Top

हैवान बने पुलिसकर्मी, दवा कारोबारी को मार किया लहुलुहान

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 April 2017 12:28 PM GMT

हैवान बने पुलिसकर्मी, दवा कारोबारी को मार किया लहुलुहान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा : सत्ता पर काबिज होते ही जहाँ सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी पुलिस को अपने व्यवहार में बदलाव लाने की हिदायत दे दी थी। वहीँ अभीतक पुलिसकर्मियों को देख लगता नहीं, कि उन्होंने अपनी कार्यशैली बदली है। मामला आगरा का है, जहाँ पुलिसकर्मियों ने बिना गलती के एक कारोबारी को मार-मार कर लहुलुहान कर दिया।

ये भी देखें :टूटा महिलाओं के सब्र का बांध, हाथों में झाड़ू-बेलन लेकर शराब की दुकानों का किया विरोध

घटना थाना जगदीशपुरा के बोदला इलाके की है। जहाँ जीवन ज्योति हॉस्पीटल के सामने पीड़ित शैलेन्द्र अग्रवाल की नेशनल मेडिकल के नाम से मेडिकल स्टोर है। घटना शुक्रवार रात की है। शैलेन्द्र ने दुकान पर काम करने वाले लड़के को चाय लेने के लिए पास कि चाय की दुकान पर भेजा। चाय वाले ने उसे चाय देने से मना किया तो उसने शैलेन्द्र को बताया। इसपर शैलेन्द्र और चाय वाले के बीच विवाद हो गया। चाय वाले ने अपने मिलने वाले कोबरा टीम के सिपाहियों को फोन कर दिया।

मौके पर पहुचें चार सिपाहियों ने बिना बात सुने ही शैलेन्द्र को दोषी साबित कर दिया। शैलेन्द्र ने इस बात का विरोध किया, तो पुलिस वालों ने चाय विक्रेता को शैलेन्द्र पर गर्म चाय फेंकने को कहा, जिससे शैलेन्द्र बुरी तरह जल गया। इसपर भी पुलिसवालों का मन नहीं भरा और उन्होंने उसकी बेरहमी पिटाई कर दी, शैलेन्द्र के सिर में गंभीर चोट आई है।

जब आसपास के अन्य व्यापारियों को इस घटना की जानकारी हुई तो उन्होंने शैलेन्द्र को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। पीड़ित का आरोप है कि कोबरा टीम के पुलिसकर्मी चाय बेचने वाले से साठगांठ कर इलाके में नशीले पदार्थों की सप्लाई कराते हैं। पुलिस उच्चाधिकारियों अब मामले की जाँच कर दोषियों को कड़ी सजा देने की बात कह रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story