×

देसी बाबू-गोरी मेम: फ़िल्मी स्टोरी से कम नहीं इस जोड़े की प्रेम कहानी

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 24 Oct 2017 11:09 AM GMT

देसी बाबू-गोरी मेम: फ़िल्मी स्टोरी से कम नहीं इस जोड़े की प्रेम कहानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शामली: कहते है ना....प्यार ना जाति-धर्म देखता है, ना उम्र देखता है और ना कोई सरहदें मानता। ऐसी ही एक लव स्टोरी सामने आई है यूपी के शामली से। यहां के रहने वाले मर्चेंट नेवी के इंजीनियर अरविंद कुमार ने हाल ही में जर्मनी की मरियम हॉफमेन से शादी की है। इनकी कहानी किसी भी फ़िल्मी स्टोरी से कम नहीं है।

ने शामली के गांव लिसाढ़ निवासी मर्चेट नेवी के इंजीनियर अरविद कुमार से शादी की है। हिदू रीति-रिवाज से शादी के उपरांत दोनों ने परिजनों संग सोमवार को तहसील पहुंचकर कोर्ट मैरिज के लिए भी अर्जी दी है।

ये है पूरा मामला:

- जनपद में सोमवार को कलैक्ट्रेट में स्थित तहसील शामली में देखने को मिला।

- यहां लिसाढ़ निवासी मर्चेट नेवी में इंजीनियर अरविंद कुमार पुत्र सोमपाल अपनी जर्मनी निवासी मरियम हॉफमेन के साथ तहसील पहुंचा।

- इन्होंने एडवोकेट सतेंद्र धीरयान के माध्यम से कोर्ट मैरिज के लिए एसडीएम के समक्ष आवेदन किया।

- बर्लिन की रहने वाली मारिया हॉफमेन और शामली के गांव लिसाढ़ निवासी अरविंद के बीच तीन साल पूर्व मर्चेंट नेवी में नौकरी के दौरान दोस्ती हुई।

- देखते ही देखते वो दोस्ती प्यार में बदल गई। बस फिर क्या था, दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया।

- दो दिन पहले ही दोनों परिवार के लोग इकट्ठा हुए और हिंदू रीति रिवाज के मुताबिक शामली के एक बैंक्वेट हॉल में शादी संपन्न करा दी गई।

- लिसाढ़ निवासी सोमपाल मलिक एयरफोर्स में हैं और इन दिनों वह दिल्ली में तैनात हैं। उनका बेटा अरविंद कुमार 2014 में मर्चेंट नेवी में भर्ती हुआ था, जिसके चलते अरविंद दो साल पहले मर्चेंट नेवी की ओर से विभागीय कार्य से जर्मनी गया था।

- इसी दौरान उसकी मुलाकात बर्लिन निवासी मारिया हॉफमेन से हुई और दोस्ती हो गई।

- एक साल पूर्व ही अरविंद ने मर्चेंट नेवी से नौकरी छोड़ दी और दिल्ली आकर उच्च शिक्षा ग्रहण करने लगा।

- इसके बाद भी उसका संपर्क मारिया से बना रहा। इसी बीच मारिया भी मुंबई आ गई, तो अरविंद से मुलाकात का सिलसिला फिर शुरू हो गया।

- करीब पांच महीने पहले दोनों के परिवार के लोगों में अरविंद और मारिया की शादी को लेकर बातचीत शुरू हुई और रिश्ता पक्का कर दिया गया।

- एक सप्ताह पूर्व मारिया हॉफमेन के माता पिता और अन्य लोग शामली आए।

- यहां लिसाढ़ गांव में रहकर दीपावली का त्योहार मनाया और शादी की तारीख तय करके 21अक्टूबर को शामली में कैराना रोड स्थित होटल में विवाह संपन्न करा दिया गया।

सोमवार को दोनों विवाह पंजीकरण कराने के लिए कलक्ट्रेट पहुंचे। वहां अधिवक्ता सतेंद्र धीरयान और प्रदीप पंवार से मुलाकात करने के बाद विवाह पंजीकरण कराया गया। इस दौरान अरविंद मलिक और उसके पिता सोमपाल, मां मुनेश के अलावा मारिया हॉफमेन, उसके पिता जेन हॉफमेन और मां सिगरुन हॉफमेन भी मौजूद रहीं।

कोर्ट मैरिज के आवेदन के लिए यह जोड़ा शामली तहसील में एक साथ पहुंचे। जोड़े के बयान दर्ज होने के बाद यहां कानूनी प्रक्रिया पूरी कर मरियम परिवार के साथ मुंबई के लिए रवाना हो गई। अधिवक्ता सतेंद्र धीरयान ने बताया कि दोनों की कोर्ट मैरिज के लिए अर्जी दी गई थी। एसडीएम के समक्ष दोनों के बयान भी दर्ज कर लिए गए हैं।

अधिवक्ता सतेंद्र धीरयान ने बताया कि अरविंद कुमार पुत्र सोमपाल मर्चेन्ट नेवी में इंजिनियर है। ये दो साल पहले जर्मनी गया हुआ था। वहां इसकी मुलाकात एक लड़की मरियम हॉफमेन से हुई जो बर्लिंग जर्मनी की रहने वाली है। उसका वहा पर प्रेम प्रसंग हो गया। दो साल बाद जब अरविंद वापस यहां पर मुंबई आया तो लड़की ने भी अपना ट्रांसफर मुंबई करा लिया।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story