Breaking News

सिरसागंज सपा विधायक हरीओम यादवः खेती किसानी से आए राजनीति में

विधायक हरीओम यादव
हर जनप्रतिनिधि की प्राथमिकता जनता की सेवा करना होनी चाहिए। इसके लिए विधायक निधि की जरूरत होती है। विधायक निधि से क्षेत्र की जनता के विकास कार्य होते हैं। विपक्ष की सरकार है फिर भी जनहित के कार्य कराते हैं। हमारे क्षेत्र की मुख्य समस्या आवारा जानवरों की है जो किसानों की फसल ओर किसानों को काफी नुकसान पहुचा रहे हैं।

शिकोहाबाद के भाजपा विधायक डॉ. मुकेश वर्माः शल्य चिकित्सक से आए राजनीति में

विधायक डॉ मुकेश वर्मा
दलबदल के सवाल पर वह कहते हैं कि राजनीति गंदी है, कुछ नेता मज़बूरी में दल बदलते है। राजनीतिक दलों में आंतरिक लोकतंत्र होना चाहिए अपनी बात रखने की आजादी होनी चाहिए।

बढ़ापुर भाजपा विधायक कुंवर सुशान्त सिंहः राजनीति में न आते तो वकील होते

विधायक कुंवर सुशान्त सिंह
विधायक कहते हैं कि क्षेत्र की समस्या है तहसील बनवाने की क्योंकि एक तहसील में 300 गांव होते हैं जबकि तहसील धामपुर में 936 गांव हैं। अतः एक नई तहसील का निर्माण कराना। जिमकार्बेट पार्क कालागढ़ टुरिज्म बनाना जिससे वहां पर जो विदेशी चिड़िया आती हैं लोग उनको देख सकें।

चांदपुर से भाजपा विधायक कमलेश सैनीः राजनीति में न आतीं तो समाजसेवा करतीं

विधायक कमलेश सैनी
विधायक के तौर पर क्षेत्र में आईटीआई, जीजीआईसी संस्थाओं का निर्माण कराया एवं बिजली की समस्या निवारण हेतु बिजली घर का निर्माण कराया तथा मेरठ बिजनौर को जोड़ने वाले पुल का भी कार्य कराया और छोटे बड़े अनेक पुल बनवाये।

नगीना से सपा विधायक मनोज पारसः राजनीति में न आते तो आईएएस होते

विधायक मनोज पारस
विधायक ने कहा विधायक निधि का सही इस्तेमाल करे तो मददगार है। निधि नहीं होगी तो हम समस्या हल नहीं कर पायेंगे। विधायक निधि 2.5 करोड़ से बढ़ाकर 8 से 9 करोड़ कर देनी चाहिए जिससे क्षेत्र का ओर विकास कराया जा सके। 

नेताजी से मिलती भारत के मजदूर आँदोलन को ताकत और उर्जा

आर.के. सिन्हा
नेताजी सुभाष चंद्र बोस दस वर्षों तक टाटा स्टील मजदूर संघ के साल 1928 से 1937 तक लगातार अध्यक्ष भी रहे थे। वे मजदूरों के हकों को लेकर बहुत संवेदनशील और सक्रिय थे।

बाइडेन की सभा में तेलुगुभाषी की दमक!

के. विक्रम राव
हमारी प्राचीन संस्कृतवाली यह उ​क्ति वाशिंगटन में प्रयुक्त हुई! पता चला कि आठ हजार किलोमीटर दूर तेलंगाना के करीमनगर में एक किसान कुटुम्ब के डा. चोल्लेटि विनय रेड्डि गत बारह वर्षों से बाइडेन का भाषण लिख रहें हैं। इस बार का तो विशेष तौर पर विनय ने ही तैयार किया था।

राष्‍ट्रीय बालिका दिवस: शिक्षा आत्‍मनिर्भर जीवन के लिए जरूरी

रमेश पोखरियाल ‘निशंक’
बालिकाओं की समानता के उनके सिद्धांत पर चलकर न सिर्फ विद्यालयों में बालिकाओं की अधिक-से-अधिक उपस्थिति दर्ज कराने में मदद मिली है बल्कि इसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की सफलता का श्रेय भी दिया जा सकता है।

भारत के लिये गौरवशाली पल

मृत्युंजय दीक्षित
भारतीय टीम ने आस्ट्रेलिया में बेहद कठिन व विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए यह विजय हासिल की है और एक मुकाम हासिल किया है। आज देश का युवा ही नहीं अपितु पूरा देश भारतीय टीम की जीत पर खुशी मना रहा है।

RERA रियल एस्‍टेट क्षेत्र में एक बड़ा परिवर्तन, 2016 में मोदी सरकार ने किया लागू

रेरा ने अब तक अनियंत्रित एक क्षेत्र में शासन प्रणाली को प्रभावित किया है। विमुद्रीकरण और वस्‍तु और सेवा कर कानूनों के साथ, इसने काफी हद तक रियल एस्‍टेट क्षेत्र से काले धन का सफाया किया है।

वंचितों का जलवा: जिनका खेल कबड्डी या गुल्ली-डण्डा, कंगारू हुए पस्त

मोहम्मद सिराज के पिता का इंतकाल हो गया। भाई इस्माइल ने दफनाया। सिराज आस्ट्रेलिया में भारतीय टीम में सेवारत रहे। नमाजे—जनाजा छूट गया। उधर टी. नटराजन की पुत्री पैदा हुयी। तब वह दुबई में आईपीएल खेल रहे थे। वहीं से सीधे आस्ट्रेलिया जाना पड़ा।