×

'योगी मुख्यमंत्री हैं, मोदी प्रधानमंत्री हैं, फिर भी मैं बदनसीब हूं'...

मोहम्मद अजीज कहते हैं कि हम इस बोर्ड के माध्यम से अपनी योगी- मोदी सरकार और राहुल गांधी तीनों लोगों को बताना चाहते हैं के हमारे जगदीशपुर के विकास में दूर-दूर तक सुनवाई नहीं हो रही है। हमारे सांसद राहुल गांधी इतने दिन से हैं इधर से आते हैं इधर से जाते हैं न लाइट के बारे में सोचते है और न यहां की शिक्षा के मामले में।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 27 Jan 2019 7:59 AM GMT

योगी मुख्यमंत्री हैं, मोदी प्रधानमंत्री हैं, फिर भी मैं बदनसीब हूं...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अमेठी: चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी के जगदीशपुर विधानसभा में लोगों के तेवर बगावती होते दिखाई दे रहे हैं। यहां सामूहिक रूप से लोगों ने पिछड़ेपन को लेकर चौराहों पर होर्डिंग लगाई है। जिस पर लिखा है, " मैं जगदीशपुर हूं, मेरे सांसद राहुल गांधी हैं, मेरे मंत्री सुरेश पासी हैं, मेरे मुख्यमंत्री योगी हैं मेरे प्रधानमंत्री मोदी हैं। फिर भी मैं बदनसीब हूं, मैं बदनसीब हूं"।

स्थानीय निवासी मोहम्मद अजीम समेत पांच लोगों की तस्वीर और नाम से लगी इस होर्डिंग में ये भी लिखा गया कि गौरीगंज जहां 6 बजे के बाद साधन ही नहीं मिलता फिर भी वो जिला है। और नगर पंचायत है। जबकि नेशनल हाईवे हमारे पास है, डबल लाइन रेलवे इलेक्ट्रिक स्टेशन हमारे पास है बैंकिग में हम आगे हैं।

ये भी पढ़ें...बीजेपी के पोस्टर में नेहरू-शास्त्री की हुई एंट्री, श्यामा प्रसाद मुखर्जी गायब

ट्रांजेक्शन में हम आगे हैं फिर भी मैं ग्रामीण हूं मैं जगदीशपुर हूं। ये भी लिखा गया कि यहां पर रबिअव्वल नम्बर एक पर है यहां पर दुर्गापूजा नम्बर एक पर है। जिसमें लाखों लोग बाहर से आते हैं। मगर पानी पीने के लिए पूरे रोड पर पूरे चौराहे पर एक नल नहीं है। मैं कितना बदनसीब हूं। मैं जगदीशपुर हूं। इन लोगों ने मांग करते हुए लिखा कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में भारत देश नित नई ऊंचाइयों को छू रहा है परन्तु जगदीशपुर क्षेत्र अब भी विकास से वंचित ही है।

अतः हम उनसे अपील करते हैं, कि जगदीशपुर को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु जगदीशपुर से जुड़ी निम्न समस्याओ पर ध्यान दें। शुद्ध पेयजल समस्या की भारी कमी। विधुत व्यवस्था का बुरा हाल मात्र 6 से 8 घंटे ही सप्लाई। चरमराई शिक्षा व्यवस्था विज्ञान वर्ग के इंटर कालेज तक की व्यवस्था तक नहीं। अतः जगदीशपुर को तहसील, नगर पंचायत बनवाकर मजबूत क़दम उठावे।

ये भी पढ़ें...यूपी -बिहार के लोगों के पलायन का मामला- पोस्टर में पीएम मोदी को बताया बाहरी, शहर छोड़ने की चेतावनी

मोहम्मद अजीज कहते हैं कि हम इस बोर्ड के माध्यम से अपनी योगी- मोदी सरकार और राहुल गांधी तीनों लोगों को बताना चाहते हैं के हमारे जगदीशपुर के विकास में दूर-दूर तक सुनवाई नहीं हो रही है। हमारे सांसद राहुल गांधी इतने दिन से हैं इधर से आते हैं इधर से जाते हैं न लाइट के बारे में सोचते है और न यहां की शिक्षा के मामले में।

हमारे पास इंग्लिश मीडियम का या विज्ञान स्तर का कोई इंटर कालेज तक नहीं है के हम अपने बच्चों को पढ़ा सकें। यहां लाइट की भी कमी है, चार-चार 6-6 दिन हो जाता है लाइट नहीं आती। पानी की हालत ये है के एक-एक हफ्ता दस-दस दिन हो जाता है पानी नहीं आता। राहुल जी यहां के सांसद हैं न वो सुनवाई कर रहे हैं, योगी जी सरकार से मंत्री हैं यहां पर तब भी कोई सुविधा नहीं है।

हमारे हिंदू समाज के लिए न कोई शमशान घाट की जगह है, इस समाज का जो ग़रीब वर्ग है दस हजार उसके पास अगर नहीं है तो वो आम घाट पर शव नहीं ले जा पा रहा। यहां पर उनके लिए जमीन होनी चाहिए के वो अपने लोगों को जला सके या दफना सके। इस बोर्ड के माध्यम से हम योगी सरकार से मोदी सरकार से जो देश में इतना इतना कर रहे हैं तो हमारे जगदीशपुर के लिए कम से कम न जिला करें न तहसील करें तो कम से कम नगर पंचायत कर दें। इससे हिंदू- मुस्लिम के बीस से बाईस सभासद हो जाएंगे और आख़री आदमी तक विकास पहुंचे।

वहीं आशीष कौशल का कहना है कि यहां के राहुल गांधी सांसद हैं न आज तक विकास हुआ है न किसी की समस्या सुनी गई है। शिक्षा की व्यवस्था नहीं है, बिजली की व्यवस्था नहीं है। पानी आ नहीं रहा रोड पर एक नल नहीं है हम लोग परेशान हैं।

संजय कुमार कौशल कहते हैं कि जगदीशपुर को आप लोग काफी दिनों से देख रहे हैं। ये वीवीआइपी क्षेत्र है राहुल गांधी यहां के सांसद हैं। वो यहां केवल आते हैं चले जाते हैं यहां ये नहीं देखते के सड़क पर गड्ढ़े हुए हैं, कीचड़ भरा हुआ है। जल निगम में न पानी मिल रहा है न अस्पताल में दवाई मिल रही है। न यहां विकास के नाम पर कोई चीज़ हो रहा बस आए और चले गए। क्या करें हम लोग इसलिए दिखा रहा हूं मैं जगदीशपुर बदहाल हूं। मैं जगदीशपुर का निवासी हूं।

मंत्री सुरेश पासी हैं उन्होंने किया, ट्रामा सेंटर दिया लेकिन अभी वहां कोई काम शुरू नहीं हुआ हां कोई ख़ास वो भी नहीं किए, अब हमारे मंत्री हैं क्या कहें उनके बारे मे। यहां के विकास को सभी लोग भूल गए हैं चाहे वो सांसद हो चाहे विधायक हो।

ये भी पढ़ें...अमेठी में पोस्टर वार, पोस्टर में एमपी CM के बयान पर दिखाई गई है नाराज़गी

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story