उत्तराखंड

आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज ने कुम्भ मेला क्षेत्र में अस्थायी प्रकृति के कार्यो में भी सुनियोजित रूप से तेजी लाये जाने को कहा। उन्होंने कहा अखाड़ो को शिविरों हेतु आवंटित किए जाने वाले भूखण्डों को समतल करे तथा मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्थाओं पर शीघ्र आवंटित किया जाना चाहिए। जिससे अखाड़े समय रहते इन पर शिविर आदि लगा सकें।

अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह के साथ पहली ईट रखी। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने बताया अन्य सभी अखाड़ों में भी कुम्भ मेला प्रशासन की देख-रेख में पूर्ण गुणवत्ता के साथ स्थायी निर्माण कार्य प्रारम्भ हो गए है। जिन्हे निर्धारित समय सीमा के अन्दर पूर्ण कर लिया जायेगा।

उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक ऐसा मामला सामने आया है जहा एक हेयर ड्रेसर को चुटिया काटना बेहद महंगा पड़ गया। अब चुटिया काटने वाले शख्स पर जेल जाने का खतरा मंडरा रहा है।

सरकार उत्तराखंड पुलिस को खुशखबरी देने वाली है सरकार। उन्हें छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत शासन उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात मिलने वाली है। हाईकोर्ट ने तीन समान किस्तों में एरियर का भुगतान करने का आदेश दिया था।

सामाजिक कल्याण अधिकारी दीपांकर घिडियाल ने बताया कि दूसरी जातियों और दूसरे धर्म में शादी करने वालों को दी जाने वाली राशि राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने में काफी मददगार साबित हो सकती है।

जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी नरेन्द्रानंद सरस्वती तथा परिषद के अध्यक्ष स्वामी विमलदेव आश्रम ने मेला प्रशासन द्वारा कुम्भ मेला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों तथा साधु-संतो के लिए उपलब्ध कराए जाने वाले भूखण्ड व अन्य व्यवस्थाओं के सन्दर्भ में चर्चा की।

बारिश के कारण तापमान में गिरावट होगी और अब ठंड बढ़ेगी। इन 7 राज्‍यों में मुख्‍य रूप से दिल्‍ली, मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान हरियाणा, पंजाब और उत्‍तर प्रदेश के कई शहर शामिल हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने घोषणा की है कि गैरसैण परिक्षेत्र का ग्रीष्मकालीन राजधानी के अनुरूप  विकास के लिए अगले दस वर्षों में 25 हजार करोङ रूपए खर्च किये जाएंगे। यहां के सुनियोजित विकास के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समिति बनाई जाएगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर टिहरी में बहुप्रतीक्षित डोबरा-चांठी पुल का लोकार्पण कर टिहरीवासियों को बड़ी सौगात दी है। पुल का लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह ने कहा कि 2 करोड़ 95 लाख 92 हजार लागत के 725 मी लम्बे इस भारी वाहन झूला पुल की क्षेत्रवासी पिछले 14 वर्षों से इंतजार में थे पुल पर आवाजाही शुरू होने से अब आवागमन सुविधाजनक होने के साथ ही समय की बचत होगी।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि वर्तमान में सेब व अन्य फलों की खेती को आधुनिकतम तकनीक के उपयोग द्वारा लाभप्रद बनाया जाए। आवश्यकता होने पर दूसरी किस्मों से बदला भी जा सकता है।