Politics

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि वह लोकसभा चुनाव 2019 नहीं लड़ेंगीं। उमा भारती ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए कहा कि वो चुनाव नहीं लड़ने के अपने पूराने वादे को दोहराते हुए कहना चाहती हैं कि अब बीजेपी भी इसकी आधिकारिक घोषणा कर दे।

समाजवादी पार्टी ने एक और प्रत्याशी की घोषणा की है। इलाहाबाद से बीजेपी सांसद श्यामा चरण गुप्ता को समाजवादी पार्टी ने बांदा से अपना उम्मीदवार बनाया।

आखिरकार अमर सिंह की अगस्त 2016 में समाजवादी पार्टी में वापसी भी हो गयी। लेकिन 2017 को विधानसभा चुनाव आते आते मामला बिगड गया।अखिलेश यादव पार्टी के अध्यक्ष हो गए और उन्होंने अमर सिंह को पार्टी से बाहर कर दिया।

डीकेएस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में मशीनों की खरीदारी और भर्ती में भारी अनियमितता की शिकायत के बाद तीन सदस्यीय कमेटी ने मामले की जांच की थी। इसमें डॉ गुप्ता के खिलाफ 50 करोड़ की अनियमितता की बात सामने आई है।

लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट जारी कर दी है। इस लिस्ट में कांग्रेस ने 18 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है। कांग्रेस ने असम से पांच, मेघालय से दो, नगालैंड और सिक्किम से एक-एक, तेलंगाना से आठ और यूपी की एक सीट पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है।

देहरादून के परेड ग्राउंड में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आती है तो एक न्यूनतम आय गारंटी के लिए कानून बनाएगी और निश्चित आय से कम पाने वालों के खातों में सीधे पैसा डाल दिया जाएगा।

कोर्ट ने केजरीवाल सहित आप नेता आतिशी मार्लेना, सांसद सुशील गुप्ता और विधायक मनोज कुमार को भाजपा नेता राजीव बब्बर द्वारा दायर मानहानि मामले में समन जारी करते हुए उन्हें 30 अप्रैल को कोर्ट में पेश होने को कहा है।

देश में राजनेताओं के पुत्रों का जिक्र तो अक्सर होता है लेकिन बहुओं का कभी नहीं जबकि सच्चाई इसके विपरीत है। जिस तरह से राजनीति के क्षेत्र में नेता पुत्रों ने उंचाईयां छूकर राजनीतिक विरासत को आगे बढाने का काम किया है उसी तरह राजनीतिक परिवारों की बहुओं ने भी अपना अलग मुकाम हासिल किया ।

असम में आगामी लोकसभा में कांग्रेस को हराने के लिए भरातीय जनता पार्टी और असम गण परिषद पार्टी मिलकर चुनाव लड़ेंगी। बीजेपी अपने पुराने साथी असम गण परिषद को एक बार फिर साथ लाने में कामयाब रही।

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद अब हर किसी की दिलचस्पी इस बात को जानने में हैं कि केन्द्र में अगली सरकार किसकी बनेगी और कौन देश का पीएम बनेगा। ऐसे में देश की राजनीति और चुनावों के माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले एनसीपी मुखिया शरद पवार ने चुनावों को लेकर महत्वपूर्ण भविष्यवाणी है।