जाएगी 22 लाख की जान: रिसर्च में हुआ सबसे बड़ा खुलासा, संकट में ये देश

कोरोना वायरस से दुनियाभर के लगभग सभी देश परेशान है। लेकिन एक रिसर्च के आधार पर जो सावा किया जा रहा है, उसे जान हर कोई काँप जाएगा। दरअसल, कहा जा रहा है कि कोरोना का घातक असर अमेरिका और ब्रिटेन में ज्यादा देखने को मिलेगा।

दिल्ली: कोरोना वायरस से दुनियाभर के लगभग सभी देश परेशान है। लेकिन एक रिसर्च के आधार पर जो सावा किया जा रहा है, उसे जान हर कोई काँप जाएगा। दरअसल, कहा जा रहा है कि कोरोना का घातक असर अमेरिका और ब्रिटेन में ज्यादा देखने को मिलेगा। यहां हाल ऐसा होगा कि कोरोना की वजह से लाखों जानें चली जाएँगी। इस बात की आशंका ब्रिटेन में एक स्टडी में की गयी। जिसके मुताबिक अमेरीका में कोरोना से 22 लाख लोगों और यूके में करीब 5 लाख लोगों की मौत हो सकती है।

कोरोना से अमेरिका और ब्रिटेन में होने वाली मौतों के आंकड़े पर स्टडी:

ब्रिटेन में कोरोना वायरस को लेकर की गयी एक स्टडी में चौकाने वाली बात सामने आई है। इस स्टडी में आशंका जताई गयी कि कोरोना से उनके देश में करीब 5 लाख जाने जा सकती हैं। वहीं अमेरिका में कोरोना के प्रकोप पर भी उन्होंने स्टडी की और कहा कि संभव है कि अमेरिका में कोरोना की वजह से 22 लाख लोगों की मौत हो जाए।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान-भारत में हुआ ऐसा, तो जाएगी करोड़ों लोगों की जान

अमेरिका में कोरोना से जायेगी 22 लाख लोगों की जान:

बता दें कि यह स्टडी लंदन के इंपीरियल कॉलेज के एक मैथेमेटिकल बॉयोलॉजी के प्रोफेसर नील फरग्यूशन ने की है। स्टडी में कोरोना को लेकर चेताया गया है। प्रोफेसर ने डाटा के आधार पर इटली में कोरोना के संक्रमण से होने वाली मौतों का भी अंदाजा लगाया।

ये भी पढ़ें: कर्मचारियों को मिलेगा 74 हजार बोनस, कोरोना की वजह से लिया गया ये फैसला

कोरोना से निपटने के लिए स्टडी में दी गयी सलाह:

स्टडी में संक्रमण को रोकने के लिए सलाह दी गयी। कहा गया कि सरकार के आदेश पर भले ही लोगों को आइसोलेशन में भेजने के आदेश दिए जा चुके हैं। लेकिन किसी तरह के कोई सामजिक प्रतिबंध नहीं लगाये गये। ऐसे में देश में ढाई लाख लोगों की मौत हो सकती है।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में मचा कोहराम: अस्पताल का हो गया ऐसा हाल, डरे मरीज

कहा गया कि वायरस को रोकने के लिए कड़े सामाजिक प्रतिबंध लगाने होंगे। क्लब, पब और थियेटर को पूरी तरह से बंद किया जाना चाहिए। स्टडी में चेताया गया कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो महामारी के भयावह परिणाम हो सकते हैं।

गौरतलब है कि ब्रिटेन की सरकार कोरोना को लेकर बेहद गंभीर है। वहां के पीएम बोरिस जॉनसन ने सभी तरह के सामजिक गतिविधियों या कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।