Lifestyle

ज्यादातर लोग ऑफिस में या घर में घंटों काम करने के बाद काफी थके नजर आते हैं। एनर्जी लेवल बिल्कुल न के बराबर बचता है। ऐसे में अगर आप चाहते हैं दिनभर फ्रेश फील करें, शरीर में एनर्जी भरपूर मात्रा में बनी रहे तो फिर गर्म पानी के साथ शहद और नींबू लेना मत भूलिएगा।

चाहे कोई भी फेस्टिवल हो ,क्रिसमस या फिर न्यू ईयर हो। लड़कियां खुद के लिए तैयारिया शुरू कर देती है। अपने ड्रेस से लेकर ब्यूटी तक सबकुछ का ख्याल रखती है।लड़कियां खुद के लिए तैयारियां शुरू कर देती है। अपने ड्रेस से लेकर ब्यूटी तक सबकुछ का ख्याल रखती है।

आसपास की ऊर्जा का हमारे काम और जीवन पर सीधा असर पड़ता है। अगर यह ऊर्जा सकारात्मक है तो हम सकारात्मक और खुश रहेंगे, लेकिन नकारात्मक ऊर्जा हमारे मन-मस्तिष्क पर ऐसा असर डालती है कि हम कुछ ऐसा कर बैठते हैं कि जिसका परिणाम भयावह होता है।

बीयर में सिलिकॉन का स्तर अच्छी मात्रा में होता है  जो हड्डियों को मजबूत रखता है। एक शोध में यह पाया गया कि जो लोग कभी-कभी इसका सेवन करते हैं उनकी नहीं करने वालों की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक मजबूत होती हैं।

लखनऊ: केसर स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसकी खुशबू बहुत तेज होती है। इसे खाने, ब्यूटी प्रोडक्टस के साथ मेडीसीन के लिए भी प्रयोग किया जाता है। हाल के सर्वेक्षण में पता चला है कि केसर से कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी का भी इलाज संभव है। यह भी पढ़ें: औरतों वाली बात: बेड पर मूड बनाने …

आपका इन्वॉल्व्मन्ट सोशल साइड्स पर नहीं रहता या लोगों के साथ हैंगआउट करना पसंद नहीं है तो इसके लिए आपको कुछ सोचने की जरूरत नहीं है। इसका एक पॉजिटिव साइड निकलकर सामने आया है। एक स्‍टडी के अनुसार, बुद्धिमान लोग खुश होते हैं जब वह अकेले होते हैं। ये स्‍टडी वर्ल्‍ड इकनॉमिक फोरम के द्वारा की गई है।

ऐसे में ये कहना बिलकुल गलत नहीं है कि बिना कॉन्डम के सेक्स करना सेफ नहीं होता है। अगर आप सेक्स को बिना किसी टेंशन के एंजॉय करना चाहते हैं और अभी आप बच्चा प्लान नहीं कर रहे हैं तो आपको कॉन्डम के साथ ही सेक्स करना चाहिए।

लखनऊ: माइग्रेन एक गंभीर बीमारी है इसे हल्के में न लें और समय रहते इलाज करवाएं। इसमें बेचैन करने वाला दर्द होता है। इसे कई नामों से जानते है जैसे आधे सिर का दर्द, सुदाअ, शकीका और अधकपारी भी कहते है। कई बार दवाइयों से भी माइग्रेन के दर्द को कम करते है, फिर भी …

लोगों की नजर दूसरे की गर्दन पर भी कई बार जाती है। उनकी गर्दन को देखकर भी उनके व उनके भविष्य के बारे में अंदाजा लगाया जा सकता है। समुद्रशास्त्र की मानें तो गर्दन देखकर यह पता चल सकता है कि दूसरे व्यक्ति के पास भविष्य में पैसा होगा या नहीं? या फिर वह भाग्यशाली है या नहीं।

भारतीय इतिहास में देखें तो सिर ढकने की परंपरा पुरानी है। आज भी लोग पगड़ी, पाग, मुरैठा, टोपी आदि से सिर ढककर रखते हैं। तो वहीं कुछ लोग धूप से बचने और शौक के लिए हैट यानी टोपी लगाते हैं। यह तेज धूप और धूल-मिट्टी से बचने में मदद करता है।