उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर से एक इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक 62 साल की बुजुर्ग महिला से रेप का मामला सामने आया है। यह घटना जिले की मुस्कुरा थाना क्षेत्र की है।

शिया मुसलमान आगामी 9 फरवरी को बड़े इमामबाड़े में अमेरिकी हमलें में मारे गये ईरान के जनरल कासिम सुलैमानी और अबू मेहंदी अल-मोहन्दिस की चहुलम की मजलिस में ...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार 20 जनवरी को नई दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में परीक्षा पर चर्चा-2020 कार्यक्रम में छात्र-छात्रओं से बातचीत करेंगे। पूरे प्रदेश से चिह्न्ति किए गए 182 विद्यार्थियों में तीन प्रतिभागी बाराबंकी के भी हैं।

दो दिनों से कानपुर में हो रही लगातार बारिश की वजह से अलग-अलग स्थानों पर दीवार गिरने से एक महिला समेत तीन मासूम बच्चों की मौत हो गई। दोनों ही परिवारों में मातम पसरा हुआ है। 

यूपी के रायबरेली जिले में मिलावटखोरी का बड़ा मामला सामने आया है। यहां नकली डाबर आंवला तेल का जखीरा पकड़ा गया है। मामला जगतपुर कोतवाली क्षेत्र के लक्ष्मणपुर कस्बे का है। पुलिस ने नकली तेल को कब्जे में लेकर एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। 

यूपी के हमीरपुर ज़िले में नाबालिग किशोरी के साथ बलात्कार किये जाने का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक गांव के ही दबंगों ने तमंचे के बल पर उसके साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया।

1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट और अजमेर धमाकों का दोषी आतंकी जलीस अंसारी (68) को यूपी की कानपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह पेरोल मिलने के बाद मुंबई से फरार हो गया था।

तेज प्रताप सिंह गोंडा: देश में दो करोड़ से भी अधिक दिव्यांग नागरिक हैं, लेकिन फिर भी जब हम किसी दिव्यांग से मिलते हैं, तो अक्सर असहज हो जाते हैं। उनके साथ सामान्य व्यवहार करने की बजाय हम जाने-अनजाने में उन्हें भी असहज महसूस करवा देते हैं। क्योंकि हमारे समाज में दिव्यांगों को उनकी शारीरिक या …

सुशील कुमार मेरठ : सरकारी जमीन पर कब्जों की परत-दर-परत खुलती जा रही है लेकिन प्रशासनिक स्तर से कार्रवाई अभी तक शून्य है। किसी मामले में जांच की बात कही जा रही है तो किसी की फाइल ठंडे बस्ते में डाल दी गई है। हद की बात तो यह है कि अंग्रेजों की हुकूमत में …

लखनऊ से वाराणसी रेल मार्ग का दोहरीकरण कार्य चल रहा है। उतरेटिया से श्रीराज नगर तक दोहरीकरण पूरा कराया जा चुका है। अब श्रीराज नगर से कुंदनगंज तक दोहरीकरण कार्य को अंतिम रूप देना है। इसीलिए नान-इंटरलॉकिंग की अनुमति का इंतजार हो रहा था, क्योंकि इस कार्य को पूरा करने के लिए ट्रैफिक ब्लॉक लेना पड़ेगा।