Top

यूपी में सड़क भी होगी समाजवादी, बनेगा देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे

Admin

AdminBy Admin

Published on 29 March 2016 6:01 AM GMT

यूपी में सड़क भी होगी समाजवादी, बनेगा देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि गोंडा की सड़कों का चौड़ीकरण किया जाएगा और फोर लेन बनाई जाएंगी। बिजनौर की भी सड़कें इसमें शामिल हैं। वहीं, दिल्ली से लखनऊ को जोड़ने वाली सड़क जो अब बलिया जाएगी उसे भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। ये सड़क अब गाजीपुर और बलिया को जोड़ेगी। यूपी पहला ऐसा प्रदेश है, जहां यह एक्सप्रेस-वे राज्य को एक कोने को दूसरे कोने तक जोड़ेगा।

समाजवादी एक्सप्रेस वे

-‘लखनऊ से बलिया (वाया आजमगढ़) प्रवेश नियंत्रित एक्सप्रेस-वे ग्रीन फील्ड बनेगा।

-इसका नाम ‘समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’ किए जाने का निर्णय लिया गया।

-ईपीसी पद्धति यानि सरकार अपने संसाधनों से बनाएगी एक्सप्रेस-वे। इसकी कुल लंबाई 348.10 किमी।

-प्रारंभिक अनुमानित लागत 19437.73 करोड़ रुपए।

-परियोजना के स्वामित्व और क्रियान्वयन के लिए यूपीडा नोडल एजेन्सी नामित।

-08 पैकेजों में क्रियान्वित होगी यह परियोजना।

-इसकी चौड़ाई 120 मीटर होगी। कैरिजवे-पूर्णतः प्रवेश नियंत्रित 06 लेन डिवाइडेड कैरिजवे (एक्सपेण्डेबल टू 08 लेन) तक होगा।

-स्ट्रक्चर 08 लेन (सभी स्ट्रक्चर यथा ब्रिज, आर0ओ0बी0 आदि) तथा सर्विस रोड का प्राविधान होगा। मुख्य यातायात मार्गाें हेतु इण्टरचेन्जेज, पदयात्री, वाहनों तथा पशुओं हेतु अण्डरपासेज का भी प्राविधान होगा।

कैबिनेट में हुए और फैसले

-नई उत्तर प्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट अप नीति, 2016 अनुमोदित।

-भौरट बांध की लागत बढ़कर 599.7194 करोड़ हुई।

-आई-स्पर्श स्मार्ट एवं स्वावलम्बी ग्राम परियोजना के क्रियान्वयन को मंजूरी।

-ग्रामीणों की जरूरतों को पूरा करने के लिए आधुनिक समाधान उपलब्ध कराना, आई-स्पर्श योजना का लक्ष्य

-केंद्र सहायतित कृषि विभाग की योजनाओं के फंडिंग पैटर्न में परिवर्तन को मंजूरी।

-चन्दौली की अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 2.697 हेक्टेयर भूमि राजस्व विभाग को निःशुल्क दिया जाएगा।

-डाॅ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय, लखनऊ के परिसर में दिब्यांगों के लिए विशिष्ट स्टेडियम बनेगा।

-आपातकालीन अवधि में मीसा/डीआईआर में निरुद्ध राजनैतिक बंदियों/लोकतंत्र सेनानियों की

-सम्मान राशि 15000 रुपए प्रति माह करने का निर्णय।

-आगरा की तहसील फतेहाबाद के ग्राम कौलारा कलां में राजकीय पाॅलीटेक्निक की स्थापना हेतु 2.0050 हेक्टेयर भूमि निःशुल्क हस्तांतरित करने का निर्णय।

-गुरू गोविंद सिंह स्पोर्टस काॅलेज, लखनऊ में सिन्थेटिक रनिंग ट्रैक बनेगा।

-एकलव्य स्पोर्ट्स स्टेडियम, आगरा के हाॅकी मैदान में एस्ट्रोटर्फ लगाने की स्वीकृति।

-राजकीय नलकूपों एवं लघु डाल नहरों को सौर ऊर्जा एवं ग्रिड ऊर्जा के हाईब्रिड माॅडल से संचालित करने का निर्णय।

-डीएमआईसीडीसी के तहत मल्टी माॅडल लाॅजिस्टिक हब तथा मल्टी माॅडल ट्रांसपोर्ट हब परियोजना के क्रियान्वयन हेतु गठित एसपीवी को भूमि के हस्तांतरण में स्टाम्प ड्यूटी से छूट।

-पीपीपी माॅडल पर वाहन सर्टिफिकेशन एवं इंस्पेक्शन सेण्टर की स्थापना का निर्णय।

-आॅटोमेटेड ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक की स्थापना का प्रस्ताव अनुमोदित।

-उ0प्र0 राजकीय महाविद्यालयों में संविदा पर कार्यरत प्रवक्ताओं का विनियमितीकरण होगा।

-29 संस्कृत माध्यमिक विद्यालयों/महाविद्यालयों को अनुदान सूची पर लेने का निर्णय।

इन सड़कों के चौड़ीकरण का लिया गया निर्णय

-सोनौली-नौतनवां-गोरखपुर-देवरिया-बलिया मार्ग के चैनेज 98.975 से 144 किमी तक के मार्ग का 04-लेन तक चौड़ीकरण।

-बिजनौर-नूरपुर-छजलैट मार्ग को 02-लेन पेव्ड शोल्डर के साथ चौड़ीकरण की मंजूरी।

-गोरखपुर-महराजगंज-निचलौल मार्ग के गोरखपुर के भाग चैनेज 1.600 से 21.00 किमी और महराजगंज के भाग चैनेज 22.00 से 33.95 किमी को 04-लेन तक सीसी रोड बनेगा।

-राष्ट्रीय मार्ग पर स्थित आजमगढ़ रेलवे स्टेशन से बाईपास तक 0.795 किमी मार्ग चौड़ा होगा।

-बिजनौर में मंडावर-दयालवाला-बालावाली मार्ग को 02-लेन तक चौड़ी किया जाएगा।

-फरेन्दा-जरवल राज्य मार्ग को 4-लेन (लंबाई 46.40 किमी) करने का निर्णय

-गाजीपुर में ताड़ी घाट बारा कुम्हार, चैसा मार्ग (राज्य मार्ग संख्या-99) के राइडिंग क्वालिटी सुधार कार्य को मंजूरी।

बुंदेलखंड पर क्या बोले सीएम ?

सीएम ने बुधवार को बुंदेलखंड दौरे को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि राज्य और केंद्र के जैसे सम्बन्ध होने चाहिए, उसके अनुसार हमने केंद्र से मांग की। ओलावृष्टि और सूखे के लिए हमने अपने बजट से पैसा दे दिया लेकिन केंद्र से अभी मदद का इंतजार है। बुंदेलखंड के लिए बिजली, सिंचाई, समाजवादी पेंशन जैसी कई सुविधाएं दी जा रही हैं। सीएम ने बुंदेलखंड के सपा नेताओ से वहां किसानो की मदद की अपील की। उन्होंने कहा कि बुन्देलखंड में डैम बनाये जा रहे हैं और पीने के पानी और सिंचाई के लिए राज्य पूरी व्यवस्था कर रही है।

Admin

Admin

Next Story