ICC चैंपियंस ट्रॉफी: पहली बार बैट में लगी होगी माइक्रोचिप, ड्रोन रखेगा पिच पर नजर

इस बार चैम्पियंस ट्रॉफी में हाई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा। जिसमें बल्लेबाज पहली बार माइक्रोचिप लगे बैट का इस्तेमाल करेंगे।

Published by sujeetkumar Published: June 1, 2017 | 11:32 am
Modified: June 1, 2017 | 11:46 am

लंदन: चैंपियंस ट्रॉफी-2017 में हाई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा। जिसमें बल्लेबाज पहली बार माइक्रोचिप लगे बैट का इस्तेमाल करेंगे। इसके अलावा पिच की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल भी होगा।

दुनिया की शीर्ष आठ क्रिकेट टीमें आज गुरुवार (1 जून) से शुरू हो रही चैंपियंस ट्रॉफी में खिताबी मुकाबले के लिए कमर कस चुकी हैं। एक जून से 18 जून तक चलने वाले टूर्नामेंट में दो सेमीफाइनल और एक फाइनल सहित कुल 16 मैच खेले जाएंगे।

यह भी पढ़ें…ICC Champions Trophy : जंग के लिए तैयार दिग्गज, दे दना दन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बल्ले में लगी माइक्रोचिप के जरिए मैदान पर प्लेयर्स का रिएक्शन टाइम दिखाया जाएगा। हर टीम के तीन प्लेयर्स के बल्लों में इस तरह की कम्प्यूटराइज्ड चिप लगाई जाएगी। अभी तक इस चिप का इस्तेमाल बेसबॉल में किया जाता था।

यह भी पढ़ें…ICC TROPHY: चैंपियन टीम इंडिया पहुंची लंदन, विराट ने कहा- पहले से संतुलित हैं हम

आज है पहला मुकाबला
माइक्रोचिप लगे बल्ले का इस्तेमाल मेजबान इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच होने वाले ओपनिंग मैच से शुरू हो जाएगा। इसमें इंग्लैंड के जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स और बेन स्टोक्स माइक्रोचिप लगे बैट का इस्तेमाल करेंगे।

टीम इंडिया के इन खिलाड़ियों के बैट में दिखेगी माइक्रोचिप
टीम इंडिया के रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और आर. अश्विन के बैट में चिप का इस्तेमाल हो सकता है।

यह भी पढ़ें…ICC चैंपियंस ट्रॉफी: जीतने वाली टीम को मिलेंगे 14 करोड़ रुपए, पुरस्कार राशि में आधा मिलियन डॉलर का इजाफा

जानें क्या है चिप लगाने का मकसद
चिप को लगाने की मकसद ये है कि इसके जरिए बल्लेबाज का डाटा रिकॉर्ड किया होगा। इसमें बल्लेबाज की पिच मूवमेंट, उसके शॉट्स का डाटा रिकॉर्ड होगा।

चिप का सिग्नल खास कैमरे रिकॉर्ड करेंगे। डाटा से पता चलेगा कि बल्लेबाज ने कितनी गेंद ऑफ साइड में खेली, कितनी लेग में खेली और कितनी गेंदों पर तेज प्रहार किया। अभी तक इस चिप का इस्तेमाल बेसबॉल में किया जाता था।

यह भी पढ़ें…ICC RANKING: गेंदबाजी में भारत की छलांग, पहले पायदान पर आ गई अश्विन-जडेजा की जोड़ी

ड्रोन से पिच पर कड़ी निगरानी
इस बार ड्रोन कैमरे से अधिक गहराई से पिच का एनालिसिस किया जा सकेगा। इससे फैंस ये जान सकेंगे कि बॉलर्स में से कौन बेहतरीन लय में बॉलिंग कर रहा है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App