मंत्री की दबंगई को चुनौती- महिला प्रत्याशी ने धमकियों के बीच भरा पर्चा

फाइल फोटो: ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी प्रेमशीला और पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह।

गाजीपुर: अखिलेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश सिंह के मंत्री की धमकी को ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी ने ठेंगा दिखा दिया। रामप्रकाश कुशवाहा की पत्नी प्रेमशीला ने शुक्रवार को पर्चा दाखिल कर दिया। लेकिन मंत्री की शह पर अभी भी डराया जा रहा है।

मुकदमे में फंसाने की कोशिश
-प्रत्याशी प्रेमशीला के प्रति रामप्रकाश कुशवाहा के मुताबिक उन्हें फर्जी मुकदमें में फंसाने की कोशिश की गई।
-जब वह पत्नी को लेकर पर्चा दाखिल करना जा रहे थे तो गहमर थाने के एसओ केपी सिंह अपने हाथ में एक कागज लेकर आए।
-एसओ ने कहा कि एक बीडीसी सदस्य ने उनके खिलाफ तहरीर दी है।
-जब उन्होंने उस बीडीसी सदस्य से फोन कर पूछा तो उसने इस बात से इनकार किया।
-पर्चा दाखिल करते समय केवल प्रेमशीला और प्रस्तावक को अंदर जाने दिया गया।
-वहीं, सपा समर्थित प्रत्याशी सुनीता कुशवाहा के साथ कई लोगों को अंदर जाने दिया गया।

सीओ साहब बैठे रहे, एसओ धमकाता रहा
-राम प्रकाश कुशवाहा के मुताबिक, इसके बाद एसओ ने उन्हें खरी-खोटी सुनाई।
-उस समय सीओ अनिल कुमार सिंह मौके पर ही मौजूद थे।
-एसओ ने उनके सामने ही कहा-ज्यादा नेता मत बनो वरना हम तुम्हें नेता बना देंगे।

क्या है मामला?
-पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने गाजीपुर में ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी के पति को फोन पर पत्नी को चुनाव ना लड़ाने की धमकी दी थी।
-प्रेमशीला के पति राम प्रकाश कुशवाहा को धमकाने वाला ऑडियो टेप सामने आया था।
-इसमें मंत्री यह कहते हुए सुनाई देते हैं कि अपना पर्चा दाखिल न करे वरना उसको खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

बीडीसी वोटरो को भी दी जा रही है धमकी
-रामप्रकाश ने दावा किया-ब्लॉक में कुल 213 वीडीसी हैं। इनमें से 211 प्रत्याशी हमारे समर्थन में हैं।
-लेकिन सत्ता पक्ष की तरफ तमाम बीडीसी वोटरों को धमकी के साथ ही प्रलोभन दिया जा रहा है।

धमकी के बाद मिली सुरक्षा
मंत्री की धमकी का ऑडियो टेप वायरल होने के बाद जिला प्रशासन ने रामप्रकाश कुशवाहा की सुरक्षा में दो पुलिसकर्मी को तैनात किया है।