उत्तर प्रदेश

शिक्षा विभाग में लगातार भ्रष्टाचार एवं फर्जीवाड़े का खेल सुनने और देखने को मिल रहा है। फिर भी न तो विभाग सतर्क है न ही फर्जीवाड़ा रूकने का नाम ही ले रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब देश की कमान संभाली तो उन्होंने एक नारा दिया. बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ. मोदी के इस सपने को साकार कर रही हैं, उन्हीं के संसदीय क्षेत्र की एक बेटी. नाम है डॉक्टर शिप्राधर. पेशे से डॉक्टर शिप्रा धर पर आज पूरा बनारस नाज करता है. और करें भी क्यों नहीं.

धर्म नगरी काशी से गंगा सफाई के महाअभियान का शंखनाद हुआ है. सरकारी महकमे के साथ आम जनमानस को जोड़ना इस अभियान का प्रमुख मकसद है. बनारस में गंगा किनारे के 84 घाटों पर 1600 वॉलेंटियर्स मैदान में एक साथ उतरें.

गठवाला खाप से बड़ी संख्या में लोग गाजीपुर बॉर्डर जा रहे हैं। उनका केवल और केवल एक ही मकसद है जब तक यह तीनों कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक धरना बदस्तूर जारी रहेगा।

महिला दिवस इस साल प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के तहत कुछ खास तरीके से मनाया जाएगा। स्‍कूलों में चौपाल लगाकर महिला स्‍वावलंबन और सुरक्षा की बात की जाएगी तो वहीं, सरकार के निर्देश पर महिलाओं शहर की प्राचीन इमारतों की सैर निशुल्‍क कर सकेंगी।

उन्होंने कहा कि जिस तरह पुरुष की सफलता के पीछे महिला का हाथ होता है उसी तरह महिला की सफलता के पीछे भी पुरुष का हाथ और साथ दोनों होता है।

ये पूरा वाकया ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के गौरीपुरा का है। विनोद वर्मा सर्राफ अपने परिवार के साथ यहां पर रहते थे। शनिवार रात अचानक पिता पुत्र के बीच किसी बात पर कहासुनी हो गई।

हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण किरदार निभाती हैं। अपनी जिम्मेदारियों में कभी बेटी, कभी पत्नी, कभी मां, कभी बहू, कभी बहन बनकर परेशानियों को दूर करती हैं। ऐसे में महिलाओं को कुछ स्पेशल अनुभव कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day) 8 मार्च को मनाया जाता है।

उन्होंने मंच से किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि यह मेरठ की धरती है। यहीं से स्वतंत्रता संग्राम का पहला विद्रोह शुरू हुआ। उस आजादी की लड़ाई में किसान शामिल रहे।

बोले कि हम गिर दों के रामचंद्र हैं, हमारी मोटरसाइकिल व हेलमेट रख लो और मोटरसाइकिल की चाबी भी ले लो। घर से हमारा लड़का आएगा, तो उसे दे देना और इसके बाद वह चले गए।