Top

चीनी वैक्सीन ने दिया धोखा, इस देश में लगीं सबसे ज्यादा वैक्सीन, फिर भी कोरोना केस बढ़े

ऐसा एक देश है जहां कोरोना वैक्सीन सबसे ज्यादा लगी फिर भी यहां कोरोना के मामले भारत से भी ज्यादा देखे जा रहे हैं ।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkMonikaPublished By Monika

Published on 9 May 2021 3:00 AM GMT

maximum vaccine in Seychelles
X

सेशेल्स में लगे सबसे ज्यादा वैक्सीन (सांकेतिक) फोटो: सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (coronavirus) की दूसरी लहर को देखते हुए भारत में टीकाकरण अभियान (corona vaccine) में तेजी लाई गई है । जिसके बाद सबसे ज्यादा टीका लगाने वाला देश बना भारत । लेकिन ऐसा एक देश है जहां कोरोना वैक्सीन सबसे ज्यादा लगी फिर भी यहां कोरोना के मामले भारत से भी ज्यादा देखे जा रहे हैं । हम बात कर रहे हैं हिंद महासागर (Indian Ocean) में स्थित द्वीपीय देश सेशेल्स (Seychelles) की । सेशेल्स में किसी अन्य देश के मुकाबले यहा सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाई गई इसके बावजूद मामलों में सुधार देखने को नहीं मिले ।

द्वीपसमूह ने लगभग 100,000 की आबादी को टीका लगाने के लिए एक आक्रामक टीकाकरण अभियान शुरू किया और जल्द ही दुनिया का सबसे ज्यादा टीकाकरण वाला देश बन गया । सेशेल्स ने संयुक्त अरब अमीरात से डोनेशन के तौर पर चीन के साइनोफर्म टीकों का उपयोग करके कोरोनावायरस के खिलाफ अपनी आबादी का टीकाकरण शुरू किया । बाद में, सेशेल्स ने कोविशिल्ड टीके का उपयोग किया, जो कि पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित एस्ट्राज़ेनेका के शॉट का एक संस्करण है ।

सेशेल्स में 60 फीसदी आबादी को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है । वहीं लगभग 70 प्रतिशत को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी गई है । टीकाकरण के बाद भी इस सप्ताह सेशेल्स में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं, जो भारत से भी बदतर हैं, जहां आबादी के 3 प्रतिशत का भी पूरी तरह से टीकाकरण नहीं हुआ है । खबरों की माने तो सेशेल्स में प्रति व्यक्ति प्रतिदिन नए कोविड -19 मामलों के लिए नवीनतम 7-दिन का औसत भारत की तुलना में दोगुने से अधिक है ।

जनवरी में ही वैक्सीनेशन शुरू

कई द्वीपों से मिलकर बने इस देश की आबादी 98 हजार के करीब है । अर्थव्यवस्था के लिए सेशेल्स अधिकतर पर्यटन पर निर्भर है । यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) द्वारा दान में दी गई चीनी वैक्सीनों के जरिए इसने जनवरी में ही वैक्सीनेशन शुरू कर दिया था । इसके अलावा, इसने अन्य वैक्सीनों को खरीदा भी है ।

सेशेल्स में महामारी की शुरुआत के बाद से लगभग 7,000 कोविड -19 मामले सामने आए हैं, लेकिन यह 100,000 से कम आबादी वाले देश के लिए एक बड़ी बात है । इस सप्ताह के शुरू में, सेशेल्स ने संक्रमण को रोकने के लिए दो सप्ताह के लिए स्कूलों को बंद करने और खेल गतिविधियों को रद्द करने सहित नए उपायों की घोषणा की है ।

दुनियाभर में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए बड़ी संख्या में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है, हालांकि इसके बाद भी कई देशों में कोरोना संक्रमण की रफ़्तार में तेजी आई है ।

Monika

Monika

Next Story