधी, ब्रज, बुन्देली आदि उसी क्षेत्रीय भाषा में भी किया जायेगा जिसका उपयोग शिकायतकर्ता द्वारा किया जायेगा। अलग-अलग क्षेत्रीय भाषाओं में उत्तर देने के लिए उसी क्षेत्र के संवाद अधिकारियों को 112-यूपी के अधिकारियो द्वारा चुना गया है।