Breaking News

COVID-19

Country Total Cases Deaths
India 151767 4337

चीन को उसी की भाषा में जवाब देगा भारत, ड्रैगन के आगे किसी भी मोर्चे पर नहीं झुकेगा देश

लद्दाख में अपने सैनिकों की तैनाती करके टकराव का माहौल बनाने वाले चीन को भारत हर मोर्चे पर उसी की भाषा में जवाब देगा। भारत ने हर मोर्चे पर चीन को करारा जवाब देने के लिए रणनीति तैयार कर ली है।

प्रवासी मजदूरों की दुविधा

डा. वेद प्रताप वैदिक
इसमें शक नहीं कि करोड़ों मजदूरों के भरण-पोषण को सबसे पहली प्राथमिकता मिलनी चाहिए लेकिन शहरों में चल रहे उद्योग-धंधों को भी किसी तरह चालू किया जाना चाहिए। इसका भी कुछ पता नहीं कि जिन मजदूरों को एक बार शहर की हवा लग गई है, वे गांवों में टिके रहना पसंद करेंगे या नहीं ?

हमारे हनुमान तो इस समय प्रार्थनाओं में ही उपस्थित हैं

इस बीच निहित स्वार्थ वाले लोग सत्ताओं की साँठगाँठ से महँगे सेनिटायज़र और नक़ली वेंटिलेटर बेचते रहेंगे और ड्रग ट्रायल भी चलते रहेंगे।कभी-कभी शक भी होने लगता है कि महामारी की गम्भीरता और उसके इलाज को लेकर जनता को सबकुछ ठीक-ठीक बताया भी जा रहा है या नहीं ?

अब आया है चीन की गर्दन में अंगूठा डालने का वक्त

आरके सिन्हा
भारत को कूटनीति से ही काम लेना पड़ेगा। हम नेपाल को चीन या पाकिस्तान की श्रेणी में रखने की भूल भी नहीं कर सकते। हालांकि कुछ अति उत्साही मित्र कह रहे हैं कि भारत को चाहिए कि वह नेपाल को मजा चखा दे। यह एक गलत सोच है।

दरकार है नये इतिहास-लेखन की

के विक्रमराव
इसीलिए नयी सोच, नए अंदाज तथा ईमानदारी से भारत का राष्ट्रीय संघर्ष पेश हो। बाबरी ढांचे पर न्यायिक फैसले के बाद, यह अब अपरिहार्य हो गया है।

मुसाफिर हूँ यारों

नीरज त्यागी
इन सबके बीच मैंने बस यही अनुभव किया कि भारत मे सरकारे आएंगी और जाएंगी लेकिन इन लोगो का समय ना बदला है और ना ही बदलेगा। बस ये लोग अपने जीवन की अच्छी कल्पना की उम्मीद में जीवन भर चलते ही रहेंगे।

जीवन चलाने के लिए जीवन को ही दांव पर लगा दिया गया

समस्या का हल ढूंढने के लिए उसकी जड़ तक पहुंचना पड़ता है, वो जहाँ से शुरू होती है, उसका हल वहीं कहीं उसके आस पास ही होता है। इसलिए कोरोना नामक प्रश्न जिसकी शुरुआत एक मानव निर्मित वायरस से हुई उसका उत्तर एक मानव निर्मित ह्यूमन फ्रेंडली वायरस ही हो सकता है।