Sonbhadra: सोनभद्र के रास्ते बिहार जा रही 6200 शीशी अंग्रेजी शराब बरामद, दो गिरफ्तार

Sonbhadra News: पुलिस को शराब तस्करी के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया। पुलिस ने बिहार ले जाई जा रही 6200 शीशी अवैध अंग्रेजी शराब के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है।

Kaushlendra Pandey
Published on: 4 Sep 2022 12:47 PM GMT
Sonbhadra News In Hindi
X

पुलिस पार्टी के साथ पकड़े गए तस्कर। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra: क्राइम ब्रांच और करमा पुलिस की संयुक्त टीम ने अंतर्राज्यीय शराब तस्करी के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश करने में कामयाबी पाई है। सोनभद्र के रास्ते बिहार ले जाई जा रही 6200 शीशी अवैध अंग्रेजी शराब के साथ दो अंतरप्रांतीय तस्करों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़ी गई शराब हरियाणा के सोनीपत से लाई गई थी और उसे 124 पेटी में भरकर बिहार ले जाया जा रहा था। पकड़े गए व्यक्तियों में एक हरियाणा के सोनीपत का और दूसरा मध्यप्रदेश के उज्जैन का रहने वाला है। कामयाबी पाने वाली टीम को एसपी डा. यशवीर सिंह की तरफ से नकद पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है।

अवैध शराब और मादक पदार्थों की रोकथाम के लिए चलाया अभियान

बताते चलें कि सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की तरफ से जहां तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई के निर्देश दिए जा रहे हैं। वहीं अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था की तरफ से अवैध शराब और मादक पदार्थों की रोकथाम के लिए अभियान चलवाया जा रहा है। बताते हैं कि इसी क्रम में एसपी डॉ. यशवीर सिंह (SP Dr. Yashveer Singh) की तरफ से अपराध शाखा को जहां विशिष्ट निर्देश दिये गए हैं। वहीं एएसपी मुख्यालय कालू सिंह (ASP HQ Kalu Singh) और सीओ घोरावल संजीव कटियार (CO Ghorawal Sanjeev Katiyar) के निर्देशन में स्वाट-एसओजी-सर्विलांस टीम के साथ करमा पुलिस मिर्जापुर से जुड़े रायपुर क्षे़त्र से होकर गुजरने वाले बिहार के रूट पर नजर रखी हुई थी।

मिली सूचना के आधार पर घेराबंदी कर की कार्रवाई

बृहस्पतिवार की रात टीम को सूचना मिली कि तस्करों का एक ग्रुप कंटेनर पिकअप के जरिए अवैध शराब की एक बड़ी खेप बिहार ले जाने वाला है। मिली सूचना के आधार पर तत्परता दिखाते हुए, करमा बाजार में घेरेबंदी कर मिर्जापुर से रॉबर्ट्सगंज आने वाली सड़क पर नजर रखी जाने लगी। जैसे ही बताया गया पिकअप वहां पहुंचा, उसे रोक लिया। पुलिस को देख पिकअप में बैठे आरोपियों ने फरार होने की कोशिश की लेकिन दबोच लिए गए। पीछे रखी गई शराब के बारे में कागजात मांगा गया तो नहीं दिखा पाए। कड़ाई से पूछताछ गई तो शराब तस्करी की बात कबूल कर ली। इसके बाद 124 पेटी में 180एमएल की रखी तथा नाइट ब्लू मेट्रो लिकर सेल इन हरियाणा की लोगो लगी 6200 शीशी, कीमत लगभग 12 लाख को वाहन सहित कब्जे में लेने के साथ ही, पिकअप सवार विकास कुमार पुत्र हवा सिंह निवासी असावरपुर, थाना राई, जिला सोनीपत, हरियाणा और मनीष पाटीदार पुत्र तके पाटीदार निवासी भाटिया कॉलोनी, भक्सी रोड़, थाना पवासा, जिला उज्जैन, मध्यप्रदेश को गिरफ्तार कर करमा थाने ले जाया गया, जहां देर तक चली पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि अवैध शराब की खेप को हरियाणा के सोनीपत से लाकर, बिहार ले जाया जा रहा था।

कामयाबी पाने वाली टीम को किया सम्मानित

पुलिस लाइन में इसका खुलासा करते हुए एएसपी कालू सिंह (ASP Kalu Singh) ने बताया कि आरोपियों ने कई और भी जानकारियां दी हैं, जिसके आधार पर आगे की छानबीन जारी है। कामयाबी पाने वाली टीम में निरीक्षक अमित सिंह प्रभारी सर्विलांस, निरीक्षक देवेंद्र प्रताप सिंह प्रभारी एसओजी, उप निरीक्षक राजेश कुमार सिंह थानाध्यक्ष करमा, एसएसआई विमलेश कुमार सिंह थाना करमा और उनसे जुड़े हमराही शामिल रहे। एएसपी ने बताया कि कामयाबी पाने वाली टीम को एसपी ने नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया है।

पुलिस लगातार हासिल कर रही कामयाबी

जिले में आबकारी विभाग की एक अच्छी टीम होने के बावजूद, शराब तस्करी को लेकर पुलिस लगातार कामयाबी हासिल कर रही है। वहीं आबकारी विभाग की इस मसले पर चुप्पी और सीमा क्षेत्र में शराब तस्करी को लेकर आती शिकायतें, जिम्मेदारों की भूमिका पर सवाल उठाने लगी हैं। पिछले दिनों पन्नूगंज क्षेत्र में दुकान का लाइसेंस कहीं, बिक्री कहीं की शिकायत भी डीएम से की गई थी। डीएम चंद्रविजय सिंह की तरफ से मामले में कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए थे लेकिन अब तक ऐसे किसी भी मामले में कोई कार्रवाई सामने नहीं आई। अब जहां सीएम तस्करों के खिलाफ अभियान चलाने का निर्देश दे रहे हैं। वहीं पहली सितंबर को जिले के दौरे पर डिप्टी सीएम ने भी शराब तस्करों के खिलाफ प्रभावी अभियान चलाने का निर्देश दिया था। बावजूद, लाइसेंसी दुकानों की आड़ में होने वाली कथित तस्करी पर कोई कार्रवाई न होने को लेकर तरह-तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story