×

यूपी : महिला की मौत पर परिजनों का हंगामा, पुलिस ने कब्जे में लिया शव

यूपी के हरदोई जिले के महिला थाना के सामने उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब एक महिला के शव को उसके परिजनों ने रखकर आपस मे जमकर झगड़ा करना शुरू कर दिया। मायके पक्ष के लोग दहेज उत्पीड़न का आरोप लगा रहे थे जबकि ससुराल के लोग बीमारी से मौत की बात कह रहे है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 Jan 2019 3:07 PM GMT

यूपी : महिला की मौत पर परिजनों का हंगामा, पुलिस ने कब्जे में लिया शव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हरदोई : यूपी के हरदोई जिले के महिला थाना के सामने उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब एक महिला के शव को उसके परिजनों ने रखकर आपस मे जमकर झगड़ा करना शुरू कर दिया। मायके पक्ष के लोग दहेज उत्पीड़न का आरोप लगा रहे थे जबकि ससुराल के लोग बीमारी से मौत की बात कह रहे है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है।

ये भी देखें : लखनऊ मेट्रो को इस बार सुगम और मजबूत यातायात सिस्टम देने के लिए अवार्ड

मामला मंझिला थाना क्षेत्र का है। मंझिला गांव निवासी बबिता 22 पत्नी रजनीश की शहर के एक निजी अस्पताल लाते समय मौत हो गई। महिला की मौत के मामले की जानकारी उसके पिता गयाप्रसाद निवासी कपूरपुर कोतवाली देहात को भी लगी तो वह भी परिजनों के साथ मौके पर पहुंच गए और दोनों पक्षों में जमकर हंगामा शुरू हुआ।

ये भी देखें : बसपा सुप्रीमों मायावती के खिलाफ दायर मुकदमा वापस

परिजन शव लेकर महिला थाने के पास पहुंचे और यहां भी हंगामा शुरू कर दिया। महिला के पिता का आरोप है कि उसकी बेटी की दहेज के लिए परिजनों ने हत्या कर दी है और मरने के बाद शव अस्पताल तक लाए। जबकि ससुराल के लोगों का कहना है कि बीमारी के चलते मौत हुई है। फिलहाल हंगामे के बीच हुई गाली गलौज के बाद लोगों की भीड़ लगी रही। पुलिस ने शव को कब्जे में लिया है। एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर कार्यवाई की जा रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story