ढाई लाख से जीतकर भी हार गये सपा प्रमुख अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने जहां भाजपा के दिनेश लाल यादव निरहुआ को 2,59,874 मतों से हरा दिया। वहीं लालगंज में गठबंधन की प्रत्याशी संगीता आजाद ने भाजपा की नीलम सोनकर को 1,61,597 मतों से हराया। जिससे समर्थक खुश तो दिखे लेकिन प्रदेश में मिली हार से उन्हे निराशा हाथ लगी।

file photo

लखनऊ: आजमगढ़ जिले में समाजवादी पार्टी(सपा) के मुखिया अखिलेश यादव 2 लाख,59 हजार,874 मतों से जीत दर्ज कर भी पूरे प्रदेश में बुरी तरह से हार गये। प्रदेश में एक तरफ जहां पार्टी बुरी तरह से हार गयी है, वहीं मोदी की सुनामी में समाजवादी पार्टी के कुनबे को भी करारी शिकस्त मिली। जिससे अखिलेश यादव के समर्थक जीत की खुशी तक नहीं मना सके।

ये भी देखें : यूपी की 11 सीटों पर होगा उपचुनाव, दावेदारी भी शुरु

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने जहां भाजपा के दिनेश लाल यादव निरहुआ को 2,59,874 मतों से हरा दिया। वहीं लालगंज में गठबंधन की प्रत्याशी संगीता आजाद ने भाजपा की नीलम सोनकर को 1,61,597 मतों से हराया। जिससे समर्थक खुश तो दिखे लेकिन प्रदेश में मिली हार से उन्हे निराशा हाथ लगी।

ये भी देखें : ड्राइविंग लाइसेंस की जानकारी के लिए नया टोल-फ्री नम्बर जारी

गठबंधन में बहुजन समाज पार्टी को जबरदस्त फायदा मिला है। जबकि समाजवादी पार्टी को सबसे बड़ा नुकसान हुआ। पार्टी के परिवार के सदस्य व अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव, अक्षय प्रताप यादव, धर्मेन्द्र यादव जैसे कद्दावर नेताओं को हार का सामना करना पड़ा। जिससे समर्थक काफी मायूस नजर आये। पार्टी के केन्द्रीय चुनाव कार्यालय से लेकर पार्टी के जिला कार्यालय पर नेता और कार्यकर्ता तो मौजूद थे लेकिन प्रदेश में मिली करारी हार से काफी मायूस दिखे। देर रात अंतिम परिणाम आने से पहले ही पार्टी के नेता कार्यालय छोड़कर चले गये थे।