यूपी: राज्यसभा के लिए निविरोध चुने गए सुधांशु त्रिवेदी

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने आज राज्यसभा के सदस्य के रूप में निर्विरोध निर्वाचित हो गए। उन्हे आज यहां निर्विरोध निर्वाचित होने पर जीत का प्रमाण पत्र सौंपा गया।

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने आज राज्यसभा के सदस्य के रूप में निर्विरोध निर्वाचित हो गए। उन्हे आज यहां निर्विरोध निर्वाचित होने पर जीत का प्रमाण पत्र सौंपा गया।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन के कारण खाली हुई इस सीट पर भाजपा ने गुरूवार को अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी के नाम का एलान किया था।

केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के करीबी माने जाने वाले त्रिवेदी का 16 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव में निर्विरोध चुना जाना पहले से ही लगभग तय माना जा रहा है।

नामांकन के अंतिम दिन की अन्य प्रत्याशी के पर्चा दाखिल न करने के कारण आज उन्हे निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया। जेटली का राज्यसभा में उत्तर प्रदेश से निर्वाचन पिछले साल हुआ था और उनका कार्यकाल 2024 तक था।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में की है पीएचडी

आपको बताते चले कि सुधांशु त्रिवेदी ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी करने के बाद कई विश्वविद्यालयों में अध्यापन कार्य किया है। वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के सूचना सलाहाकार रहे।

इसके अलावा वह भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह के भी के राजनैतिक सलाहकार रहे। सुधांशु त्रिवेदी पार्टी के प्रखर प्रवक्ता के रूप में इस असमय टीवी चौनलों में अपना योगदान दे रहे है। देश विदेश में विभिन्न विषयों पर व्याख्यान के लिए उन्हें आमंत्रित किया जाता है।

आज जीत का प्रमाण पत्र लेते समय सुधासुं त्रिवदी के साथ इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर, कैबिनेट मंत्री आशुतोष टण्डन ‘गोपाल’, ब्रजेश पाठक, राज्यमंत्री मोहिसन रजा, प्रदेश प्रवक्ता डा. समीर सिंह, शलभ मणि त्रिपाठी, हीरो बाजपेयी, यूपीसीएलडीएफ के चेयरमैंन वीरेन्द्र तिवारी सहित बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने उपस्थित रहकर त्रिवेदी का राज्यसभा का सदस्य निर्वाचित होने पर बधाई दी और कहा कि सुधांशु त्रिवेदी के राज्यसभा के सदस्य के रूप में प्रदेश के विकास को लेकर अपनी भूमिका निभाएगें।

ये भी पढ़ें…विरोधी आवाजों को देशद्रोही करार देने का असंवैधानिक काम कर रही बीजेपी: अखिलेश