×

यूपी में खतरा बढ़ा: कोरोना की तीसरी लहर का UP में भयंकर हो सकता है परिणाम, सामने आई ये हैरान करने वाली रिपोर्ट

UP Mein Corona Update : उत्तर प्रदेश की टीकारण के लिए पात्र आबादी में सिर्फ 29 प्रतिशत आबादी का पूर्ण टीकाकरण होना चिंता का विषय है।

Rajat Verma

Rajat VermaWritten By Rajat VermaVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 25 Nov 2021 9:43 AM GMT

Corona virus in india
X

कोरोनाः यूरोप से भारत बेहतर।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Mein Corona Update : उत्तर प्रदेश लगभग 25 करोड़ की जनसंख्या के साथ भारत का सर्वाधिक जनसंख्या वाला प्रदेश है तथा वर्तमान में प्रदेश में आनुमानित तौर पर प्रति वर्ग किलोमीटर 829 लोग वास करते हैं।

भारत के इस एक प्रदेश की जनसंख्या दुनिया के कई देशों से भी ज़्यादा है। इसके मद्देनजर इतनी बड़ी आबादी वाले प्रदेश को प्रबंधित कर संचालित करना अपने आप में एक चुनौती है। इसी बीच कोरोना महामारी ने एक नहीं बल्कि दो बार भारत समेत समूचे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया तथा चलते उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में भारी तादाद में मौतें हुईं।

अभी भी कोरोना रूपी काल का साया हमारे सर से हटा नहीं है। हाल ही कोरोना (corona update in up today) के चलते लगे प्रतिबंध शुरुआती तौर पर हट ही रहे थे कि कोरोना की तीसरी लहर (coronavirus third wave in up) का अंदेशा वापस से हमारे सर पर मंडराने लगा है।

बिना मास्क सैंकड़ों लोगों की भीड़

वर्तमान में कोरोना प्रतिबंधों को लोग पहले जितनी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं तथा अब भारी तादाद में लोगों ने मास्क लगाना तक छोड़ दिया है वहीं सोशल डिस्टनसिंग जैसी चीज को कहीं देखने को ही नहीं मिलती है। शादियों के सीजन की वजह से एक जगह सैंकड़ों लोगों की भीड़ लगना तो आम बात है वहीं इतनी भीड़ के बावजूद कोविड से बचाव हेतु किसी भी नियम का पालन नहीं किया जाता है।

आंकड़ों के अनुसार, लगभग 25 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश राज्य में 4.37 करोड़ लोगों ने कोविड के खिलाफ बचाव हेतु टीकाकरण (UP Mein Vaccination) की दोनों खुराकें ले ली हैं । वहीं कुल 10.6 करोड़ लोगों ने कोविड टीके की सिर्फ एक खुराक ही ली है।


इसके अंतर्गत उत्तर प्रदेश में कोविड टीकारण लेने वाले पात्र व्यक्तियों की कुल संख्या लगभग 15 करोड़ पहुंच गई है। इन आंकड़ों की मानें तो प्रदेश की टीकाकारण के लिए पात्र आबादी की लगभग 29 प्रतिशत आबादी पूरी तरह से कोविड टीकाकरण करा चुकी है वहीं राज्य की 71 प्रतिशत पात्र आबादी ने टीके की सिर्फ एक खुराक ली है।

तीसरी लहर से बिगड़ सकते हैं उत्तर प्रदेश के हालात
Coronavirus Third Wave In UP

उत्तर प्रदेश की टीकारण के लिए पात्र आबादी में सिर्फ 29 प्रतिशत आबादी का पूर्ण टीकाकरण होना चिंता का विषय है। सरकार द्वारा तमाम जनजागरूकता अभियानों और सुविधाएँ मुहैया कराए जाने के बावजूद भी टीकाकरण की गति में मंदी बनी हुई है।

यदि जल्द ही राज्य को पूर्ण अथवा अधिकतम आबादी कोविड टीके की दोनों खुराकें नहीं लेती है तो भविष्य में इसके परिणाम बदतर साबित हो सकते हैं। विशेषज्ञों द्वारा जल्द ही कोरोना की तीसरे लहर (up mein corona ki sthiti) आने की भविष्यवाणी उत्तर प्रदेश के लिए नई मुश्किलें लेकर आ सकती है। टीके की दोनों खुराकें (UP Mein Vaccination) लेने के अलावा राज्य के लोगों को मास्क लगाने और सामाजिक दूरी बनाए रखने के विषय में भी विचार सोचना होगा जिससे समय रहते हालात को काबू में लाया जा सके।

कोरोना से लड़ने के लिए एन्टी-बॉडीज का निर्माण

लोगों को यह याद रखने की आवश्यकता है कि कोविड के खिलाफ टीके की पहली खुराक हमें कोरोना बीमारी से लड़ने के लिए आंशिक रूप से तैयार करती है वहीं समय से ली गयी दूसरी खुराक हमारे शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए एन्टी-बॉडीज का निर्माण करती है।

कोरोना के खिलाफ टीकाकरण का मूल उद्देश्य तभी सफल होगा जब हम इसकी दोनों खुराकें लगवाएंगे। इसलिए टीके की पहली खुराक लेने के पश्चात निर्धारित समय में टीके की दूसरी खुराक अवश्य लें और कोरोना की आने वाली तीसरी लहर से खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रखें।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story