Top

UP Politics: अखिलेश यादव बोले- बीजेपी ने बदले की भावना से सरकार चलाने का काम किया

UP Politics: अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने राजनीतिक संक्रमण फैलाने में कम योगदान नहीं किया है।

Akhilesh Yadav Slams yogi govt
X

एक कार्यक्रम के दौरान अखिलेश यादव (फाइल फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने राजनीतिक संक्रमण फैलाने में कम योगदान नहीं किया है। शासन प्रशासन को साम्प्रदायिक आधार पर चलाने का कुप्रयास भाजपा सरकार ने किया है। इस सरकार ने बदले की भावना से विपक्षी नेताओं के खिलाफ निंदा अभियान चलाकर अपनी घटिया मानसिकता प्रदर्शित की है। भाजपा राज में कोरोना एक्ट की सारी कार्यवाही विपक्ष और आम जनता के लिए है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश कोरोना संक्रमण के साथ राजनीतिक संक्रमण से भी जूझ रहा है। भाजपा सरकार के कुछ ही दिन बचे हैं। ऐसे में अब मुख्यमंत्री का नियंत्रण भी ढीला पड़ता जा रहा है। जिस तरह से दिल्ली-लखनऊ के बीच तनातनी के संकेत हैं उससे लगता है कि जो दिख रहा है वह अगले संकट का संकेत है। सरकार नाकाम है और मुख्यमंत्री निष्क्रिय फिर भी दिल्ली की दौड़ किस लिए हो रही है राज्य की जनता सच्चाई से परिचित है।
उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकाल तोड़ने वाले भाजपा नेताओं के सामने प्रशासन अंधा बना रहा। मेरठ में भाजपा मंडल मंत्री ने तो बाकायदा, होर्डिंग लगाकर जनता को सुझाव दिया कि यदि आप स्वस्थ्य हैं तो मास्क न लगाएं। जनता को गुमराह करने वालो पर कठोर कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की संख्या आंकड़ो में भले हेराफेरी से कम हो गई है, लेकिन अभी भी अस्पतालों में और घरों में संक्रमित कम नहीं है। खुद पीजीआई की सर्वे रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि 80 प्रतिशत मरीजों के साइनस पर फंगस हमला कर रहा है। फंगस के समुचित इलाज की सुविधाएं अभी भी अपर्याप्त हैं।
अखिलेश ने कहा कि विशेषज्ञ बता रहे हैं कि तीसरी लहर भी आने वाली है। बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंताएं जताई जा रही हैं। टीकाकरण की रफ्तार धीमी है। वैक्सीन के वितरण को लेकर राज्यों-केंद्र के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर दौरा चल चुका है। प्रदेश को हरेक को मुफ्त टीका लगाने का प्रचार तो जोरशोर से किया गया है लेकिन आनलाइन-आफलाइन के झमेले में गांव वाला परेशान हैं। प्रदेश की आबादी को देखते हुए टीकाकरण की गति बड़ी धीमी है।
उन्होंने कहा कि भाजपा राज में सिर्फ द्वेषवश समाजवादी सरकार के समय प्रारंभ की गई स्वास्थ्य सुविधाओं को बर्बाद किया गया। यद्यपि जब कोरोना की आफत आई तो वही व्यवस्थाएं काम आईं। लखनऊ में कैंसर अस्पताल, अवध शिल्प ग्राम के अलावा उस समय बने मेडिकल कालेज तथा एम्बूलेंस सेवा से ही भाजपा सरकार को काम चलाना पड़ा।
अखिलेश ने कहा कि कन्नौज मेडिकल काॅलेज में समाजवादी सरकार के समय निर्मित काॅर्डियोलाजी हास्पिटल की शानदार बिल्डिंग में ताला लगा हुआ है। हृदय रोगी दूसरी जगह उपचार कराने को मजबूर हैं। प्रदेश में एक भी नया मेडिकल काॅलेज न बना पाने वाली भाजपा सरकार अब कौन से तीर मार लेगी जबकि उसके कुशासन के खात्मे के चार दिन बचे हैं। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अपनी साख बचाने को जीवन से खिलवाड़ करने वाली भाजपा सरकार के प्रबंधन का पाखंड भी सबके सामने आ गया है।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story