Astro

माह – चैत्र, तिथि – अष्टमी ,पक्ष – शुक्ल, वार –बुधवार नक्षत्र – आर्द्रा , सूर्योदय – 06:20,सूर्यास्त – 18:40। जानिए कैसा रहेगा  बुधवार का दिन पढ़िये 12 राशियों का फल

एस्ट्रों के अनुसार जीवन में ग्रहों का बहुत महत्व होता है। संपूर्ण ब्रह्मांड उसी पर टिका है। जब ये ग्रह अपनी चाल बदलते हैं तो जीवन में कई परिवर्तन आते हैं। वर्तमान परिस्थिति में जो चल रहा है वह भी ज्योतिषीय भाषा में ग्रहों की देन हैं। इसी तरह गुरु ग्रह मकर राशि में 30 मार्च को प्रवेश कर चुके हैं।

जयपुर:माह –चैत्र, तिथि –सप्तमी ,पक्ष – शुक्ल, वार – मंगलवार, नक्षत्र –मृगशिरा , सूर्योदय – 06:20, सूर्यास्त – 18:40, । जानिए कैसा रहेगा मंगलवार का दिन 12 राशियों के लिए...

नवरात्रि में भी जिस ग्रह की शांति के लिये पूजा की जा रही है। उसके बीज मंत्रों का जाप कर संबंधित ग्रह के कवच एवं अष्टोत्तरशतनाम का पाठ भी करें। नवरात्रि के पश्चात दशमी के दिन यंत्र की पूजा कर इसे पूजा स्थल में स्थापित करना चाहिये व नियमित रूप से इसकी पूजा करनी चाहिये। ग्रहों की शांति के लिए  यह विशेष पूजा किसी विद्वान ज्योतिषाचार्य से ही करवानी चाहिए।

जयपुर माह- चैत्र, दिन-सोमवार, तिथि- षष्ठी, नक्षत्र -रोहिणी, सूर्योदय-06.18, सूर्यास्त-18.40। जानिए 12 राशियों के लिए सोमवार का दिन कैसा रहेगा।

कोविड-19 अभी सारी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। दुनियाभर में लोग चिंतित व परेशान हैं, आज की स्थिति इतनी भयावह है कि  किसी को नहीं पता क्या करना है। ऐसी स्थिति में अपने आप से यह पूछना आवश्यक हो जाता है कि

माह-चैत्र, तिथि-पंचमी, पक्ष-शुक्ल, दिन-रविवार नक्षत्र-कृत्तिका, -सूर्योदय-06.20, सूर्यास्त-18.42। जानिए 12 राशियों के लिए कैसा रहेगा रविवार का दिन

माह- चैत्र तिथि-चतुर्दशी, पक्ष-शुक्ल, दिन शनिवार, नक्षत्र-भरणी, -सूर्योदय- 06.20, सूर्यास्त-18.42। जानिए कैसा रहेगा 12 राशियों के लिए शनिवार का दिन...

हर तरफ कोरोना का आंतक हैं। इस तरह इससे बचने के लिए लोग तरह तरह के उपाय कर रहें है। घरों को सैनेटाइज कर रहे हैं। घरेलू व धार्मिक किसी भी नुस्खें को करने से बाज नहीं  आ रहे हैं। जब इतने सारे उपाय कर रहे हैं तो क्यों ना घर में रखें गंगाजल से भी हर रोज घर को पवित्र करें।

आज चैत्र शुक्ल तृतीया का पावन पर्व हैं जिसे गौरी तीज या गणगौर के रूप में जाना जाता हैं। ‘गण’ का अर्थ है शिव और ‘गौर’ का अर्थ पार्वती है। इस दिन को सौभाग्य तीज के नाम से भी जाना जाता है। आज के दिन सुहागन महिलाएं अपने सुहाग के प्यार के लिए और अविवाहित लड़कियां अच्छे वर के लिए यह व्रत रखती हैं।