Top

UP में भूख से एक और मौत, मरने के बाद अखिलेश सरकार ने भेजा राशन

By

Published on 6 Jun 2016 12:28 PM GMT

UP में भूख से एक और मौत, मरने के बाद अखिलेश सरकार ने भेजा राशन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: अपनी सरकार को गरीबों और मजदूरों की सरकार बताकर ना थकने वाले यूपी के सीएम अखिलेश यादव के दावों की सच्चाई सोमवार को यूपी के बाराबंकी जिले में तार-तार हो गई। जहां गरीब श्रीकांत की भूख से हुई मौत के बाद जिला प्रशासन श्रीकांत की मौत को बीमारी से हुई मौत सिद्ध करने पर आमादा दिखाई दे रहा है तो वहीँ दूसरी ओर श्रीकांत के परिजन चीख-चीख कर प्रशासन के दावों की पोल खोल रहे हैं।

क्या है मामला ?

-मामला बाराबंकी के असंद्रा थाना इलाके के पकरिहा गांव का है।

-जहां श्रीकांत नाम का एक गरीब युवक पिछले 12 दिनों से भूख से तड़प रहा था।

-गांव के प्रधान ने भी उसकी दयनीय दशा की सुध तक नहीं ली।

-12 दिन बाद भूख से तड़प-तड़प कर श्रीकांत की मौत हो गई।

shree-kant-village

मौत के बाद अधिकारियों ने भेजी राशन की चार-चार बोरियां

-इस घटना के बाद जिले के आलाअधिकारी भी मानो नींद से जाग गए।

-जहां श्रीकांत के घर बीमारी के समय एक मुट्ठी भी अनाज नहीं था।

-मौत के बाद अब आलाअधिकारियों ने श्रीकांत के घर राशन की चार-चार बोरियां भेज दीं।

यह भी पढ़ें ... बुंदेलखंड में भूख से गई एक और शख्स की जान, जेब से निकली सूखी रोटियां

भीख मांगकर भरता था पेट

-श्रीकांत का गुजर-बसर वैसे तो अपने और आस-पास के गांव में भीख मांग कर होता था।

-पिछले कुछ समय से श्रीकांत बीमार हो गया।

-इसी वजह से वह भीख मांगने के लिए घर से नहीं निकल पाया।

-इस दौरान घर में मौजूद राशन भी खत्म हो गया।

यह भी पढ़ें ... बच्चों की भूख सहन नहीं कर सकी मां, खुद को आग के हवाले कर दी जान

कच्चा आटा घोलकर खाता था श्रीकांत

-ग्रामीणों के अनुसार श्रीकांत कच्चा आटा घोलकर अपने पेट की आग को शांत करता था।

-गरीबों के लिए बनने वाला राशन कार्ड भी श्रीकांत के पास नहीं था।

-परिजनों के अनुसार पिछले 12 दिनों से घर में न तो चूल्हा जला और न ही श्रीकांत के पेट में राशन का एक दाना गया।

-इसी कारण भूख से तड़प-तड़प कर श्रीकांत की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें ... बांदा में भूख से मौत पर केशव बोले- सपा सरकार राहत देने में हुई फेल

डीएम ने कहा भूख से नहीं मरा श्रीकांत

-बाराबंकी के डीएम अजय यादव ने कहा कि श्रीकांत की मौत भूख से नहीं बल्कि बीमारी से हुई है।

-डीएम अजय यादव ने इस मामले की पूरी तह तक जाकर जांच कराने और दोष सिद्ध होने पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की बात कही है।

Next Story